पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कंगना के बॉलीवुड में 15 साल पूरे:कंगना रनोट को आसानी से नहीं मिली थी 'गैंगस्टर', जानें कैसे अनुराग बसु के एक कॉल ने बदल दी थी उनकी जिंदगी

2 महीने पहले

कंगना रनोट को बॉलीवुड में 15 साल पूरे हो गए हैं। उनकी पहली फिल्म 'गैंगस्टर' आज ही के दिन यानी 28 अप्रैल, 2006 को रिलीज हुई थी। कंगना ने इस मौके पर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखकर फिल्म का जिक्र किया है।

कंगना ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत दिल्ली में अस्मिता थिएटर ग्रुप के साथ की थी। उन्होंने जाने-माने रंगमंच निर्देशक अरविंद गौड़ से एक्टिंग की ट्रेनिंग ली है। उन्होंने अरविंद की थिएटर कार्यशाला इंडिया हैबिटेट सेंटर में भाग लिया और कई नाटकों में भी काम किया है। उनका पहला नाटक गिरीश कर्नाड 'रक्त कल्याण' था।

इसके बाद कंगना ने फिल्म 'गैंगस्टर' से अपने फिल्मी करियर की शुरूआत की थी। इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस का फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला था। इस फिल्म की सफलता के बाद उन्हें बॉलीवुड में मीना कुमारी की तरह ट्रेजडी क्वीन कहा जाने लगा था।

आसानी से नहीं मिली थी ‘गैंगस्टर’

कंगना को गैंगस्टर में रोल इतनी आसानी से नहीं मिला था। शुरुआत में उन्हें काफी रिजेक्शन भी झेलने पड़े थे। सालों पहले कंगना ने अनुपम खेर के चैट शो 'कुछ भी हो सकता है' में फिल्म 'गैंगस्टर' कैसे मिली, इस बात का जिक्र किया था।

उन्होंने कहा था, 'मैंने सोचा था कि मुंबई में एक महीने का वक्त स्ट्रगल के लिए काफी होगा और मैं फिल्मों के लिए ऑडिशन दे दूंगी जिससे मेरे लिए कुछ रास्ते खुलेंगे। मैं एक बार 10-15 लड़कियों के साथ एक शूट पर बैठी थी तभी मेरी मुलाकात एक एजेंट से हुई जो मुझे महेश भट्ट के ऑफिस ले गया। मैं मोहित सूरी से मिली और अनुराग बसु ने मेरी तस्वीरें देखीं। इसके बाद मैंने 'गैंगस्टर' के रोल के लिए ऑडिशन दिया।

लेकिन भट्ट साहब ने कहा, ये लड़की बहुत यंग है, शायद 17-18 साल की। हमें एक मैच्योर लेडी की जरूरत है जिसकी उम्र 28-29 साल की होनी चाहिए। इसके बाद सुनने में आया कि उन्होंने फिल्म के लिए शाइनी आहूजा औ चित्रांगदा सिंह को साइन कर लिया है।

अचानक दो महीने के बाद अनुराग बसु ने मुझे कॉल किया और कहा कि हमें एक आउटडोर शूट के लिए तुरंत तुम्हारी जरूरत है क्योंकि हम चित्रांगदा से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। हम तुम्हारा मेकअप ऐसे करेंगे जिससे तुम थोड़ी मैच्योर लगो, अब केवल तुम ही हमारी फिल्म कर सकती हो और इस तरह मुझे गैंगस्टर मिली।' इस तरह अनुराग बसु के इस एक कॉल ने उनकी जिंदगी बदल दी थी। फिल्म में कंगना ने एक बार गर्ल की भूमिका अदा की थी जो दो लड़कों के प्यार में पड़ जाती है। एक शाइनी आहूजा जो गैंगस्टर की भूमिका में थे और दूसरे इमरान हाशमी थे।

फिल्म ने खोल दी कंगना के लिए सक्सेस की राह

इस फिल्म के बाद कंगना ‘वो लम्हे’, ‘लाइफ इन ए मेट्रो’, ‘तनु वेड्स मनु’, ‘कृष 3’ जैसी फिल्मों में आईं लेकिन क्वीन ने उन्हें बॉलीवुड में स्थापित कर दिया। इसके बाद कंगना ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और अब वह बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेसेस में जगह बना चुकी हैं।

खबरें और भी हैं...