खास बातचीत:मालविका राज ने कहा-'स्क्वाड' में स्नाइपर के किरदार के लिए एकदम आर्मी वालों की तरह मेरी ट्रेनिंग हुई

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: उमेश कुमार उपाध्याय
  • कॉपी लिंक

बॉबी राज-रीना राज की बेटी और मशहूर एक्टर जगदीश राज की नातिन मालविका राज बतौर हीरोइन 'स्क्वाड' फिल्म से मनोरंजन जगत में कदम रख रही हैं। हालांकि उन्होंने 'कभी खुशी कभी गम' में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट छोटी करीना का रोल निभाया था। खैर, डांस और एक्टिंग की ट्रेनिंग लेने वाली मालविका की यह पहली डेब्यू फिल्म एक्शन जोनर की है। उनसे बातचीत के प्रमुख अंश -

बतौर बाल कलाकार 'कभी खुशी कभी गम' में छोटी करीना का किरदार निभाने के बाद अब बतौर हीरोइन सिनेमा जगह में डेब्यू कर रही हैं, इस बीच क्या-क्या किया?
'कभी खुशी कभी गम' के बाद ही मुझे पता था कि एक्ट्रेस ही बनना है, इसके अलावा कुछ करना नहीं है। तब से पिक्चर के लिए डांस, एक्टिंग, डिक्शन की मेरी ट्रेनिंग शुरू हो गई। इसके साथ-साथ मॉडलिंग भी कर रही थी। बहुत सारे फैशन वीक, डिजाइनर के लिए रैंप वॉक आदि किया। मेरी मेहनत कभी बंद नहीं हुई। अब फाइनली मेरी पिक्चर 'स्क्वाड' आ रही है, उम्मीद है सब लोग इसे देखेंगे। इस फिल्म में बहुत मेहनत की है।

इन छह महीनों में एक्शन की क्या ट्रेनिंग ली? कैसे कैरेक्टर के लिए खुद को तैयार किया?
पहले तो मुझे एक्शन में एक पंच भी थ्रो करना नहीं आता था। लेकिन, कमबैक ट्रेनिंग सिखाया गया कि कैसे पंच मारते हैं, किक करते हैं, डिफेंस करते हैं। मेरा किरदार स्नाइपर का है। हमने असली गन के साथ शूट किए हैं। वैपेन ट्रेनिंग हुई थी कि कैसे गन को पकड़ना है, फिंगर कहां रखना है, गन लेकर चलते कैसे हैं? यह सब एकदम आर्मी ट्रेनिंग की तरह हमारी ट्रेनिंग हुई थी।

'स्क्वाड' की स्टोरी क्या है? किरदार के बारे में बताइए?
यह छह साल की बच्ची के ऊपर स्टोरी है। हम इंडिया के स्पेशल फोर्सेस उसे कैसे अपने देश लेकर आते हैं। पूरी मिशन पिक्चर है। इसमें ऐसा नहीं है कि सिर्फ हीरो ही एक्शन कर रहा है, इसमें उस बच्ची को वापस लाने के लिए हम हीरो-हीरोइन, दोनों एक्शन कर रहे हैं। मेरे किरदार का नाम आर्या है। आर्या बहुत स्ट्रांग, इंटेलिजेंस गर्ल है। वह स्नाइपर है। उसका विजन एकदम साफ है। आर्या का किरदार निभाते हुए मुझे बहुत मजा आया। उसमें वह सारी खूबियां हैं, जिसे खुद अपनाना चाहूंगी।

रिंगजिंग और पूजा बत्रा के साथ काम करने का एक्सप्रीरियंस कैसा रहा?
रिंगजिंग और मैं बचपन के दोस्त हैं। हम चार-पांच साल के थे, इतनी पुरानी दोस्ती है। मेरा बड़ा भाई (अनीता गुहा के बेटे) और रिंगजिंग सेम क्लास में थे। मैं भी उसी स्कूल में पढ़ती थी। हम छोटे थे, तब एक-दूसरे के बर्थडे पार्टी में जाते थे। बचपन की हमारी ढेर सारी फोटोज भी हैं, हम इतने क्लोज हैं। हमारा बांड तब से है। इसलिए एक-दूसरे के साथ बहुत कंफर्टेबल थे। सेट पर पहले दिन से ही हम दोनों मस्ती करते थे। पूजा बत्रा के साथ काम करने में बहुत मजा आया। मैंने आज तक उनकी जितनी पिक्चर देखी है, वे सबसे ज्यादा अच्छी 'स्क्वाड' में लगी हैं। उनका कैरेक्टर नंदिनी राजपूत का जो है, वह एकदम कांफिडेंस, द परफेक्ट वूमन लगी। वे बहुत हेल्पफुल हैं। मुझे किसी भी सीन में अगर परेशानी होती थी, तब सामने से आकर बताती थीं।

खबरें और भी हैं...