पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

याद आईं सरोज खान:माधुरी दीक्षित बोलीं, डायरेक्टर की डांट से दुखी होकर मैं रो रही थी तो सरोज जी ने चिल्लाते हुए कहा-लाइफ में कभी रोने का नहीं

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

15 मई को अपना 54 वां जन्मदिन मना रहीं माधुरी दीक्षित का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यह वीडियो रियलटी शो ‘डांस दीवाने-3’ का है जिसमें वह बतौर जज नजर आ रही हैं। वीडियो में माधुरी दिवंगत कोरियोग्राफर सरोज खान को याद करके रो पड़ती हैं।

वीडियो में देखा जा सकता है कि एंकर भारती सिंह माधुरी से पूछती हैं कि क्या आपने कभी सरोज जी से डांट खाई थी? माधुरी कहती हैं-हां खाई है डांट भी खाई है। एक बार उन्होंने मुझे डांट दिया क्योंकि मैं रो पड़ी थी क्योंकि मेरे डायरेक्टर ने मुझे डांट दिया था। मेरी आंखें रोते-रोते सूज गई थीं। सरोज जी ने मुझे रोते हुए देखा और चिल्लाते हुए बोलीं-रो क्यों रही हो? रोने का नहीं कभी लाइफ में। वो इस तरह से सेट पर मेरा हौसला बढ़ाती थीं।मैं उन्हें बहुत याद करती हूं। मैं उन्हें अपना गुरु मानती थी, उन्होंने मुझे कैमरे के सामने प्रेजेंटेबल कैसे लगें, एक्सप्रेशन कैसे दें, डांस मूवमेंट्स कैसे हों और अपनी डांसिंग स्किल्स कैसे निखारें आदि जैसी कई टिप्स दीं।

माधुरी ने कहा, उनमें महिला सशक्तिकरण की असली झलक दिखती थी क्योंकि उन्होंने इंडस्ट्री में जगह तब बनाई जब मेल कोरियोग्राफर्स का दबदबा था। शो की कंटेस्टेंट पल्लवी और सिजा रॉय ने माधुरी के गाने तबाह पर परफॉर्म किया था जिसकी कोरियोग्राफर सरोज खान ही थीं।

3 जुलाई, 2020 को हुआ था निधन

71 की उम्र में सरोज खान का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। वे कई दिन से सांस लेने में तकलीफ के कारण बांद्रा के हॉस्पिटल में भर्ती थीं। हालांकि, उनका कोरोना टेस्ट निगेटिव आया था।

आखिरी फिल्म माधुरी दीक्षित के साथ

सरोज खान ने आखिरी गाना अप्रैल 2019 में आई करण जौहर की मल्टी स्टारर फिल्म कलंक के लिए कोरियोग्राफ किया था। इसके बोल थे ‘तबाह हो गए’। इस गाने में भी उनकी फेवरेट एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित नजर आईं थीं।

दो हजार गानों में दिखे सरोज के डांस स्टेप्स

40 साल के करियर में सरोज खान ने करीब दो हजार गाने कोरियोग्राफ किए। उन्होंने तीन बार नेशनल अवॉर्ड भी जीता। सरोज खान ने नच बलिए', 'उस्तादों के उस्ताद', 'नचले वे विद सरोज खान', 'बूगी-वूगी', 'झलक दिखला जा' जैसे कई रियलिटी शो में बतौर जज बनकर नई प्रतिभाओं को सामने लाने में अपनी योगदान दिया।

सरोज का असली नाम निर्मला था

किशनचंद संधु और नोनी ​सिंह के घर जन्मी सरोज का असली नाम निर्मला नागपाल था। उनका जन्म 22 नवंबर, 1948 को हुआ था। पार्टीशन के बाद सरोज का परिवार पाकिस्तान से भारत आ गया था। सरोज ने करियर की शुरुआत महज 3 साल की उम्र में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट फिल्म 'नजराना' से की थी।

पहली फिल्म 'गीता मेरा नाम' थी

1974 में आई 'गीता मेरा नाम' पहली फिल्म थी, जिसमें सरोज खान ने कोरियोग्राफ किया था। इस फिल्म में साधना लीड रोल में थीं। उनका फिल्म 'मिस्टर इंडिया' में श्रीदेवी का हवा-हवाई (1987) और 1988 में आई 'तेजाब' में माधुरी पर फिल्माया एक दो तीन डांस नंबर बेहद हिट रहा। 1992 में आई फिल्म 'बेटा' का गीत धक-धक करने लगा और 2002 की 'देवदास' का माधुरी-ऐश्वर्या वाला डोला रे डोला उनके सबसे हिट डांस नंबर हैं।

खबरें और भी हैं...