पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

थिएटर खुलने से पहले बिगड़ी बात:पीएम मोदी की बायोपिक को रि-रिलीज करने पर प्रोड्यूसर को मिली जान से मारने की धमकी, अमित बाधवानी ने दर्ज कराई एफआईआर

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फिल्म के को-प्रोड्यूसर अमित बी वाधवानी ने खुलासा किया है कि पीएम मोदी की बायोपिक को दोबारा रिलीज किए जाने की खबर के बाद उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है। कोरोना महामारी के कारण 7 महीने तक सिनेमाघरों पर ताला लगा था। लेकिन 15 अक्टूबर से एक बार फिर थियेटर खुल रहे हैं। जिसके बाद ये अनाउंसमेंट किया गया था कि विवेक ओबेरॉय स्टारर पीएम मोदी की बायोपिक फिर से रिलीज होगी।

अमित ने बताया कि मौत की धमकी मिलने के लिए उन्होंने साइबर सेल में एफआईआर दर्ज कराई है। एक इंटरव्यू में इसके बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “मैं चिंतित हूं। नफरत फैलाने वाले कंटेंट या संवेदनशील कंटेंट के विपरीत जिस पोस्ट पर धमकियां मिली थीं, वह महज एक फिल्म की घोषणा थी और वह भी पीएम की बायोपिक। मैं इस रिएक्शन से शॉक्ड हूं। यह कहने में कुछ भी अपमानजनक नहीं था कि मेरी फिल्म फिर से रिलीज हो रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे जैसे कानून का पालन करने वाले लोगों को निशाना बनाया जाता है। ये साबित करता है कि साइबर बुलिंग अब आम हो गई है खासतौर पर बॉलीवुड में जो विवादों के घेरे में रहा है।"

फिल्म निर्माताओं को अपना कंटेंट रिलीज करने के लिए आने वाली समस्याओं के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा, “फिल्म मेकर्स हमेशा एजेंडों का शिकार होते हैं। यह देखते हुए कि बहुत सारा पैसा दांव पर है, बॉलीवुड एक सॉफ्ट टारगेट है। इंडस्ट्री को एक कलात्मक लेंस के बजाय राजनीतिक लेंस से देखा जा रहा है। हालिया विवादों के कारण परेशानी बढ़ गई हैं, जिससे जनता की राय बदल गई है। फिल्म थिएटर बंद हैं, बॉलीवुड लॉकडाउन के कारण गंभीर रूप से प्रभावित है।"

विवेक ने निभाया था पीएम का रोल
पीएम मोदी की बायोपिक में एक्टर विवेक ओबेरॉय ने उनका रोल किया है। ओमंग कुमार इसके डायरेक्टर हैं और यह 2019 में रिलीज हुई थी। इसमें नरेंद्र मो

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें