पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर इंटरव्यू:सलमान के नोटिस पर बोले कमाल खान- 250 पन्नों की याचिका है, कोर्ट से मांग करूंगा पढ़ने का मौका तो दिया जाए

4 महीने पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक

'राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड भाई' के निगेटिव रिव्यू को लेकर सलमान खान और कमाल आर खान आमने-सामने आ गए हैं। कहा जा रहा है कि कमाल के खिलाफ सलमान की तरफ से नोटिस दिया गया है। मुंबई के कोर्ट में जिसकी गुरुवार को सुनवाई होनी है, लेकिन कमाल फिलहाल दुबई में हैं। दैनिक भास्कर से बातचीत के दौरान उन्होंने इस मामले में अपना पक्ष रखा।

  • नोटिस में क्या सब बोला गया है?

कमाल- 'यह तकनीकी तौर पर नोटिस नहीं, बल्कि पिटीशन की सूचना है। कोर्ट में सलमान खान की तरफ से पिटीशन फाइल की गई है और मेरे मुंबई ऑफिस में इसकी सूचना मुझे दी गई। इसमें बाकायदा सलमान खान पिटिशनर हैं। इससे पहले उन्होंने किसी समीक्षक को पिटीशन कभी भेजा हो या नोटिस भेजा यह तो वही बता सकेंगे।'

  • आप किस तरह से जवाब देने वाले हैं पिटीशन का? उसको गो थ्रू कर सकें हैं आप ?

कमाल- फिलहाल कल यानी गुरुवार को कोर्ट में इस पर तारीख है। मैं तो दुबई में हूं मेरे लाॅयर इसे देखेंगे। ढाई सौ पन्नों की पिटीशन है। इसे पढ़ने में वक्त लगेगा। तब हम कोर्ट में अपना पक्ष रख सकते हैं।

  • आपका समीक्षा को लेकर जो अंदाज ए बयां रहता है, उसे कितना डिग्निफाइड मानते हैं या ऑडियंस को ध्यान में रखते हुए दिलचस्प बनाते हैं?

कमाल- मेरे हिसाब से तो मैं 100 परसेंट सच बोलता हूं। मुझे राधे में सलमान खान और दिशा की जोड़ी बिल्कुल अच्छी नहीं लगी। वह इसलिए कि दिशा उनके सामने बच्ची लगती है। आप 56-57 की उम्र में 21-22 साल के युवक का रोल नहीं कर सकते। अगर वह अभी भी खुद को 21-22 साल का मानते हैं तो उनको मुबारक हो, मगर हम तो नहीं मानेंगे।

  • लेकिन साउथ में रजनीकांत, चिरंजीवी, कमल हासन भी तो आधी उम्र की हीरोइनों के साथ रोमांस करते हैं?

कमाल- मैं ना साउथ की फिल्में देखता हूं ना उनकk रिव्यू करता हूं, अगर उन फिल्मों को देखता तो वहां भी मेरा रवैया ऐसा ही रहता। मुझे जो चीज बुरी लगती, उसके बारे में बिल्कुल सच बोलता।

  • एक और तर्क दिया जाता है कि सलमान की फिल्मों से सैकड़ों हजारों लोगों का घर परिवार चलता है। उनके काम के प्रति इतनी आलोचना जायज है क्या?

कमाल- राजेश खन्ना, दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन भी अपने दौर में इसी कद के थे। उनके स्टारडम के जाने के बाद क्या फिल्म इंडस्ट्री नहीं चली? सलमान की फिल्मों से सिर्फ सलमान सैकड़ों करोड़ कमाते हैं। सलमान अगर नहीं होंगे तो उनकी जगह किसी और स्टार की फिल्म बनेगी। सलमान खान रहे ना रहें। दिलीप कुमार रहें ना रहें। किसी एक स्टार की बदौलत यह पूरी फिल्म इंडस्ट्री नहीं चलती। बॉलीवुड चलता आया है। यहां सालाना उतनी ही फिल्में फिल्में बनती रहेंगी, चाहे कोई एक स्टार हो या ना हो। यह सिर्फ खुद को बचाने का तर्क है।

  • अगर सलमान खान की फिल्में इतनी बुरी हैa तो फिर वह 100 करोड़ से ज्यादा कैसे कमाती हैं?

कमाल- आज की तारीख में बिजनेस इतना बड़ा हो चुका है कि स्टार एकदम से खत्म नहीं हो सकता। सलमान खान की जो फिल्में बुरी रही हैं वह 100 करोड़ से कुछ ज्यादा ही कमा सकती हैं लेकिन बजरंगी भाईजान अच्छी रही तो वह 300 करोड़ से ऊपर गई।

मुझे एक चीज और कहना है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में सलमान खान समीक्षकों का मजाक उड़ाते रहे हैं। कई बार उन्होंने कहा है कि उनकी फिल्मों को तो समीक्षक 1 स्टार देते हैं, जबकि उनको उम्मीद थी कि उनकी फिल्म को माइनस स्टार मिलेगा, लेकिन फिर भी उनकी फिल्म चलती रहती है। लिहाजा उनको कोई फर्क नहीं पड़ता कि समीक्षक उनकी फिल्म को कितना स्टार देते हैं। आज फर्क ना पड़ने वाले उसी समीक्षक को उन्होंने नोटिस भिजवाया है या फिर पिटीशन फाइल की है।