भास्कर इंटरव्यू:'पुष्पा-द राइज' की सफलता से खुश अल्लू अर्जुन ने बताया-2 महीने बाद शुरू करेंगे पार्ट-2 की शूटिंग

मुंबई11 दिन पहलेलेखक: उमेश कुमार उपाध्याय
  • कॉपी लिंक

साउथ के सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की फिल्म 'पुष्पा- द राइज' रिलीज के बाद से अब तक बॉक्स ऑफिस पर दमदार प्रदर्शन कर रही है। फिल्म को दर्शकों से काफी अच्छा रिस्पांस मिला है। अब हाल ही में अल्लू अर्जुन ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत में 'पुष्पा' की सफलता और फिल्म से जुड़ी कई बातें शेयर की हैं। पेश है अल्लू अर्जुन से बातचीत के प्रमुख अंश -

'पुष्पा- द रूल' की शूटिंग कब से शुरू करेंगे?
'पुष्पा-2' की शूटिंग दो महीने में शुरू करेंगे। अभी थोड़ा रेस्ट लेना चाहता हूं। 'पुष्पा-1' से 'पुष्पा-2' के बीच 30-40 दिनों का ब्रेक ले रहा हूं। 30-40 दिन कहीं जाकर बिताना चाहता हूं।

'पार्ट-1' से 'पार्ट-2' में दर्शक ज्यादा की उम्मीद रखते हैं, वह ज्यादा क्या होगा?
हमें 'पुष्पा-1' से ज्यादा कुछ 'पुष्पा-2' में करना है, क्योंकि हमें इतना बड़ा मौका मिला है। इसलिए हमें जरूर अच्छा प्रोडक्ट बनाना है, इसके लिए हम और ज्यादा कोशिश कर रहे हैं। इस बार काफी कुछ रहेगा। पार्ट-2 में बहुत सारे चैलेंजेस हैं, बहुत मजा आएगा।

'पुष्पा' ब्लॉकबस्टर साबित हुई है, पर पहला पॉजिटिव फीडबैक किसका रहा?
मेरे म्यूजिक डायरेक्टर देवी श्री प्रसाद का, क्योंकि वे म्यूजिक कर रहे थे, तो हमारे पहले ऑडियंस भी वही थे। उन्हें यह फिल्म बहुत आई है। उसके बाद हमारे एडिटर का फीडबैक मिला। वे एडिट करते हुए परफॉर्मेंस देख रहे थे, तो उनको भी फिल्म बहुत पसंद आई। इन दोनों से सबसे पहले और सबसे अच्छा और पॉजिटिव फीडबैक मिला था।

बॉलीवुड में किस निर्माता-निर्देशक के साथ काम करना चाहते हैं?
जो भी अच्छी स्क्रिप्ट लेकर आए, उसके साथ काम करना चाहूंगा। बॉलीवुड में बहुत सारे अच्छे फिल्ममेकर्स हैं। अच्छा प्रोजेक्ट करना चाहता हूं, उसके लिए ओपन हूं। मुझे कुछ फिक्स नहीं करना है। मैं तो बस एक्सप्लोर करना चाहता हूं। लेकिन, अब तक किसी ने ऐसा कुछ अप्रोच नहीं किया है।

अपने कहा था, दो साल में बॉलीवुड में कुछ जरूर करेंगे?
एक-दो इनफॉर्मल मीटिंग हुई हैं, पर ऐसी कोई बात तय नहीं हुई। कभी फिल्ममेकर पार्टी वगैरह में मिलते हैं, तब हाय-हेलो के बाद बोलते हैं कि हम साथ में जरूर कुछ अच्छा करेंगे। कुछ होगा, तब बताएंगे। कुछ होगा, तब जरूर बताना, ऐसा मैं भी बोलता हूं। अभी तक यही सब बातें हुई हैं, पर कुछ फाइनल नहीं हो पाया है।

बॉलीवुड में किस हीरो-हीरोइन के साथ स्क्रीन शेयर करना चाहेंगे?
किसी के साथ भी, जो उन्हें कैरेक्टर पसंद आए और मुझे भी पसंद आए, वह काम करना चाहूंगा। मैं स्क्रिप्ट को बहुत महत्वपूर्ण समझता हूं। स्क्रिप्ट जिसे डिमांड करती है, मैं उस एक्टर के साथ काम करना चाहूंगा। ऐसा मेरा पर्सनल फेवरेट कोई नहीं है। रिक्वायरमेंट मेरा फेवरेट है। रिक्वायरमेंट के अनुसार वह एक्टर मिल जाता है, तब मुझे बहुत मजा आ जाता है। मुझे इस फिल्म में आईपीएस शेखावत के लिए एक अच्छा परफॉर्मेंस चाहिए था, जिसे फहाद फासिल ने किया है। वे बहुत अच्छे आर्टिस्ट हैं। मलयाली एक्टर हैं। मैंने सोचा कि फहाद जी ने किया तो बहुत अच्छा लगेगा। फहाद को यह कैरेक्टर सुनाया गया, तब उन्होंने प्ले किया। मुझे बहुत खुशी हुई कि फहाद ने यह कैरेक्टर निभाया। जब स्क्रिप्ट सुनता हूं, तब वह फीलिंग आती है कि यह कैरेक्टर फलां एक्टर को करना चाहिए।

साउथ के स्टार्स जैसी फैन फॉलोइंग अन्य इंडस्ट्री में देखने को नहीं मिलती, क्या कहेंगे?
यहां लोगों का प्यार ही ऐसा है। बहुत लकी हूं कि फैंस का इतना प्यार मिलता है। वे इतना प्यार करते और इतनी इज्जत देते हैं। हम भी अपने फैंस को बहुत प्यार करते हैं और रिस्पांसिबल फील करते हैं। मेरी भी जिम्मेदारी बनती है कि अगर कुछ गलत करूंगा, तब उसका असर पड़ेगा। इसलिए थोड़ा सोशल को लेकर अवेयर रहता हूं। यह एक गिव एंड टेक की तरह है।

फिल्म में एक डायलॉग है कि पुष्पा झुकेगा नहीं, क्या इस तरह रियल लाइफ में कोई फिलॉसफी है?
हां, जरूर है। मैं झुकेगा नहीं। मैं पीछे नहीं जाऊंगा। मुझे आगे जाना है।

पुष्पराज कहता है-यह ब्रांड अपने दम पर बनाया है, आप यहां तक पहुंचने का श्रेय कितने लोगों को देंगे और खुद कितना लेंगे?
यह सब ऑडियंस का प्यार है, इसमें मेरा कुछ नहीं है। मेरे यहां तक पहुंचने का श्रेय ऑडियंस को ही जाता है।

हिंदी सिनेमा में किस फिल्ममेकर पर भरोसा करते हैं, जो आपके टैलेंट को बखूबी पर्दे पर दिखा पाएंगे?
हम बेसिकली साउथ इंडियन हैं और कमर्शियल फिल्में करते हैं। अगर कमर्शियल फिल्म के जॉनर के बारे में बोलेंगे, तब बॉलीवुड में बेस्ट कमर्शियल फिल्म डायरेक्टर रोहित शेट्‌टी हैं। वे अच्छे कमर्शियल फिल्म करते हैं।

आपको इस ऊंचाई पर सब देख ही रहे हैं, पर करियर का कोई इमोशनल पल क्या रहा है?
अभी यह फिल्म ही इमोशनल पार्ट है। हमने पांच भाषा में फिल्म को रिलीज किया है। मैंने सोचा नहीं था कि इतनी भाषा में सब लोग देखेंगे। इतना ही सोचा था कि एक-दो भाषा में ठीक-ठाक हो सकता है। लेकिन, तेलुगू से लेकर तमिल, मलयालम, कन्नड़ और अभी हिंदी के बेल्ट में लोग देख रहे हैं। मैंने इतना बड़ा रिस्पांस कभी एक्सपेक्ट नहीं किया था। फिल्म रिलीज के समय सोचा था कि चलो पांच भाषा में रिलीज करके एक बार देख लेते हैं कि कैसा रिस्पांस आएगा, कितना रिसीव करेंगे। लेकिन, इतना बड़ा रिस्पांस आ गया कि दिल खुश हो गया। मैं बहुत लकी हूं कि मुझ पर कभी बड़ी प्रॉब्लम नहीं आई।

आप कैरेक्टर से बिल्कुल अलग हैं, इस लुक में आने के लिए कितना वक्त लगता था?
चार लुक टेस्ट दिए थे। उसमें से एक फाइनल किया गया। इन चार लुक टेस्ट को देने के लिए कंप्लीट दो महीने लगे, क्योंकि एक के बाद एक दूसरा लुक टेस्ट करके देख रहे थे।

खबरें और भी हैं...