डायरेक्टर की मांग:हंसल मेहता बोले- जब तक बेगुनाह साबित नहीं हाेते तब तक के लिए इस्तीफा दें समीर वानखेड़े

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आर्यन खान ड्रग्स केस में किरण गोसावी के बॉडीगार्ड के हलफनामे से हडकंप मच गया है। इसके सामने आते ही NCB के डायरेक्टर समीर वानखेडे़ सवालों के घेरे में आ गए हैं। अब फिल्म निर्माता हंसल मेहता ने मांग की है कि समीर वानखेड़े जब तक अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों में निर्दोष साबित नहीं हो जाते तब तक उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।

हंसल ने एक पोस्ट में लिखा है- "समीर वानखेड़े को तब तक इस्तीफा देना चाहिए जब तक कि ये गंभीर आरोप खारिज नहीं हो जाते। बेगुनाही साबित करने की जिम्मेदारी सिर्फ उन्हीं को क्यों दी जाए जिन्हें गिरफ्तार किया गया है।"

मामले में रविवार को सामने आया ट्विस्ट
​​​​​​​
आर्यन खान ड्रग्स मामले के एक गवाह ने आरोप लगाया है कि वानखेड़े ने उससे 9-10 खाली पन्नों पर हस्ताक्षर करवाए और उसने बड़े लेन-देन की बड़बड़ाहट भी सुनी। गवाह प्रभाकर सेल का एक वीडियो, जिसमें उसने कहा कि वह केपी गोसावी का ड्राइवर था, रविवार को ऑनलाइन सामने आया। गोसावी वही व्यक्ति हैं जिनकी आर्यन खान के साथ सेल्फी एनसीबी द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद वायरल हो गई थी।

प्रभाकर सेल ने दावा किया है कि वह 'वानखेड़े' से डरते हैं। उन्होंने वीडियो में यह भी कहा कि जिस रात छापेमारी हुई उस रात वह केपी गोसावी के साथ थे और एनसीबी अधिकारियों ने उनके हस्ताक्षर कोरे कागजों पर ले लिए थे।

शाहरुख के सपोर्ट में हैं हंसल
इससे पहले, हंसल ने आर्यन और उनके पिता शाहरुख खान के लिए अपना समर्थन दिया था। “एक माता-पिता के लिए एक बच्चे के मुसीबत में पड़ने से निपटना दर्दनाक होता है। यह तब जटिल हो जाता है जब लोग कानून से पहले निर्णय देने लगते हैं। यह माता-पिता और बच्चे के रिश्ते के लिए अपमानजनक और अनुचित है।

आर्यन को 3 अक्टूबर को मुंबई के तट पर एक क्रूज जहाज पर एनसीबी द्वारा कथित ड्रग का भंडाफोड़ करने के बाद गिरफ्तार किया गया था। आर्यन को इस मामले में जमानत नहीं दी गई है।

खबरें और भी हैं...