• Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Abhishek Bachchan and Kareena Kapoor remembers debut film ‘Refugee’ on mark 20 years in Bollywood : Kareena shares first shot from film and says, Best decision I could've ever taken'

'रिफ्यूजी' के 20 साल पूरे / करीना और अभिषेक ने सोशल मीडिया पर डेब्यू फिल्म को याद किया, एक्ट्रेस बोलीं- सुबह चार बजे उठकर खुद से एक बात कही

अभिषेक बच्चन और करीना कपूर खान स्टारर फिल्म 'रिफ्यूजी' 30 जून 2000 को रिलीज हुई थी। जेपी दत्ता के निर्देशन में बनी इस फिल्म में रिफ्यूजी लोगों के दर्द को बताने की कोशिश की गई थी।
X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 01:30 PM IST

जेपी दत्ता के निर्देशन में बनी फिल्म 'रिफ्यूजी' को रिलीज हुए मंगलवार (30 जून) को 20 साल पूरे हो गए। ये अभिषेक बच्चन और करीना कपूर की डेब्यू फिल्म भी थी और इन दोनों ने भी बॉलीवुड में 20 साल पूरे कर लिए। इस मौके पर दोनों स्टार्स ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखते हुए अपनी भावनाएं फैंस को बताईं। करीना के मुताबिक फिल्मों में आने का उनका फैसला उनके जीवन का सबसे अच्छा फैसला रहा।

करीना कपूर ने अपनी पहली फिल्म को याद करते हुए अपनी पोस्ट में लिखा, 'मेरा पहला शॉट सुबह 4 बजे था.... आज सुबह भी मैं 4 बजे उठी, फिर आईना देखा और अपने आप से कहा कि ये मेरा अब तक का लिया सबसे अच्छा फैसला रहा। कड़ी मेहनत, समर्पण और आत्मविश्वास के 20 साल... आप सभी से मिले प्यार, समर्थन और शक्ति के लिए मैं अपने सभी प्रशंसकों की बेहद आभारी हूं।'

'फिल्मों में मुझे जीवन देने के लिए जेपी दत्ता का... सबसे प्यारे सह-कलाकार होने के लिए अभिषेक बच्चन का... और इस फिल्म से जुड़े हर व्यक्ति का धन्यवाद। दोबारा उसी समय में जाना चाहती हूं... #20YearsAndNotGivingUp' अपनी पोस्ट के साथ करीना ने फिल्म में अपने पहले शॉट का फोटो भी शेयर किया।

अभिषेक बच्चन बोले- वक्त का पता नहीं चलता जब आप खुश रहते हैं

रिफ्यूजी को याद करते हुए अभिषेक ने लिखा, 'वक्त का पता भी नहीं चलता जब आप मौज में होते हैं... #रोडटू20। आज से 20 साल पहले जेपी दत्ता की 'रिफ्यूजी' रिलीज हुई थी। फिल्मों की दुनिया में सही मायनों में अपना और करीना कपूर खान का परिचय अंकित कर रहा हूं।

'एक न्यूकमर को कुछ और नहीं चाहिए'

अभिषेक ने लिखा, 'आपकी पहली फिल्म आपको हमेशा सबसे प्रिय और विशेष होती है। रिफ्यूजी भी अलग नहीं थी। एक अद्भुत अनुभव। एक न्यूकमर कुछ और नहीं मांगता। जेपी साहब सबसे बेहतरीन शिक्षक थे। वे मेरे लिए देखभाल, पोषण और मार्गदर्शन करने वाली शक्ति रहे हैं। कास्ट और क्रू की पूरी टीम काफी धैर्यवान, सहायक और उत्साहवर्धक थी। उन सभी के लिए मेरा प्यार और सम्मान असीम है। धन्यवाद।'

'20 साल तक बचे रहना अकल्पनीय सा है'

आगे उन्होंने बताया, 'पीछे मुड़कर देखना और बीते 20 सालों को दोबारा गिनने में सक्षम होना किसी आशीर्वाद से कम नहीं है। कोई भी अभिनेता आपको बता देगा, कि फिल्म बनाने का मौका मिलना एक बहुत बड़ा सम्मान है। 20 साल तक बचे रहना अकल्पनीय सा लगता है। सबसे अच्छा हिस्सा ये है कि मुझे अब भी लगता है जैसे मैं शुरू ही कर रहा हूं। मेरे पास साबित करने के लिए अभी काफी कुछ है। साथ ही बहुत कुछ करना भी बाकी है, जिसके लिए मैं इंतजार नहीं कर सकता... हालांकि यह मेरे परिवार के बिना संभव नहीं था।'

'परिवार पीछे देखेगा तो मुझ पर गर्व करेगा'

परिवार को लेकर अभिषेक ने लिखा, 'वे मेरी प्रेरणा, मेरी ताकत, मेरे मौन समर्थक और मेरे अस्तित्व का कारण हैं। उन्होंने बिना किसी दबाव और किसी उम्मीद के बोझ के बिना मुझे इतनी आजादी दी कि मैं उस चीज का पता लगाऊं, जिस चीज को मुझे करने की जरूरत है। जब उन्हें मेरी कोई परफॉर्मेंस पसंद नहीं आई तो उन्होंने मुझे बताया और जब पसंद आई तो मुझ पर प्यार भी बरसाया। मैं उनकी वजह से हूं और मुझे उम्मीद है, किसी दिन जब वे मुड़कर देखेंगे और यादें ताजा करेंगे तो मुझ पर गर्व करेंगे।'

'मुझे अभी बहुत दूर तक जाना है...'

'लेकिन, अब यह अंत की तरह लग रहा है... इसके आसपास कहीं नहीं। जैसा कि मैंने कहा, 'मैं अभी शुरू ही कर रहा हूं। और सोने से पहले मुझे बहुत दूर तक जाना है। जैसे कि महान सिनात्रा ने कहा था, रिकॉर्ड से पता चलता है, मैंने कितने वार और झटके सहे हैं, लेकिन फिर भी मैं रुका नहीं और अपनी तरह से करता रहा।'

View this post on Instagram

Time flies when you’re having fun! #RoadTo20 Today, 20 years ago JP Dutta’s Refugee released. Marking the introduction of yours truly and @kareenakapoorkhan into the world of films. Your first film is always most dear and special; Refugee was no different. An amazing experience! A newcomer could not have asked for anything else. JP sahab was the best teacher. Caring, nurturing and has since been an amazing guiding force for me. The entire cast and crew were so patient,supportive and encouraging. My love and respect for all of them is boundless. Thank you! It is a blessing and a privilege to be able to look back and recount the last 20 years. Any actor will tell you, getting to make a film is a huge honour. Surviving 20 yrs seems unimaginable. The best part is, I feel like I’m just getting started. I have so much more to prove. So much more to do and I can’t wait.... However, none of this would have been possible without my family! They have been my inspiration, my strength, my silent support and my “raison d”être”. They allowed me the freedom to figure out whatever I needed to without ever pressurising me, burdening me with expectation. They let me know when they didn’t like a performance and showered me with love when they did. I am because of them and I hope, some day whey they look back and reminisce they feel proud of me. But, now this is sounding like the end.... nowhere near it. Like I said, I’m just getting started. And “miles to go before I sleep”. Like the great Sinatra said- “ The record shows, I took the blows And did it my way!” #TakeTwo . . . Pic courtesy: @fifipewz

A post shared by Abhishek Bachchan (@bachchan) on Jun 29, 2020 at 10:03pm PDT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना