पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमित साध का बर्थ-डे:कभी चार बार सुसाइड की कोशिश कर चुके थे अमित साध, टीवी इंडस्ट्री ने किया बैन तो बॉलीवुड में बना ली पहचान

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

'काई पो छे', 'सुल्तान' और 'गोल्ड' जैसी फिल्मों में नजर आ चुके अमित साध आज अपना जन्मदिन मना रहे हैं। 5 जून 1983 को जन्मे अमित 38 साल के हो चुके हैं। अमित ने एक इंटरव्यू में बताया था कि अपने टीनएज में उन्होंने चार बार खुदकुशी की कोशिश की थी। अमित ने ये भी कहा था कि उनके सुसाइड अटेंप्ट के पीछे की कोई वजह नहीं थी।

'बस मैं सुसाइड करना चाहता था'

अमित ने कहा था कि एक दिन अचानक उन्हें लगा कि उन्हें अपनी जिंदगी खत्म कर लेनी चाहिए। वे कहते हैं, "16 से 18 साल की उम्र के बीच मैंने चार बार आत्महत्या करने की कोशिश की। मेरे अंदर सुसाइडल थॉट नहीं थे। बस मैं सुसाइड करना चाहता था।"

उन्होंने आगे कहा, "कोई प्लानिंग नहीं थी। एक दिन उठा और बार-बार खुद की जान लेने की कोशिश करने लगा। भगवान की कृपा से चौथी बार के प्रयास के बाद मुझे समझ आया कि यह रास्ता नहीं है, यह अंत नहीं है। फिर चीजें बदल गईं। मेरा नजरिया बदल गया। तब से मेरे अंदर कभी हार न मानने की फिलॉस्फी आ गई।"

बड़े एक्टर ने पागल बता दिया था

अपनी जिंदगी के कठिन दौर को याद करते हुए अमित साध ने कहा था, "मुझे याद है कि एक बड़े एक्टर ने मेरी एक्स-गर्लफ्रेंड को कहा था- 'ये पागल है, इसको साइकैट्रिस्ट के पास लेके जाओ।' फिर जब मैं उस एक्टर से दो साल बाद मिला तो मैंने उनसे कहा- 'सर मैं पागल नहीं हूं।'

उसने कहा- 'अच्छा ठीक है यार तू पागल नहीं है।' और मैंने कहा- जी हां। मैं पागल नहीं हूं। एकदम ठीक हूं। हो सकता है कि मैं ज्यादा इमोशनल हूं या मुझमें दूसरे इश्यूज हैं। हो सकता है कि मैं अकेलापन महसूस करता हूं या परेशान रहता हूं। लेकिन मैं पागल नहीं हूं। मेरा दिमाग बिल्कुल ठीक है।"

टेलीविजन इंडस्ट्री में झेलना पड़ा था बैन

अमित ने टेलीविजन से फिल्मों तक का सफर तय किया था। उन्होंने सीरियल ‘क्यों होता है प्यार’ में काम किया था तब उनकी उम्र 20 साल के आसपास थी। तब शो की सक्सेस के बाद अमित गैंगबाजी के शिकार हो गए थे और उन्हें टीवी इंडस्ट्री में काम मिलना बंद हो गया था।

अमित ने इंटरव्यू में कहा था, 'मैंने फिल्मों में जगह बनाने के लिए टेलीविजन नहीं छोड़ा था। टेलीविजन इंडस्ट्री ने मुझे बैन कर दिया था। यहां काम करने वाले लोगों ने एक-दूसरे को कॉल करके कहा, ‘इसको काम मत दो। तो फिर मैंने कहा, अच्छा? काम नहीं दे रहे हो? तो मैं फिर पिक्चर में जाऊंगा।’ 'तब मुझे एक बहुत बड़े टेलीविजन प्रोड्यूसर का कॉल आया जिनकी इंडस्ट्री में काफी पूछ-परख थी तो मैंने उनको भी बोल दिया, 'सर गलत करोगे, तो मैं भी लडूंगा'।

अमित ने आगे बताया कि उन्होंने अपने गुस्से और फ्रस्टेशन को अपने काम में लगाया और खुद को निखारा। कुछ अच्छे लोगों से मिले जिसके बाद जिंदगी में बदलाव आए और उन्हें समझ आ गया कि लड़ने की कोई जरूरत नहीं।

2010 में किया था बॉलीवुड डेब्यू

अमित ने टेलीविजन को अलविदा कहने के बाद राम गोपाल वर्मा की 'फूंक 2' से 2010 में डेब्यू किया था। इसके बाद उन्होंने 'काय पो छे', 'गुड्डू रंगीला', 'सुल्तान', 'सरकार 3' और 'गोल्ड' जैसी फिल्मों में काम किया।

पिछले साल वह वेब सीरीज 'ब्रीद: इनटू द शैडो' में नजर आए थे। इसके पहले सीजन में भी वह एक पुलिस ऑफिसर के रोल में नजर आए थे। वर्क फ्रंट की बात करें तो अमित साध की आखिरी फिल्म 'शकुंतला देवी' थी, जिसमें विद्या बालन और सान्या मल्होत्रा की भी अहम भूमिका थी।

खबरें और भी हैं...