ड्रग्स केस:शाहरुख के जेल में आर्यन से मुलाकात पर हंसल मेहता बोले- बॉलीवुड में एक पिता की चिंता 'निर्मम फैसले का मामला' बन जाती है

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फिल्म मेकर हंसल मेहता पहले दिन से ही आर्यन ड्रग्स केस में अपनी प्रतिक्रिया देते आ रहे हैं। अब उन्होंने एक बॉलीवुड सेलिब्रिटी और पिता होने के क्या मायने है, इस बारे में बात की है। बता दें, आज शाहरुख खान के अपने बेटे आर्यन को क्रूज शिप ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद से पहली बार सार्वजनिक रूप से मिलने जेल गए थे। उसी के बाद ही हंसल ने यह बात सोशल मीडिया के जरिए की है।

बॉलीवुड स्टार का पिता होना मतलब निर्मम होना
उन्होंने अपने सोशल मीडिया पोस्ट पर लिखा "बॉलीवुड में एक सेलिब्रिटी, एक स्टार होने के नाते इसका मतलब है कि आपकी भावना, आपकी पीड़ा और एक पिता के रूप में आपकी चिंता पब्लिक कंजप्शन, हृदयहीन दुर्व्यवहार और निर्मम जजमेंट का विषय बन जाती है।"

बॉलीवुड हमेंशा आलोचकों की चपेट में आता है
हंसल ने अपनी अगली पोस्ट पर लिखा "बॉलीवुड एक जगह नहीं है और न ही एक कंपनी है। निश्चित रूप से कोई माफिया नहीं हैं। यह बड़ी संख्या में व्यक्तियों के लिए एक ढीला-ढाला शब्द है, जो कई अन्य व्यवसायों को बनाने, मनोरंजन करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं और कई अन्य व्यवसायों के विपरीत हमेशा आलोचना की चपेट में आते हैं।

आर्यन से मिलने पहुंचे शाहरुख
बुधवार को ड्रग्‍स केस में याचिका खारिज होने के बाद जेल में बंद आर्यन खान से मिलने उनके पिता और अभिनेता शाहरुख खान मुंबई की आर्थर रोड जेल पहुंचे थे। पिता और पुत्र के बीच तकरीबन 18 मिनट तक मुलाकात चली। हालांकि, जेल प्रशासन नियम के मुताबिक, सिर्फ 10 मिनट की मुलाकात की बात मान रहा है। मुलाकात के दौरान शाहरुख को देखते ही आर्यन भावुक हो गए। उनके साथ आए जेल के एक संत्री ने उन्हें संभाला और फिर दोनों ने इंटरकॉम पर एक दूसरे से लंबी बात की।
आर्यन खान की शाहरुख खान से मुलाकात जेल में बने एक कैबिनेट में हुई है। यहां शीशे की एक दीवार के बीच एक तरफ आर्यन खान थे और दूसरी तरफ शाहरुख खान। शाहरुख के साथ उनके स्टाफ के भी कुछ लोग हैं। हालांकि, उन्हें शाहरुख के साथ कैबिनेट में जाने की मंजूरी नहीं दी गई थी। जेल सूत्रों की मानें तो पिता को देखते ही आर्यन टूट गए और काफी देर तक रोते रह। 2 अक्टूबर को गिरफ्तार होने के बाद यह पहली बार है, जब आर्यन के परिवार का कोई सदस्य उनसे मिलने पहुंचा है।