अजय देवगन की नई फिल्म का एलान:सुपरस्टार ने 'गोबर' के लिए सिद्धार्थ रॉय कपूर से हाथ मिलाया, 90 के दशक में सेट है इस कॉमेडी ड्रामा की कहानी

6 महीने पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक
अजय देवगन के बैनर तले बनने जा रही इस फिल्‍म को साल के अंत में रिलीज करना तय किया गया है। - Dainik Bhaskar
अजय देवगन के बैनर तले बनने जा रही इस फिल्‍म को साल के अंत में रिलीज करना तय किया गया है।

कोरोना कर्फ्यू के चलते फिल्‍मों की शूटिंगें भले अटकी हुई है। लेकिन नई फिल्‍मों की अनाउंसमेंट में कोई रुकावट नहीं आई है। सिद्धार्थ रॉय कपूर और अजय देवगन ने मिलकर 'गोबर' नाम से अपकमिंग फिल्म की घोषणा की है। यह कॉमेडी ड्रामा जॉनर की फिल्‍म है। इसे सालों से ऐड फिल्‍मों के निर्माण में सक्रिय रहे सबल शेखावत डायरेक्‍ट करेंगे। सबल ने इसे सम्भित मिश्रा के साथ मिलकर लिखा है।

90 के दशक में सेट है फिल्म की कहानी

सबल के करीबी बताते हैं, 'फिल्म की कहानी 90 के दशक में सेट है। यह एक सटायरिकल जॉनर की फिल्‍म है। हिंदी हार्टलैंड के एक वेटरनरी डॉक्टर को लावारिस जानवरों से काफी मोहब्‍बत है। जानवरों के लिए वह कुछ करना चाहता है। लेकिन उसकी राह में लोकल हॉस्पिटल एडमिनिस्‍ट्रेशन में कार्यरत भ्रष्‍ट अधिकारी रोड़ा अटकाते हैं। ऐसे में क्‍या वह डॉक्‍टर जानवरों को उनका हक दिलवा पाता है, फिल्‍म उसकी इसी जर्नी के बारे में है।'

सच्ची घटनाओं के इर्द-गिर्द बुनी गई कहानी

निर्देशक-लेखक सबल शेखावत कहते हैं, 'गोबर' एक ऐसी फिल्म है, जो दर्शकों को 90 के दशक के आकर्षक दिनों और छोटे शहर में रहनेवाले लोगों के सरल जीवन की ओर ले जाएगी। मैंने यह कहानी सच्ची घटनाओं को ध्यान में रखते हुए लिखी है। मैं अजय और सिद्धार्थ जैसे दो सम्मानित निर्माताओं का आभारी हूं और खुश हूं कि उन्होंने मेरे नजरिए पर विश्वास दिखाया और कहानी को पेश करने के लिए एक सराहनीय कैनवास दिया। दोनों ही प्रोडक्शन हाउस ने बहुत बेहतरीन सिनेमा दिए हैं और मुझे उम्मीद है कि मेरा निर्देशन भी उतना ही बेहतरीन होगा। बतौर निर्देशक मैं बेहद उत्साहित हूं।"

मजेदार है 'गोबर' की कहानी: अजय देवगन

निर्माता अजय देवगन कहते हैं,' गोबर की कहानी बहुत ही अनोखी, अद्भुत, मजेदार और मनोरंजक है। मुझे पूरा विश्वास है कि यह फिल्म दर्शकों को सिनेमाघरों की ओर आकर्षित करेगी। हमें पूरा भरोसा है कि हम जैसा चाहते हैं, यह फिल्म वैसा ही प्रभाव डालेगी। हम चाहते हैं कि दर्शक हंसें, आराम करें, थोड़ा सोचें और साथ-साथ आनंद भी लें।"

'आम आदमी की असाधारण वीरता की कहानी'

निर्माता सिद्धार्थ रॉय कपूर के मुताबिक ,"यह एक आम आदमी की असाधारण वीरता की कहानी है। वह हंसी-ठहाकों के साथ भ्रष्टाचार का सामना करता है और यह संदेश पहुंचता है कि आम आदमी बहुत शक्तिशाली होता है। यह सिचुएशनल कॉमेडी फिल्म है और भ्रष्टाचार के अंदर की दुनिया का खुलासा करती है। मैं अजय देवगन के इस तरह के क्लासिक चुनावों का तहेदिल से सम्मान करता हूं। मैं अजय और उनकी प्रोडक्शन टीम के साथ काम करने के लिए बेहद उत्सुक हूं। क्योंकि वे इस फिल्म में जान डाल देंगे।"

एक साथ कई प्रोजेक्ट्स में व्यस्त हैं अजय

ट्रेड एनालिस्ट्स ने बताया कि अजय देवगन एक साथ कई प्रोजेक्‍टों में बिजी हैं। 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' का पोस्‍ट प्रोडक्‍शन चल रहा है। 'मे डे' की शूटिंग के लिए वे कतर और दोहा के विकल्पों को देख रहे हैं। 'थैंकगॉड' की शूटिंग जरूर रूकी हुई है। क्योंकि इसके एक प्रोड्यूसर दीपक मुकुट को कोरोना हो गया है। 'मैदान' को लेकर भी जूम कॉल्‍स पर मीटिंगों का दौर चल रहा है कि मौजूदा सिचुएशन में क्‍या कुछ कर सकते हैं? कहां शूटिंग की जाए, ताकि फिल्‍म दशहरे से पहले पूरी हो सके।

खबरें और भी हैं...