अमिताभ की दीवार देख राजू हीरो बनने मुंबई आए:स्ट्रगल के दिनों में बने ऑटो ड्राइवर, सवारी ने ही दिलाया था इंडस्ट्री में पहला काम

16 दिन पहले

पॉपुलर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का 58 साल की उम्र में निधन हो गया। राजू को 10 अगस्त को जिम करते हुए हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया था। इलाज के दौरान राजू की हालत स्थिर हुई, लेकिन फिर बिगड़ गई। एक महीने से ज्यादा समय तक वेंटिलेटर पर रहने के बाद आखिरकार आज कॉमेडियन ने दम तोड़ दिया।

राजू श्रीवास्तव देश के सबसे पॉपुलर और पसंदीदा कॉमेडियन में से एक थे। कभी इन्होंने रियलिटी शो में बेहतरीन परफॉर्मेंस देकर लोगों को गुदगुदाया, तो कहीं फिल्मों के जरिए लोगों को मनोरंजन किया। राजू भले ही एक सफल सेलेब रहे, लेकिन इनका शुरुआती करियर उतार-चढ़ाव भरा रहा। आइए एक नजर डालते हैं राजू के कानपुर की मिडिल क्लास फैमिली में जन्म लेने से कामयाबी के सफर पर-

बचपन से ही कॉमेडी में माहिर थे मिडिल क्लास राजू

राजू श्रीवास्तव का जन्म कानपुर की एक मिडिल क्लास फैमिली में हुआ था। बचपन में इन्हें सत्य प्रकाश नाम मिला था, जो आगे जाकर राजू श्रीवास्तव बन गए। इनके पिता रमेश चंद्र श्रीवास्तव एक सरकारी कर्मचारी थे और शौकिया तौर पर कविताएं लिखा करते थे। छुट्टियों में पिता कवि सम्मेलन का हिस्सा बना करते थे, जिन्हें बलाई काका नाम से पहचाना जाता था।

PM मोदी बोले- हमें बहुत जल्दी छोड़ गए राजू:गृहमंत्री अमित शाह, CM योगी समेत अजय देवगन ने दी श्रद्धांजलि

पिता से राजू को भी लोगों का मनोरंजन करने का गुर विरासत में मिला। बचपन से ही राजू घर आए मेहमानों के सामने मिमिक्री करते और स्कूल में टीचर की भी नकल उतारकर लोगों को खूब हंसाते। कई टीचर उन्हें बद्तमीज कहते हुए सजा देते थे, लेकिन एक टीचर ऐसे भी थे जो इन्हें बढ़ावा दिया और कॉमेडी में करियर बनाने की सलाह दी।

लोगों ने राजू को लोकल क्रिकेट मैच में कमेंट्री करने की सलाह दी। इससे ये अपने हुनर को कॉन्फिडेंट के साथ लोगों के सामने पेश करने लगे। ये बचपन से ही कॉमेडियन बनना चाहते थे, लेकिन असल में इनकी प्रेरणा अमिताभ बच्चन थे। बिग बी की फिल्म दीवार देखने के बाद राजू ने एक्टर बनने का फैसला किया।

हार्ट अटैक से 17 दिन पहले मौत की बात:राजू ने कहा था- काम ऐसे करो कि यमराज भी लेने आएं तो बोलें भैंसे पर आप बैठो

अमिताभ बच्चन के साथ राजू श्रीवास्तव। अमिताभ की ही मिमिक्री करके राजू को टीवी पर पहचान मिली थी।
अमिताभ बच्चन के साथ राजू श्रीवास्तव। अमिताभ की ही मिमिक्री करके राजू को टीवी पर पहचान मिली थी।

कॉमेडियन बनने का सपना लेकर पहुंचे थे मुंबई

राजू बचपन से ही एक्टिंग और कॉमेडी में हाथ आजमाना चाहते थे, जिसके लिए वो 1982 में लखनऊ छोड़कर सपनों के शहर मुंबई चले आए। यहां ना रहने को घर था ना खाने के पैसे। घर से भेजे गए पैसे जब कम पड़ने लगे तो राजू ऑटो ड्राइवर बन गए। राजू अपनी सवारी को भी हंसाते थे। मुंबई में राजू को करीब 4-5 सालों तक संघर्ष करना पड़ा था।

नहीं रहे कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव:कभी 50 रुपए से शुरू किया था करियर, महज एक शो करने का लेते थे 5-10 लाख रुपए

सवारी ने दिलाया था कॉमेडी में पहला ब्रेक

एक दिन एक सवारी ने राजू के स्टाइल से इंप्रेस होकर उन्हें स्टेज परफॉर्मेंस देने को कहा। राजू मान गए और परफॉर्मेंस दी, जिसके लिए सिर्फ 50 रुपए मिले थे। इसके बाद राजू लगातार स्टेज शो करने लगे।

अमिताभ बच्चन की तरह दिखने पर मिली पहचान

स्टेज शो करते हुए राजू श्रीवास्तव अमिताभ बच्चन की भी नकल उतारा करते थे। यहीं से लोगों ने उनके लुक की तुलना अमिताभ बच्चन से करना शुरू कर दी।

कॉमेडी सर्कस के एक शो में राजू श्रीवास्तव। इस शो में नवजोत सिंह सिद्धू और शेखर सुमन जज थे।
कॉमेडी सर्कस के एक शो में राजू श्रीवास्तव। इस शो में नवजोत सिंह सिद्धू और शेखर सुमन जज थे।

कैसे बने गजोधर भइया

राजू श्रीवास्तव का घर उन्नाव के बीघापुर गांव में था। राजू बचपन में मामा के घर जाया करते थे। उस समय बाल कटवाने एक नाई के पास जाया करते थे जिसका नाम गजोधर था। उस नाई के सीने में गिटार का टैटू था। वो कहता था कि जब सीने में खुजली करता हूं तो गिटार बजता है। वो नाई इतना मजाकिया था कि राजू की जुबान पर सालों तक उसका नाम रहा। जब वो कॉमेडियन बने तो राजू ने उसके नाम का इस्तेमाल किया।

स्टेज शो करते हुए इंडस्ट्री के लोगों से जान-पहचान बढ़ी तो इन्हें फिल्मों में छोटे-मोटे रोल भी मिलने लगे। राजू पहली बार 1988 की फिल्म तेजाब में नजर आए। आगे उन्होंने करीब 19 फिल्मों में काम किया।

कैसे शुरू किया कॉमेडियन बनने का सफर

राजू श्रीवास्तव सबसे पहले साल 1994 के शो टी टाइम मनोरंजन में नजर आए थे। इसके बाद उन्होंने द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज के पहले सीजन में पार्टिसिपेट किया। इस शो में राजू ने तीसरा स्थान हासिल किया, जिससे इन्हें देशभर में पहचान मिल गई। इसके बाद राजू कॉमेडी का महा मुकाबला, कॉमेडी सर्कस, देख भाई देख, लाफ इंडिया लाफ, कॉमेडी नाइट विद कपिल, द कपिल शर्मा शो और गैंग्स ऑफ हसीपुर जैसे शोज का हिस्सा रहे।

विवादों और सुर्खियों से भी घिरे रहे हैं राजू श्रीवास्तव

केआरके से हुई थी गाली- गलौज

राजू श्रीवास्तव ने साल 2009 में रियलिटी शो बिग बॉस 3 में हिस्सा लिया था। शो में राजू श्रीवास्तव का कमाल राशिद खान से जोरदार झगड़ा खूब सुर्खियों में था। दरअसल, जब केआरके का रोहित वर्मा से झगड़ा हुआ तो उन्होंने गुस्से में उन पर बोतल फेंक दी। बोतल जाकर शमिता शेट्टी को लगी, जिससे घर दो पक्षों में बंट गया। राजू श्रीवास्तव ने केआरके को खूब बातें सुनाई तो बात और बढ़ गई।

राजू ने केआरके से कहा था, तुम बता रहे हो करोड़ों कमाते हो, मैं लाखों रुपए डोनेट कर देता हूं, जिसकी बराबरी का तुम सोच भी नहीं सकते। गुस्से में केआरके ने राजू को भद्दी गालियां देनी शुरू कर दी। दोनों के बीच जमकर गाली-गलौज हुई और दोनों मारपीट को उतारू हो गए। इस्माइल दरबार ने बीच-बचाव कर दोनों को अलग किया।

बिग बॉस 2009 के दौरान कमाल आर. खान और राजू श्रीवास्तव। इस शो पर दोनों का खूब झगड़ा हुआ था।
बिग बॉस 2009 के दौरान कमाल आर. खान और राजू श्रीवास्तव। इस शो पर दोनों का खूब झगड़ा हुआ था।

पाकिस्तान से मिले थे धमकी भरे कॉल

साल 2010 में राजू श्रीवास्तव को पाकिस्तान से धमकी भरे कॉल आए थे। धमकी में उन्हें अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कर जोक क्रेक ना करने की चेतावनी दी गई थी।

शिल्पा शेट्टी पर किया था भद्दा कमेंट

बिग बॉस 11 में परफॉर्म करने पहुंचे राजू श्रीवास्तव, एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी पर भद्दा कमेंट कर विवादों से घिर गए थे। उन्होंने कहा था, अगर शिल्पा को मां बनने के लिए उतावली थीं, तो उन्हें पता होना चाहिए था कि शक्ति कपूर उनके घर के बाहर ही खड़े थे। उनके इस बयान से विवाद इतना बढ़ा कि राजू को माफी मांगनी पड़ी। राजू ने माफी में कहा, मेरे डायलॉग को चैनल द्वारा गलत तरीके से दर्शाया गया है। मैंने फिल्म पर डायलॉग मारा था। मैं कलर्स चैनल से नाराज हूं।

समाजवादी पार्टी कि टिकट लौटाकर बटोरी सुर्खियां

भाजपा ज्वाइन करने से पहले साल 2014 में राजू श्रीवास्तव को समाजवादी पार्टी की तरफ से लोकसभा चुनाव का टिकट मिला था, लेकिन उन्होंने कुछ समय बाद ही टिकट लौटा दिया। राजू ने कहा कि उन्हें लोकल पार्टी यूनिट से सपोर्ट नहीं मिला। इसके बाद इसी साल राजू भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए।

भाजपा ज्वाइन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ राजू श्रीवास्तव।
भाजपा ज्वाइन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ राजू श्रीवास्तव।

1 जुलाई 1993 को की थी शादी

राजू श्रीवास्तव ने 1993 में शिखा से शादी की थी, जिससे उन्हें दो बच्चे अंतरा और आयुष्मान हैं। इनकी एक बहन और 5 भाई हैं।

पत्नी शिखा के साथ राजू।
पत्नी शिखा के साथ राजू।

हार्ट अटैक से 17 दिन पहले राजू ने की थी मौत की बात

राजू श्रीवास्तव के निधन के बाद एक वीडियो सामने आया है। इसमें वह यमराज और मौत का जिक्र करते हुए नजर आ रहे हैं। राजू कहते हैं कि काम ऐसे करो कि यमराज भी बोलें भाई साहब आप भैंसे पर बैठिए, मैं पैदल चलता हूं। राजू ने ये वीडियो हार्ट अटैक से 17 दिन पहले अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया था। राजू का अंतिम वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें...

खबरें और भी हैं...