संघर्ष:अपना पहला फिल्मफेयर अवॉर्ड रिसीव नहीं कर पाई थीं कंगना, बोलीं- मैं नहीं जानती थी कि सिंगापुर कैसे जाना है

मुंबई2 वर्ष पहले

कंगना रनोट को फिल्म इंडस्ट्री में 14 साल हो गए हैं। उनकी पहली फिल्म 'गैंगस्टर' 28 अप्रैल 2006 को रिलीज हुई थी। अनुराग बसु के निर्देशन में बनी इस फिल्म में शाइनी आहूजा और इमरान हाशमी की अहम भूमिका थी। इस फिल्म के लिए कंगना को बेस्ट फीमेल डेब्यू का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। हालांकि, वे इस अवॉर्ड को रिसीव करने सिंगापुर नहीं जा पाई थीं। एक बातचीत में उन्होंने इसके पीछे की वजह उजागर की। 

नहीं जानती थीं कि सिंगापुर कैसे जाना है?
कंगना ने कहा,  "मैं नहीं जानती थी कि मुझे नामांकित किया गया था। जब टीम रवाना हो रही थी, तब उन्होंने मुझसे मेरी यात्रा की प्लानिंग के बारे में पूछा। मुझे नहीं पता था कि सिंगापुर कैसे जाना है? कहां रहना है? मुझे अपने क्रू से टिकट की कीमतों के बारे में पूछने के लिए बहुत शर्मिंदा होना पड़ा था। इसलिए मैंने अवसर खो दिया। जब मुझे विनर घोषित किया गया तो 'गैंगस्टर' और 'क्वीन' के डीओपी बॉबी सिंह (अफ़सोस, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं) ने मुझे कॉल किया और कहा कि वे मेरी ट्रॉफी रिसीव कर रहे हैं। मैं रोमांचित थी और यह मेरी सबसे खूबसूरत यादों में से एक है।"  

2008 में मिला पहला नेशनल अवॉर्ड 

कंगना रनोट को 2008 में फिल्म 'फैशन' के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड मिला। 2014 में 'क्वीन' और 2015 में 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड मिला। भारत सरकार उन्हें देश का चौथा सर्वोच्च सम्मान पद्मश्री भी दे चुकी है। वर्कफ्रंट की बात करें तो कंगना आखिरी बार 'पंगा' में दिखाई दी थीं, जो 24 जनवरी को रिलीज हुई थी। उनकी दो अन्य फिल्में 'थलाइवी' और 'धाकड़' फिलहाल प्रोडक्शन स्टेज में हैं।