भारती सिंह की आपबीती:भारती सिंह का खुलासा, 'शो कोआर्डिनेटर गलत तरीके से छूते थे, पहले हिम्मत नहीं थी तो कुछ बोल भी नहीं पाती थी'

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारती सिंह हाल ही में मनीष पॉल के पॉडकास्ट का हिस्सा बनीं। इस दौरान भारती ने अपनी जिंदगी से जुड़े खुलासे किए। उन्होंने बताया कि कुछ इवेंट्स में हिस्सा लेने के दौरान कोआर्डिनेटर उनके साथ बदसलूकी करते थे। कई बार उन्हें जबरदस्ती छुआ गया।

भारती ने कहा, 'जब मेरे साथ ये सब होता था तो मुझे अच्छी फीलिंग नहीं आती थी लेकिन मुझे लगता था जो मेरे साथ ऐसा कर रहा है वो मेरे अंकल की उम्र का है तो वो गलत नहीं कर सकता। शायद मैं ही गलत सोच रही हूं और वो सही हो। लेकिन फिर सोचने पर लगता था कि नहीं वो व्यक्ति गलत कर रहा है, मगर मैं इस बारे में कुछ नहीं बोल सकती थी क्योंकि तब मेरे अंदर लड़ने का कॉन्फिडेंस नहीं था लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब मैं कह सकती हूं कि क्या बात है, ऐसे क्या देख रहे हो, बाहर जाओ हम कपड़े बदल रहे हैं। अब मैं खुलकर बोल देती हूं लेकिन पहले अंदर इतनी हिम्मत नहीं थी।

भारती को नहीं मिला पिता का प्यार

इसी इंटरव्यू में भारती ने अपनी जिंदगी से जुड़े एक दर्द को ही साझा किया था। उन्होंने कहा था, 'मेरी जिंदगी में केवल मेरी मां ही थी, पिता नहीं थे, जब मैं दो साल की थी तो उनकी डेथ हो गई थी। मैंने उन्हें देखा तक नहीं, ना ही मेरे घर में उनका कोई फोटो है, मैं उनकी कोई तस्वीर घर में लगाने नहीं देती। मेरी बहन और भाई को पिता का प्यार मिला है लेकिन मुझे नहीं। लेकिन मुझे तो अपने भाई तक का प्यार नहीं मिला क्योंकि सब अपने-अपने काम में बिजी थे। अब शादी के बाद जब मुझे अपने पति हर्ष का प्यार मिला तो समझ आता है कि कोई लड़का आपकी केयर करता है ना तो कैसे करता है।'

गरीबी में काटा बचपन

भारती का बचपन बेहद गरीबी में बीता था। एक इंटरव्यू में भारती ने कहा था, "मैं एक मिडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखती हूं और हम तीन भाई-बहन हैं। मेरी मां ने 17 साल की उम्र में शादी की थी और आप यकीन नहीं करेंगे कि 23 साल की उम्र तक वह तीन बच्चों की मां बन चुकी थी।"

"मैंने अपने पापा को 2 साल की उम्र में ही खो दिया था। इसलिए उनसे जुड़ी कोई याद मेरे साथ नहीं है। मां ने दोबारा शादी करने की बजाय हमारे लिए स्ट्रगल का रास्ता चुना। मेरा ज्यादातर बचपन गरीबी में बीता। बड़े भाई-बहन का दिन-रात हमारे लिए खाना और सुरक्षित छत जुटाने में बीतता था। कभी-कभी हमें आधा पेट खाना खाकर ही सोना पड़ता था।" भारती की फैमिली की बात करें तो उनके भाई धीरज सिंह अमृतसर में जनरल स्टोर चलाते हैं। जबकि बड़ी बहन पिंकी राजपूत भी अमृतसर में ही सेटल हो चुकी हैं।

हर्ष लिंबचिया से शादी की

भारती ने 2017 में राइटर हर्ष लिंबचिया से शादी की थी। भारती हर्ष से 7 साल बड़ी हैं। दोनों ने तकरीबन 7 साल की डेटिंग के बाद एक-दूसरे को अपना हमसफर चुना था। हर्ष ने 'पीएम नरेंद्र मोदी बायोपिक' के डायलॉग लिखे थे। इसके अलावा फिल्म 'मलंग' का टाइटल ट्रैक भी उन्होंने ही लिखा था।

खबरें और भी हैं...