पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिन्दी दिवस विशेष:हिन्दी फिल्‍म इंडस्‍ट्री से खात्‍मे की कगार पर देवनागरी लिपि, रोमन हिन्दी ने किया रिप्‍लेस

मुंबई15 दिन पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक
  • वरुण धवन ने जयशंकर प्रसाद की कविता से अपनी हिन्दी ठीक की​​​​​
  • जैकी भगनानी हिन्दी के लिए मुक्तिबोध का अध्ययन करते थे

हिन्दी फिल्‍म इंडस्‍ट्री को लेकर आम धारणा है कि यहां मेकर्स खाते हिन्दी का हैं, पर गुणगान अंग्रेजी का करते हैं। वह भी तब, जब इन दिनों हिन्दी बेल्‍ट की कहानियों पर फिल्‍में और वेब सीरिज आ रही हैं। खासकर पिछले 15 सालों में स्क्रिप्‍टों और संवादों से देवनागरी लिपि का खात्‍मा हो चुका है। शाहरुख खान, अक्षय कुमार, अजय देवगन, रणवीर सिंह, डैनी समेत इंडस्‍ट्री के कई दिग्‍गजों के साथ काम कर चुके अनुभवी कलाकार मुकेश तिवारी ने इसकी वजह बताई है।

देवनागरी लिपि को रोमन हिन्दी ने कर दिया है रिप्‍लेस
मुकेश तिवारी कहते हैं, "मैं 22 सालों से इंडस्‍ट्री में हूं। जबसे कंप्‍यूटरों, लैपटॉप और मोबाइलों पर स्‍टोरी, स्‍क्रीनप्‍ले और डायलॉग लिखे जाने लगे हैं, तब से देवनागरी लिपि का विलोपन हो गया है। रोमन हिन्दी ने उस लिपि को रिप्‍लेस कर दिया है। रही सही कसर प्रोडक्‍शन हाउस और कॉरपोरेट स्‍टूडियो के उन अधिकारियों ने पूरी कर दी है, जो अंग्रेजी स्‍कूल और कॉलेज से हैं। साथ ही सितारों ने भी अब देवनागरी में स्क्रिप्‍टें मांगनी कम कर दी हैं। अजय देवगन हैं, जो सेट पर हिन्दी के माहौल में रहना पसंद करते हैं, या देवनागरी लिपि में स्क्रिप्‍ट डिमांड करते हैं। हम जैसों को तकलीफ होती है। हम फिर खुद ही रोमन हिन्दी को देवनागरी में बदलते हैं। पिछले दस सालों में मैंने कई बड़े सितारों के साथ काम किया, मगर अक्‍सर सबको रोमन हिन्दी के साथ ही सहज पाया।"

आमिर खान ने 'दंगल' की स्क्रिप्‍ट देवनागरी लिपि में मंगवाई थी: सुनीता शर्मा
'दंगल', 'अतरंगी रे' और 'आश्रम' की डिक्‍शन कोच सुनीता शर्मा बताती हैं, "फिल्‍मों में तो डिमांड करने पर कलाकारों को देवनागरी लिपि में स्क्रिप्‍टें मुहैया करा दी जाती हैं, पर सीरियलों में तो बुरा हाल है। वहां राइटिंग रोमन हिन्दी में ही रहती है। मांगे जाने पर भी देवनागरी लिपि में कुछ नहीं मिलता। फिल्‍मों में आमिर खान यकीनन उच्‍चारण को लेकर बहुत अलर्ट रहते हैं। 'दंगल' की स्क्रिप्‍ट उन्‍होंने देवनागरी लिपि में मंगवाई थी। 'अतरंगी रे' में अक्षय कुमार और आनंद एल राय देवनागरी लिपि प्रिफर कर रहें हैं। सारा अली खान ने डिक्‍शन सुधारने के लिए छह महीने मुझसे सेवाएं लीं। 'आश्रम' में बॉबी देओल को 'पुरातत्‍व', 'नकारात्‍मक', 'सकारात्‍मक' के उच्‍चारण में गलतियां होती थीं। उन्‍हें अपने ज्‍यादातर डायलॉग संस्‍कृतनिष्‍ठ हिन्दी में बोलने थे। ऐसे में मुझे हायर किया गया। बॉबी ने पहली बार अपने करियर में डिक्‍शन कोच तो जरूर रखा है। पर ओवरऑल इंडस्‍ट्री में अभी हिन्दी और देवनागरी लिपि के लिए बहुत काम होना बाकी है। वह इसलिए कि अभी भी हिन्दी शब्‍दों के उच्‍चारण में बीसियों गलतियां होती हैं, कोई कुछ नहीं कहता। वहीं अंग्रेजी के उच्‍चारण में एक भी गलती हो जाए, तो महसूस करवा दिया जाता है कि अरे इसे तो कुछ आता ही नहीं। इस सोच से फिल्‍म इं‍डस्‍ट्री में हिन्दी को वह स्‍थान नहीं मिला, जि‍सकी वो हकदार है।"

वरुण धवन ने इंडस्‍ट्री में आने से पहले दो साल हिन्दी सीखने पर दिए: आनंद मिश्रा
स्‍टार किड्स को लगातार हिन्दी सिखाते रहने वाले कलाकार और ट्रेनर आनंद मिश्रा एक अलग पहलू पर प्रकाश डालते हैं। आनंद कहते हैं, "इंडस्‍ट्री में देवनागरी लिपि का चलन यकीनन बहस का विषय है, मगर हिन्दी भाषा सीखने को लेकर स्‍टार किड्स में ललक तो है। मसलन, वरुण धवन ने इंडस्‍ट्री में आने से पहले दो साल हिन्दी सीखने पर दिए। वरुण जयशंकर प्रसाद की कविताएं याद कर मुझे सुनाते थे। जैकी भगनानी अब बहुत बड़े प्रोड्यूसर बन चुके हैं। बतौर एक्‍टर अपनी हिन्दी बेहतर करने के लिए मुक्तिबोध की लाइनें याद करते थे। उन्‍हें बड़ी गहराई से समझने की कोशिश करते थे। जाह्नवी कपूर को करण जौहर जो लाइनें ऑडिशन के लिए देते थे, उन पर वो मुझसे ट्रेनिंग लेती थीं। करण जौहर के बैनर से एक और स्‍टार किड लॉन्‍च हो रही हैं। वह फिल्‍म अक्‍टूबर से फ्लोर पर जाने वाली है। उन्‍होंने भी दो साल हिन्दी सीखने पर दिए हैं।"

हिन्दी और हिंदुस्‍तानियत को लेकर स्‍टार किड्स में कोई हीनभावना नहीं है: शक्ति कपूर ​​​​​​​
शक्ति कपूर के मुताबिक, "मेरी पत्‍नी यानी श्रद्धा कपूर की मां महाराष्‍ट्र‍ियन हैं। उनके गुण श्रद्धा में पूरी तरह आए हैं। श्रद्धा यकीनन बॉस्‍टन यूनि‍वर्सिटी से पढ़ी-लिखी हैं, मगर उस पर महाराष्‍ट्र और पंजाब का कल्‍चर हावी है। वो स्क्रिप्‍ट हिन्दी में मंगवाती हैं। 'हैदर' के लिए तो उसने बाकायदा उर्दू डायलेक्‍ट कोच भी रखा था। वह तो खाना भी कांटे चम्‍मच की बजाय हाथों से खाती हैं। पहले हमारे घरों में हर त्‍योहार की तैयारी और पूजा विधि की जिम्‍मेदारी मेरी पत्‍नी की होती थी। अब उसे हमारे बच्‍चों ने टेकओवर कर लिया है। लब्‍बोलुआब यह है कि हिन्दी और हिंदुस्‍तानियत को लेकर श्रद्धा या बाकी स्‍टार किड्स में कोई हीनभावना नहीं है।"

अनन्‍या ने फिल्‍मों में आने से पहले तीन साल हिन्दी सीखने में दिए थे: चंकी पांडे​​​​​​​
चंकी पांडे अपनी बेटी अनन्‍या पांडे का हिन्दी प्रेम जाहिर करते हैं। वो कहते हैं, "अनन्‍या जाहिर तौर पर कॉन्‍वेंट की पढ़ी लिखी हैं, मगर फिल्‍मों में आने से पहले उसने तीन साल हिन्दी सीखने में दिए। स्‍कूल में उसके दोस्‍तों ने फॉर्म में सेकेंड लैंग्‍वेज फ्रेंच, जर्मन, स्‍पैनिश रखी थी, मगर अनन्‍या ने फॉर्म में हिन्दी भरा था। उसका कहना था कि उसे कहीं विदेशों में नहीं जाना। हिन्दी में और हिंदुस्‍तान के लिए काम करना है।"

अमिताभ बच्‍चन ​​​​​​​और अक्षय कुमार देवनागरी लिपी में ही स्क्रिप्‍ट ​​​​​​मांगते हैं: जगनशक्ति
हिन्दी प्रेमी अक्षय कुमार और अमिताभ बच्‍चन के साथ काम कर चुके डायरेक्‍टर जगनशक्ति एक और रोचक पहलू की ओर ध्‍यान दिलाते हैं। वो कहते हैं, "अमूमन लोगों को लगता है कि डायरेक्‍टर साउथ इंडियन है, तो उसे हिन्दी नहीं आती होगी। यह लोगों की गलत धारणा है। डिमांड किए जाने पर आर बाल्‍की देवनागरी में भी स्क्रिप्‍ट लिखते हैं। 'पा' के टाइम पर अमिताभ बच्‍चन और 'पैडमैन' के वक्‍त उन्‍होंने अक्षय कुमार के लिए देवनागरी में स्क्रिप्‍ट लिखी थी। मैंने 'मिशन मंगल' के वक्त अक्षय कुमार के लिए यह काम किया था। मैंने खुद मैसुर हिन्दी प्रचार परिषद से उत्‍त्‍म में हिन्दी की डिग्री ली है। बैंगलुरू से हिन्दी फिल्‍मों का बॉक्‍स ऑफिस कलेक्‍शन अच्‍छा होता है।"

हिन्दी को लेकर ऋतिक का प्रेम बहुत गहरा है: संजय मासूम​​​​​​​
सनी देओल और ऋतिक रोशन के लिए फिल्‍में लिख चुके संजय मासूम कहते हैं, "मैंने जब-जब इनके साथ काम किया है, इन्‍होंने देवनागरी लिपि में मुझसे स्क्रिप्‍ट और डायलॉग लिए हैं। जाहिर है हिन्दी के प्रति इनका प्रेम बहुत गहरा है।"

खबरें और भी हैं...