• Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Big B Birthday Special; Amitabh Bachchan Lived In Mahmood's Three storey Paradise In Struggling Days, Today Owner Of Luxurious Bungalows In Juhu Areas Of Mumbai

बिग बी बर्थडे स्पेशल:स्ट्रगलिंग डेज में महमूद के तीन मंजिला पैराडाइज बंगले में रहते थे अमिताभ, आज मुंबई के जुहू इलाके में आलीशन बंगलों के मालिक

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: राजेश गाबा

अमिताभ बच्चन एक्टिंग में किस्मत आजमाने 1969 में मुंबई आए थे। वहां से सदी के महानायक बनने तक उन्होंने एक लंबा सफर तय किया। आज अमिताभ का जन्मदिन है। स्ट्रगल के शुरुआती दिनों में वे मशहूर एक्टर महमूद के घर में रहे।

दैनिक भास्कर आज आपको महमूद के उस घर से लेकर मुंबई में अमिताभ के आलीशान बंगलों तक की जानकारी से रूबरू करवा रहा है। अमिताभ ने मुंबई में कुछ आलीशान अपार्टमेंट्स में फ्लैट और देश-विदेश में भी बंगले खरीद रखे हैं। पढ़िए खास रिपोर्ट…

महमूद के इसी घर में शुरुआत के दिनों में रहे थे अमिताभ
अमिताभ बच्चन कोलकाता से मुंबई मायानगरी में अपनी किस्मत आजमाने 1969 में आए। तब उन्होंने अपनी पहली फिल्म की थी ख्वाजा अहमद अब्बास साहब की सात हिंदुस्तानी। यहां उनकी सबसे पहली मुलाकात और दोस्ती हुई मशहूर कॉमेडियन महमूद के भाई अनवर से। यह दोस्ती परवान चढ़ने लगी। शूटिंग के बाद अनवर अमिताभ बच्चन को अंधेरी स्थित 132 पैराडाइज में महमूद के तीन मंजिला बंगले में ले गए। जहां अमिताभ बच्चन फर्स्ट फ्लोर पर अनवर के साथ रूम में रहने लगे। यहीं से वो स्टूडियोज में प्रोड्यूसर से मिलने जाते। इस बंगले के पास एक पार्क नुमा जगह भी है। जहां महमूद अपने घोड़े और कुत्ते रखते थे।

हम जब उस बंगले में पहुंचे तो देखा कि वो तीन मंजिला इमारत अब भी मौजूद है पैराडाइज बिल्डिंग में। उसका स्ट्रक्चर चेंज नहीं हुआ। अब वहां गुजराती फैमिली रहती है। पूछने पर उन्होंने बताया कि इसी तीन मंजिला इमारत में महमूद की फैमिली रहती थी। घोड़ों को रखने वाली जगह अब पार्क में तब्दील हो चुकी है। यह जगह मुंबई अंधेरी इलाके के श्रीराम नगर कॉलोनी शॉपर्स स्टॉप के पास है। आसपास के लोगों ने बताया कि महमूद के भाई अनवर कुछ साल पहले अपने दोस्तों के साथ आए थे। यहां के बाद अमिताभ बच्चन ने जुहू पार्ले स्कीम नॉर्थ साउथ रोड पर कुछ समय किराए के एक मकान में बिताए थे। वहां अब बिल्डिंग बन चुकी है।

प्रतीक्षा

प्रतीक्षा वह पहला बंगला है जिसे अमिताभ बच्चन ने मुंबई के जुहू में 1976 में खरीदा था। वह अपने माता-पिता डॉ. हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन के साथ वहां रहते थे। हरिवंश राय बच्चन ने इसे ‘प्रतीक्षा’ नाम दिया क्योंकि वह स्थिरता का प्रतीक चाहते थे। अमिताभ बच्चन परिवार के साथ मंदिर में प्रार्थना करने के लिए नियमित रूप से प्रतीक्षा जाते हैं। मंदिर को उनके पिता ने बनवाया था। अमिताभ ने अपने पिता (हरिवंश राय बच्चन) और मां (तेजी बच्चन) दोनों के कमरों को उसी तरह से संरक्षित किया है जिस तरह से वे रहते थे। अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या राय की भव्य शादी 2007 में इसी खूबसूरत हवेली में हुई थी।

जलसा

जुहू में स्थित जलसा बंगला वह स्थान है जहां वर्तमान में अमिताभ बच्चन परिवार सहित रहते हैं। इस घर को निर्देशक रमेश सिप्पी ने उन्हें उनकी फिल्म ‘सत्ते पे सत्ता’ में काम करने के लिए वर्ष 1982 में उपहार में दिया था और इसे उचित रूप से जलसा नाम दिया गया जिसका मतलब ‘उत्सव’ होता है। इसका निवास क्षेत्र 10,125 वर्ग फुट है। यह घर मूल रूप से अमिताभ के भाई, अजिताभ बच्चन की पत्नी रमोला बच्चन के नाम पर था। सूत्रों के अनुसार, ऐसा टैक्स से संबंधित मुद्दों के लिए किया गया था। 2006 में जलसा को जया बच्चन के नाम से पंजीकृत किया गया। जलसा के परिसर में शूट की गई पहली फिल्म अनुराग कश्यप की लघु फिल्म थी, जिसका नाम बॉम्बे टॉकीज की मुरब्बा थी। हालांकि, मूवी में अंदरूनी भाग को कैप्चर नहीं किया गया था।

जनक

जलसा के पास, जनक नाम का अमिताभ बच्चन का एक और बंगला है जो अमिताभ बच्चन का कार्यालय है। इसे अमिताभ बच्चन ने 2004 में खरीदा था। तब इसकी कीमत 50 करोड़ रुपए थी। बच्चन नियमित रूप से जनक में जिम करने जाते हैं। जनक का मतलब हिंदी में ‘पिता’ होता है। अमिताभ मीडिया से मीटिंग या दूसरी ऑफिशियल मीटिंग भी यहीं करते हैं।

जलसा के पीछे वत्स

जुहू में जलसा के साथ अमिताभ बच्चन का बंगला वत्स भी है। वत्स का अर्थ ‘बछड़ा’ है और इसका नाम शायद इसलिए रखा गया है क्योंकि यह एक छोटी संपत्ति है और उन्हें किराए की आय भी दे रही है। जानकारी के अनुसार पहले इसे सिटी बैंक को किराए पर दिया गया था। अब स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने इस बंगले को 15 साल की लीज पर लिया है। इसका किराया प्रति माह लगभग 18.9 लाख रुपए है। अमिताभ की इस ग्राउंड फ्लोर प्रॉपर्टी का एरिया 3150 स्क्वायर फीट है।

खबरें और भी हैं...