पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • 10 Days After The Wedding Varun Dhawan Will Go To Arunachal Pradesh For The Shooting Of The Film, Ayushmann Khurrana Is Shooting For The First Time In Guwahati

अपकमिंग प्रोजेक्ट:वरुण धवन शादी के 10 दिन बाद ही फिल्म की शूटिंग के लिए अरुणाचल प्रदेश होंगे रवाना, आयुष्‍मान गुवाहाटी में पहली बार कर रहे हैं शूट

मुंबई8 महीने पहलेलेखक: अमित कर्ण

हिमाचल और उत्‍तराखंड की वादियों के बाद बॉलीवुड ने अब नॉर्थ ईस्‍ट का रुख किया है। वहां कोरोना केस भी काफी कम है और दिलकश लोकेशन भी बहुत हैं। यही वजह है, जो शनिवार को आयुष्‍मान खुराना ने अरुणाचल प्रदेश का रुख किया है। शादी के 10 दिन बाद वरुण धवन भी फिल्म की शूटिंग के लिए अरुणाचल प्रदेश पहुंचेंगे। वरुण 24 जनवरी को नताशा दलाल के साथ शादी के बंधन में बंध जाएंगे।

आयुष्‍मान खुराना अरुणाचल अनुभव सिन्‍हा की फिल्‍म शूट करने के लिए गए हैं। इस फिल्म में वे एक स्‍पाई के रोल में हैं। वहीं वरुण अमर कौशिक की अपकमिंग फिल्‍म की शूटिंग के लिए वहां जाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, यहां आयुष्मान की शूटिंग लंबी चलने वाली है। आयुष्मान फिल्म की स्क्रिप्ट को लेकर रोमांचित हैं और यह निश्चित रूप से उनकी सबसे बड़ी फिल्मों में से एक है। निर्देशक और अभिनेता ने इससे पहले ‘आर्टिकल 15’ साथ में की थी।

बजट के आधार पर कभी फिल्म नहीं चुनता
सूत्रों का कहना है कि अनुभव इस फिल्म को बड़े पैमाने पर शूट करने के लिए उत्तर पूर्व गए हैं। वहां वे इस फिल्म को एक बड़ी थियेट्रिकल एक्सपीरियंस बनाना चाहते हैं। आयुष्मान और वे सेम फेज पर हैं, क्योंकि वे दर्शकों को सिनेमाघरों में आने के लिए एक अच्छी फिल्म बनाना चाहते हैं। शूट पर जाने से पहले आयुष्‍मान ने कहा था, "मैंने किसी फिल्म को उसके बजट, पैमाने के आधार पर कभी नहीं चुना। मेरी नजर में किसी फिल्म को बड़ा मानने के केवल यही अहम फैक्टर नहीं हैं। मैंने सिर्फ कंटेंट के अनोखेपन और उसके बड़ेपन के आधार पर फिल्में चुनी हैं। मेरे खयाल से कोई भी बड़ी फिल्म राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा छेड़ती है और लोगों से जुड़े मुद्दों पर बहस करने के लिए सबको खींच लाती है।"

आयुष्‍मान ने कहा था, "अपनी फिल्मों के माध्यम से मैं सबके साथ उन विषयों पर बातचीत करना चाहूंगा, जो वर्जित हैं, समाज में टैबू समझे जाते हैं। बेहद अहम होने के बावजूद लोग इन विषयों के बारे में बात करते हुए या इनका हल निकालने में असहज हो जाते हैं। ये विषय मुख्यधारा से थोड़ा हटकर होते हैं। ईमानदारी से कहूं तो ऐसे विषयों के साथ मैं खुद को ज्यादा जुड़ा पाता हूं। क्योंकि वे विचित्र, अनोखे और मल्‍टी लेयर वाले होते हैं। ऑडियंस के सामने एक नई चीज पेश करते हैं।"

खबरें और भी हैं...