पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फिल्म प्रोड्यूसर का धोखा:बाल ठाकरे की बायोपिक बनाने वाली स्वप्ना पाटकर गिरफ्तार, फर्जी डिग्री लेकर कर रहीं थी मेंटल रोगियों का इलाज

5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मराठी फिल्म प्रोड्यूसर स्वप्ना पाटकर (39) को मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। स्वप्ना पर फर्जी पीएचडी डिग्री हासिल करने का आरोप है। पुलिस एफआईआर के मुताबिक, स्वप्ना ने एक अस्पताल में जॉब हासिल करने के लिए जालसाजी और धोखाधड़ी के जरिए ये डिग्री हासिल की है।

बाल ठाकरे की बायोपिक बनाई थी
2015 में बायोपिक 'बालकाडु' प्रोड्यूस करने के बाद ही स्वप्ना सुर्खियों में आई थीं। ये फिल्म शिवसेना चीफ बाला साहेब ठाकरे के जीवन पर आधारित थी। फिलहाल स्वप्ना​​​​​​​ बांद्रा के एक प्रतिष्ठित अस्पताल में 2016 से काम कर रही हैं। पुलिस के मुताबिक, उन्होंने क्लीनिकल फीजियोलॉजी की फर्जी डिग्री बनवाई थी और इसी के आधार पर अस्पताल में नौकरी भी हासिल कर ली।

पिछले महीने दर्ज हुई थी एफआईआर
स्वप्ना के खिलाफ सोशल वर्कर गुरदीप कौर सिंह ने पुलिस में शिकायत की थी। उन्हें एक अज्ञात सोर्स से अप्रैल में स्वप्ना के एजुकेशनल डॉक्यूमेंट्स एक सीलबंद लिफाफे में मिले थे। इसके आधार पर ही उन्होंने अपनी शिकायत दर्ज कराई है। स्वप्ना पर आईपीसी की धारा 419, 420, 467, 468 के तहत केस दर्ज किया गया है। स्वप्ना​​​​​​​ बांद्रा के इस अस्पताल में कंसल्टेंट का काम कर रही थीं। उन पर यहां मेंटल इश्यू का सामना कर रहे लोगों का इलाज का जिम्मा था।

खबरें और भी हैं...