पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुसीबत में 'धाकड़':कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सेट पर हंगामा कर रुकवाई फिल्म की शूटिंग, भड़कीं कंगना बोलीं- मुझे कार बदलकर लंबे रास्ते से आना पड़ा

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में चल रहे किसान आंदोलन के खिलाफ कंगना रनोट ने कई बयान दिए थे। उन्होंने आंदोलन कर रहे किसानों को आतंकी भी बताया था। उनके इन बयानों पर शुक्रवार को मध्यप्रदेश के बैतूल में उनकी फिल्म 'धाकड़' की शूटिंग को रोकने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किए। कंगना से किसान आंदोलन के खिलाफ दिए अपने बयानों पर माफी मांगने को भी कहा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कंगना को धमकी भी दी है कि अगर उन्होंने माफी नहीं मांगी तो वे फिल्म की शूटिंग नहीं होने देंगे।

मेरे आसपास पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है
कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन के बाद कंगना ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर निराशा जाहीर की। उन्होंने कहा, "मेरे आसपास पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है, क्योंकि मप्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मेरी शूटिंग को रोकने के लिए विरोध प्रदर्शन किए। कांग्रेस विधायक का कहना है कि वे किसानों की ओर से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कौन से किसानों ने उन्हें ऐसा करने को कहा है, वे खुद ही अपने लिए विरोध प्रदर्शन क्यों नहीं करते?"

प्रदर्शन के कारण बदलनी पड़ी कार
कंगना ने लोकेशन से एक वीडियो भी शेयर किया है। वीडियो शेयर कर उन्होने लिखा, "आज शाम मेरे शूट लोकेशन के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इसके बाद पुलिस ने उन्हें हटाया। इस कारण मुझे अपनी कार बदलनी पड़ी और लंबे रास्ते से आना पड़ा।"

माफी नहीं मांगी तो शूटिंग नहीं होने देंगे
बैतूल जिले की पुलिस ने शुक्रवार की शाम कंगना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पानी का छिड़काव भी किया। 100 से अधिक प्रदर्शनकारी एक पावर स्टेशन के कोल हैंडलिंग प्लांट के गेट नंबर 2 और 4 के पास इकट्ठे हुए थे, जहां फिल्म 'धाकड़' की शूटिंग चल रही है। स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने दो दिन पहले धमकी दी थी कि किसानों के खिलाफ दिए अपने बयान पर कंगना ने माफी नहीं मांगी तो वे शूटिंग नहीं होने देंगे। इसके बाद से ही सारनी में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था।

रिजॉर्ट में कंगना की सुरक्षा के लिए निरीक्षक को किया गया नियुक्त ​​​​​​​
सारनी शहर के पुलिस अधीक्षक अभय राम चौधरी ने कहा कि दमकल वाहनों से पानी के जेट का उपयोग करके प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर किया गया। उन्होंने स्थानीय कांग्रेस इकाई के इस आरोप का खंडन किया कि प्रदर्शनकारियों और महिलाओं के खिलाफ बैटन का इस्तेमाल किया गया था। अधिकारी ने कहा कि पुलिस कर्मियों को घटनास्थल के आसपास तैनात किया गया था। जबकि 45 किमी दूर एक रिजॉर्ट में कंगना की सुरक्षा के लिए एक निरीक्षक को नियुक्त किया गया था।

गृह मंत्री ने कहा था कंगना को शूटिंग के दौरान कोई समस्या न हो
कंगना आमतौर पर शाम 6 बजे के आसपास शूटिंग के लिए आती हैं। लेकिन शुक्रवार को वह देर शाम को शूट के लिए आने वाली थीं। जब प्रदर्शनकारियों ने शूटिंग लोकेशन पर विरोध प्रदर्शन किया, तब कंगना वहां मौजूद नहीं थीं। गुरुवार को गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि उन्होंने पुलिस से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि शूटिंग बाधित न हो। उन्होंने कहा था कि राज्य में भाजपा सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि "बेहन-बेटी" कंगना को शूटिंग के दौरान कोई समस्या न हो।