आर्यन ड्रग्स केस:संजय दत्त, अबु सलेम से लेकर अजमल कसाब तक कैद रह चुके हैं मुंबई की आर्थर रोड जेल में, अब बैरक नंबर 1 में बंद होंगे आर्यन खान

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्रूज पर रेव ड्रग्स पार्टी के मामले में गिरफ्तार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान जेल में हैं। मुंबई की किला कोर्ट से शुक्रवार को आर्यन की जमानत अर्जी खारिज हो गई, जिसके बाद उनके वकील सतीश मानशिंदे अब सेशन कोर्ट में जमानत की अपील करेंगे। कोर्ट ने आर्यन को मुंबई की आर्थर रोड जेल भेज दिया। वह अब इसी जेल मे रहेंगे। इनके साथ मामले के बाकी के 8 आरोपी भी यहीं रहेंगे। हालांकि, सभी आरोपियों को जेल की 1 नंबर बैरक में पांच दिन के लिए क्वारेंटाइन कर दिया हैं। आर्यन और केस के सभी आरोपी जेल के सभी नियमों का पालन करेंगे और खाना भी यहीं का ही खाएंगे। आर्थर रोड जेल मुंबई की सबसे पुरानी हैं और यहां कई बड़े और काफी पुराने कैदी बंद हो चुके हैं। बता दें, संजय दत्त को 1993 बम ब्लास्ट के केस में इसी जेल में बंद किया गया था। इनकी बैरक नंबर 10 थी यह 'अंडा' सेल के काफी नजदीक थी। 'अंडा' सेल में अबु सलेम को रखा गया था।

अजमल कसाब से लेकर अरुण गावली तक रह चुके हैं आर्थर जेल में

अजमल कसाब- 2008 मे हुए मुबंई आतंकी हमले के मुख्य आरोपी पाकिस्तानी आतंकवादी कसाब को भी आर्थर रोड जेल में रखा गया था। हमले में कसाब ने तकरीबन 166 लोगों को मारा था, इस हमले में करीब 600 लोग चोटिल हुए थे। बाद में, कसाब को पुणे की यरवाड़ा सेंट्रल जेल शिफ्ट कर दिया गया था और 2012 में यहीं उसे फांसी दी गई थी।

अबू सलेम- क्राइम लीडर और अडंरवर्ल्ड डॉन अबू को 1993 मुंबई बम ब्लास्ट केस के आरोपी को भी इसी जेल में रखा गया था। इसके साथ गैंगस्टर मुस्तफा डोसा को भी रखा गया था। बाद में अबु को तलोजा जेल में शिफ्ट कर दिया था।

मुस्तफा डोसा- यह भी 1993 बम ब्लास्ट केस में एक आरोपी थे इन्हें भी आर्थर रोड जेल में रखा गया था। मुस्तफा की 2017 में हार्ट अटैक के कारण मौत हो गई थी।

छोटा राजन- राजन एक अंडरवर्ल्ड डॉन हैं। इसे भी आर्थर जेल में रखा गया था। बाद में राजन को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया था। इसपर करीब 70 केस दर्ज हैं, जिसकी सुनवाई अलग-अलग समय पर चलती रहती है।

अरुण गावली- मुंबई के गैंगस्टर गावली को 2012 में शिव सेना के लीडर कमलाकर के मर्डर में शामिल थे। शुरुआती दिनों में इन्हें भी पहले आर्थर जेल में रखा गया था। बाद में गावली को फांसी की सजा सुना दी गई और इस समय यह नागपुर की सेंट्रल जेल में बंद हैं। बता दें, अरुण गावली को मुंबई के लोग डैडी नाम से भी जानते हैं।

आर्यन का कबूलनामा
आर्यन ने यह खुलासा किया कि क्रूज पार्टी के दौरान वह ने चरस लेने वाले थे। NCB ने अदालत में दिए पंचनामे में बताया है कि तलाशी के दौरान आर्यन के दोस्त और आरोपी अरबाज मर्चेंट ने अपने जूते से ड्रग्स का एक पाउच निकाल कर दिया था। अरबाज के पास से 6 ग्राम चरस बरामद हुई थी।

खबरें और भी हैं...