पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

न्याय पर न्याय की मांग:'न्याय:द जस्टिस' के मेकर्स से दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा- फैसला आने तक रिलीज रोकें, आदेश नहीं माना तो कोर्ट रोक लगाएगी

17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुशांत सिंह राजपूत की मौत हुए 14 जून को एक साल पूरा हो जाएगा। - Dainik Bhaskar
सुशांत सिंह राजपूत की मौत हुए 14 जून को एक साल पूरा हो जाएगा।

बुधवार 2 जून को सुशांत सिंह की लाइफ स्टोरी से इंस्पायर्ड फिल्म न्याय:द जस्टिस को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। जहां कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। हालांकि उन्होंने मेकर्स से फिल्म रिलीज न करने कहा है। इसके पहले मेकर्स ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि यह फिल्म किसी भी रूप में सुशांत के किरदार और नाम का उपयोग नहीं करती है, इसलिए यह उनकी बायोपिक नहीं है। गौरतलब है कि सुशांत के पिता केके सिंह ने अपनी याचिका में कहा था कि कुछ फिल्म प्रोजेक्ट जैसे न्याय: द जस्टिस, सुसाइड ऑर मर्डर-ए स्टार वाज लॉस्ट, शशांक और एक क्राउड फंडेड अनाम फिल्म उनके बेटे का नाम और मौत का उपयोग कर लाभ कमाना चाहते हैं।

11 जून को रिलीज होने वाली है फिल्म
जस्टिस संजीव नरुला की बेंच ने फिल्म मेकर्स और सुशांत सिंह राजपूत के पिता की याचिका पर सुनवाई की। जहां उन्होंने आदेश दिया कि फैसला आने तक फिल्म को रिलीज न किया जाए। गौरतलब है कि मेकर्स ने इसे 11 जून को रिलीज करने की घोषणा की थी, लेकिन अगर फैसला 11 तक नहीं आता है तो मेकर्स को रिलीज रोकनी होगी। कोर्ट ने अपना फैसला 2 जून की सुनवाई में सुरक्षित रख लिया है। हालांकि मेकर्स के वकील चंदर लाल ने कहा -फिल्म रिलीज को व्यापक रूप से प्रचारित किया गया है और इसलिए हम इसे वापस लेने के संबंध में कोई आश्वासन नहीं दे पाएंगे।

लाल की दलीलों के मद्देनजर अदालत ने कहा कि अगर कोर्ट 11 जून से पहले फैसला नहीं सुना पाती है तो वह उस तारीख से पहले मामले को फिर से उठाएगी और फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने के लिए अंतरिम आदेश पारित करेगी।

लोगों को जानने का हक सुशांत के साथ क्या हुआ था
सुनवाई के दौरान मेकर्स के वकील ने बेंच को यह समझाने की कोशिश की कि फिल्म में अभिनेता या उसकी समानता को कहीं भी पिक्चराइज नहीं किया गया है। साथ ही यह भी कहा कि किसी को भी फिल्म बनाने और रिलीज करने से रोकना भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का उल्लंघन है जो संविधान के तहत प्रत्येक नागरिक को मौलिक अधिकार के रूप में मिला है। उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के एक सेलिब्रिटी होने के नाते लोगों को यह जानने की जरूरत है कि उनके साथ क्या हुआ।

फिल्म से जुड़े हैं ये स्टार्स
दिलीप गुलाटी की लिखी और उन्हीं के निर्देशन में बनी यह फिल्म 11 जून को थिएटर्स में रिलीज होगी। मेकर्स यह फिल्म सुशांत को श्रद्धांजलि के रूप में रिलीज करेंगे। फिल्म में मुख्य किरदार जुबेर खान और श्रेया शुक्ला निभा रहे हैं, जो कि सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती से प्रेरित हैं। अन्य एक्टर्स में अमन वर्मा (ईडी के चीफ), असरानी (मोहिंदर सिंह का रोल कर रहे जुबेर खान के पिता), शक्ति कपूर (एनसीबी चीफ), आनंद जोग (मुंबई पुलिस कमिश्नर), सोमी खान (सेलेब्रिटी मैनेजर), अरुण बख्शी (बॉलीवुड फिल्ममेकर) और सुधा चंद्रन (सीबीआई चीफ) शामिल हैं।

प्रोड्यूसर अशोक सरावगी के मुताबिक, फिल्म की कहानी सुशांत सिंह राजपूत की जिंदगी से प्रेरित है। इसमें लीड किरदार का नाम महेंद्र उर्फ माही रखा गया है। जबकि रिया चक्रवर्ती से प्रेरित किरदार उर्वशी है। चूंकि, यह कहानी पब्लिक डोमेन में है, इसलिए इसके राइट्स लेने की जरूरत नहीं पड़ी।