आर्यन खान ड्रग्स केस:जबरन वसूली के आरोपों की जांच बंद कर सकती है SIT, मामले में शाहरुख की मैनेजर पूजा ददलानी ने नहीं दर्ज कराया बयान

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्रूज ड्रग्स मामले में एक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी में जबरन वसूली के आरोपो की जांच SIT बंद कर सकती है। पुलिस को जबरन वसूली के अभी तक कोई सबूत नहीं मिले हैं। इस मामले में एक्टर की मैनेजर पूजा ददलानी भी अपना बयान देने के लिए पेश नहीं हुई हैं।

जबरन वसूली की कोई आधिकारिक शिकायत नहीं है
एक सीनियर पुलिस ऑफिसर ने बताया कि, पुलिस ने ददलानी को दो बार समन भेजा है, लेकिन वह SIT के सामने पेश नहीं हुई हैं। ऑफिसर से जब पूछा गया, क्या पुलिस जांच को बंद करने के बारे में सोच रही है? इसके जवाब में बताया कि पूजा SIT के सामने पेश नहीं होती हैं तो हम इसे बंद कर सकते हैं। ऑफिसर ने आगे बताया, 'जबरन वसूली की कोई आधिकारिक शिकायत नहीं है। हालांकि, अभी तक कोई भी बयान वापस लेने के लिए आगे नहीं आया है।"

गोसावी शाहरुख से एक्टॉर्सन मनी लेना चाहता था
इस मामले के गवाहों में से एक किरण गोसावी को पुणे पुलिस ने पुणे में धोखाधड़ी के एक मामले में अक्टूबर में गिरफ्तार किया था। उनके बॉडीगार्ड प्रभाकर सइल ने MRA मार्ग पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज की थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि उन्होंने गोसावी को सैम डिसूजा से बात करते हुए सुना था और वह आर्यन के मामले में उनकी रिहाई के लिए पैसे की मांग कर रहा था। आरोप है कि गोसावी शाहरुख से एक्टॉर्सन मनी के लिए संपर्क करना चाहता था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक किरण, सैम की मदद से एक होटल बिजनेस मैन से मुलाकात की, जिसने पूजा से मिलवाने में उसकी मदद की थी। डिसूजा ने दावा किया कि गोसावी और अन्य लोगो ने पूजा से 50 लाख रुपए लिए थे। हालाकि उसने पैसे वापस कर दिया था। SIT ने गोसावी का भी बयान दर्ज किया है।

2 अक्टूबर को लिया था हिरासत में
NCB ने 2 अक्टूबर की रात मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज शिप में चल रही रेव पार्टी पर छापेमारी की थी। जिसके बाद ड्रग्स लेने और खरीद-फरोख्त करने के आरोप में आर्यन खान के साथ मुनमुन धमेचा, अरबाज मर्चेंट सहित कई लोगों हिरासत में लिया था।

खबरें और भी हैं...