बातचीत:प्रतीक बब्बर बोले- लारा इतनी इन्वॉल्व रहीं कि मुझे अपने कैरेक्टर की प्रोसेसिंग में मदद मिली

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: उमेश कुमार उपाध्याय
  • कॉपी लिंक

प्रतीक बब्बर, लारा दत्ता, शिनोवा स्टारर सीरीज हिकअप्स एंड हुकअप्स नए ओटीटी प्लेटफॉर्म लॉयन्सगेट पर 26 नववंबर को स्ट्रीम होने जा रही है। इस सिरीज का डायरेक्शन फिल्मों के जाने-माने डायरेक्टर कुणाल कोहली ने किया है। इसमें प्रतीक अपने किरदार सहित पर्सनल लाइफ पर बात करते हुए युवाओं से क्या कुछ कहा, पढ़िए दैनिक भास्कर की विशेष बातचीत में:

अपने किरदार अखिल और कहानी के बारे में बताइए?
मेरे किरदार का नाम अखिल राव है। यह बहुत मजेदार बंदा है। एक डेटिंग एप फाउंडर है, जिसका नाम केचअप है। उसका यह डेटिंग एप हिट हो गई है। उसने बहुत सारे पैसे बनाए हैं और पूरी कंट्री में बड़े-बड़े घर लिए हैं। अभी ऐश कर रहा है। लेकिन काम को लेकर अभी थोड़ा आलसी हो गया है, क्योंकि उसको लग रहा है कि अब कुछ करने की जरूरत नहीं है। इसकी लव लाइफ में बात करें, तब प्यार, रिलेशनशिप, कमिटमेंट में बिल्कुल विश्वास नहीं करता है। उसकी एक मजेदार बात यह है कि उसने जो एप क्रिएट किया है।

उस एप के जो एलगोरिज्म हैं, उसे ऐसे सेट करता है ताकि एप पर जितनी भी लड़िकयां आएं, उसके साथ मैच हों ताकि वह नई-नई लड़कियों के साथ डेट पर जा सके। उसकी अपने हुकअप की कहानी चलती रहती है। अगर उसका इन्वाल्वमेंट अपनी फैमिली के साथ करता है, तब वह अपनी बहन और भांजी को लेकर बड़ा सपोर्टिव है। लेकिन मां-बाप के साथ काफी तू-तू, मैं-मैं चलती है, क्योंकि दोनों के बीच ओपिनियन डिफरेंस ज्यादा है, पर प्यार बहुत करता है। शो में यह भी देखने को मिलेगा कि उनके बचपन के साथ कॉम्प्लीकेटेड रहे हैं। बचपन में मोटा था, जिसे लेकर पिताजी चिढ़ाते थे। उसके दिल में यह बात बैठ गई है कि उसका नॉर्मल चाइल्डहुड नहीं रहा है।

अच्छा, बब्बर और राव में क्या समानता/ असमानता है?
हमारे बीच समानता फन लविंग, ओपन माइंडेड, परिवार और दोस्तों से रिश्ते को लेकर है। मेरे ख्याल से राव प्यार में बिलीव नहीं करता है। उसके लिए रिलेशनशिप, शादी, कमिटमेंट, बच्चे कोई मायने नहीं रखता है। यह चीजें सिमलर नहीं है।

लारा के साथ काम करने का एक्सप्रीरियंस कैसा रहा?
बहुत अच्छा, बचपन से उनका फैन रहा हूं। मेरे जैसे बहुत सारे नौजवान उनके फैन हैं। अमीन! द क्वीन लारा दत्ता के साथ काम करने का बहुत स्पेशल एक्सपीरियंस था। आई थिंक, इससे हमारा जो रिलेशनशिप है, उसे बिल्ड करने में बहुत ज्यादा मजा आया। हम दोनों एक-दूसरे को बहुत बढ़िया तरीके से कांप्लिमेंट करते हैं। गिव इन टेक बहुत अच्छा रहा। वे अपने किरदार के साथ बहुत कुछ ले आती हैं। वे इतनी इन्वाल्व थीं कि मुझे अपने कैरेक्टर की प्रोसेसिंग में बहुत मदद मिली।

नशे को लेकर कोई आपसे प्रेरणा ले? जिस तरह से आपने पकड़ा और छोड़ दिया। सीख के तौर पर युवाओं से क्या कहना चाहेंगे?
जिंदगी में वक्त बहुत कीमती चीज होती है। मैंने इन सब चीजों में बहुत साल गवाए हैं। मुझे अभी भी अपने आप पर बहुत गुस्सा आता है कि मैंने इतने साल गवाए, इन वर्षों में कुछ कर सकता था। अपनी जिंदगी के साथ और बेहतर इंसान बन सकता था और बेहतर एक्टर, परफॉर्मर बन सकता था। आई थिंक, इन सब चीजों से बहुत ही वक्त चला जाता है। नशे में जब होते हो, तब वक्त का कुछ पता नहीं चलता है।

जिंदगी में जो चीजें मायने रखती हैं, उन्हें भूल जाते हैं। वक्त चला गया, तब उसके बारे में कुछ नहीं सकते। युवाओं को यही कहना चाहूंगा कि जो कर रहे हो, वह बहुत सोच-समझकर करो। एक ही जिंदगी है, इसमें हमें अपने आपके वेस्ट वर्जन बननी है। इन सब चीजों से आगे बिल्कुल नहीं बढ़ सकते।

आपकी आगामी सीरीज और फिल्में कौन-सी दर्शक देख पाएंगे?
हिकअप्स एंड हुकअप्स 26 नवंबर को लायन्सगेट पर स्ट्रीम होगी। इस ओटीटी प्लेटफॉर्म पहली बार हिंदी सीरीज आएगी। इसके अलावा एक फिल्म नेटफिलिक्स 3 दिसंबर को आ रही है। इसमें मेरा आर्टिस्ट का किरदार है। मधुर भंडारकर के साथ एक फिल्म इंडिया लॉकडाउन किया है, वह भी आएगी। इसमें माइग्रेन वर्कर का किरदार है। अक्षय कुमार के साथ फिल्म बच्चन पांडे आने वाली है। इसमें गुंडा के रोल में दिखाई दूंगा।

हम सब गुंडे हैं। वही गुंडागर्दी देखने को मिलेगी। चक्रव्यूह-2 में पुलिस वाला हूं, जो सीबीआई क्राइम ब्रांच स्पेशलिस्ट है। फोर मोर शॉर्ट्स-3 के बारे में लोग जानते हैं कि जेई का किरदार है। काफी फुल फ्लैश में हूं।

खबरें और भी हैं...