कर्नाटक में बहुमत परीक्षण कल: इसके पहले ही पांच राज्यों में विपक्ष ने मांगी सरकार बनाने की इजाजत

कर्नाटक में चल रही सियासी जद्दोजहद का प्रभाव अब दूसरे राज्यों तक पहुंचने लगा है।

DainikBhaskar.com| Last Modified - May 18, 2018, 04:22 PM IST

नई दिल्ली. कर्नाटक में चल रही सियासी जद्दोजहद का प्रभाव अब दूसरे राज्यों तक पहुंचने लगा है। कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी के नाते बीजेपी की सरकार बनने के बाद अब पांच राज्यों में भी यही मांग उठ रही है कि वहां भी सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का मौका मिले। खास बात ये है कि इसी मांग के समर्थन में गोवा में कांग्रेस ने सरकार बनाने का दावा किया है तो बिहार में बात एक कदम आगे चली गई। यहां लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल सबसे बड़ी पार्टी है। लालू के बेटे और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव राज्यपाल से मिलने गए और कहा कि उन्हें सरकार बनाने का मौका दिया जाए। 

किन राज्यों में विपक्ष ने मांगा सरकार बनाने का मौका
- गोवा, बिहार, मेघालय, मणिपुर और नगालैंड। 

कहां-क्या हुआ?
1) गोवा: सबसे पहले सरकार बनाने की मांग यहीं उठी। गोवा कांग्रेस के नेता यतीश नाइक ने गुरुवार को ही साफ कर दिया था कि वो कर्नाटक की तर्ज पर सरकार बनाने का मौका दिए जाने की मांग करेंगे। यतीश ने गुरुवार को कहा था- 2017 में कांग्रेस 17 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। राज्यपाल ने 13 सीटों वाली भाजपा को सरकार बनाने के लिए बुला लिया था। अब कर्नाटक में राज्यपाल ने सबसे बड़ी पार्टी (भाजपा) को सरकार बनाने का न्योता दिया। इसीलिए मांग करते हैं कि राज्यपाल हमें सरकार बनाने के लिए बुलाएं। इसके बाद शुक्रवार को कांग्रेस के गोवा प्रभारी चेल्ला कुमार 13 विधायकों को लेकर राजभवन पहुंचे।  

2) बिहार: आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव विधायकों के साथ राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मिले। तेजस्वी का साथ आरजेडी, कांग्रेस और सीपीआई के भी विधायक थे। तेजस्वी ने राज्यपाल से कहा कि हमारे पास 80 विधायक हैं और हम सबसे बड़ी पार्टी हैं। लिहाजा, हमें सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए। बाद में मीडिया से बातचीत में तेजस्वी ने कहा- अगर राज्यपाल हमें मौका देते हैं तो हम बहुत आसानी से विधानसभा में बहुमत साबित कर देंगे। तेजस्वी के मुताबिक, उनके पास कुल 111 विधायक हैं और नीतीश की पार्टी के कुछ नाराज विधायक भी साथ देंगे।  

3) मणिपुर: कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम इबोबी सिंह भी राज्यपाल जगदीश मुखी से मिलने गए। सिंह ने उम्मीद जताई कि उनके साथ इंसाफ होगा। 

4-5) मेघालय और नगालैंड: दोनों राज्यों के पूर्व मुख्यमंत्री शुक्रवार को राज्यपाल से मिले। मेघालय में कांग्रेस और नगालैंड में एनपीएफ सबसे बड़ी पार्टी है। दोनों राज्यों में एनडीए गठबंधन की सरकार है।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now