भास्कर इंटरव्यू:जनेऊधारी कविता विवाद पर मनोज मुंतशिर बोले- 27 फरवरी को चंद्रशेखर जी के जन्मोत्सव पर पूरी लिखकर रिलीज करूंगा

11 दिन पहलेलेखक: शशांक मणि पाण्डेय

बॉलीवुड लिरिसिस्ट और राइटर मनोज मुंतशिर के गाने रिलीज होते ही हिट हो जाते हैं। वहीं, आजकल उनके बोलते ही अल्फाज कॉन्ट्रोवर्सी से घिर जाते हैं। पिछले साल उन्होंने शहीद चंद्रशेखर के लिए दो लाइन लिखी थीं, मलते रह गए हाथ शिकारी...उड़ गया पंछी तोड़ पिटारी अंतिम गोली खुद को मारी..जियो तिवारी, जनेऊधारी..। उसके बाद मनोज की खूब आलोचना हुई। सोशल मीडिया पर भी उन्हें बहुत भला बुरा कहा गया। मनोज मुंतशिर ने दैनिक भास्कर से कविता के बारे की और पूरा करने का वादा भी किया पढ़िए अंश:

जियो तिवारी जनेऊधारी पर विवाद क्यों हुआ? क्या सरनेम लगाना गुनाह है?
बिल्कुल नहीं है, मैं फिर उन्हें तिवारी बोलूंगा। जब आपने याद दिलवा ही दिया है तो बता दूं अभी तक ये कविता पूरी नहीं थी। लेकिन आपने यह सवाल पूछा तो मैं कह रहा हूं कि 27 फरवरी को चंद्रशेखर आजाद जी का जन्मोत्सव है। उस दिन मैं इसको पूरा लिखकर रिलीज करूंगा।

मनोज शुक्ला से मुंतशिर बनने में इमोशनल पार्ट क्या रहा?
इसमें इमोशनल पार्ट बस इतना रहा कि ब्राह्मण को हमेशा द्विज कहा जाता रहा है। द्विज इसलिए कहते हैं क्योंकि उसके दो जन्म होते हैं। एक वह जो वो लेता है मां की कोख से दूसरा जो ज्ञान के गर्भ से जन्म लेता है। मेरा मुंतशिर बनना मेरे सपनों की कोख से जन्म लेना था। मैं मनोज शुक्ला हू्ं और अपने आपको बहुत गर्व से मनोज शुक्ला कहता हूं। मनोज मुंतशिर इसलिए हुआ क्योंकि मुझे अपनी कला को बहुत बड़े मंच पर ले जाना था।

जब पहली बार उर्दू किताब खरीदी घर वालों का क्या रिएक्शन था?
उर्दू किसी एक की जुबान नहीं है पूरे हिंदुस्तान की जुबान है। तो जब आप उर्दू सीखते हैं तो मुझे नहीं लगता कि आप कुछ ऐसा कर रहे हैं, जो नहीं करना चाहिए। यह इसी भारत से जन्मीं हुई भाषा है। मैंने उर्दू सीखी तो मेरे माता-पिता को इस बात की खुशी हुई कि बेटे ने एक और भाषा सीख रहा है इसमें क्या बुराई है।

'तेरी मिट्‌टी' गाने को अवॉर्ड नहीं मिला? अब भी मलाल है?
मेरे लिए ऑडियंस का प्यार ही अवॉर्ड है और यकीन मानिए इससे बड़ा कोई अवॉर्ड भी नहीं है। अब उस बारे मैं सोचता भी नहीं बस ऑडियंस का प्यार इसी तरह मिलता रहे यही सबसे अज्छा सम्मान है मेरे लिए।

पहला गाना जो लिखा उसके बोल क्या थे?
यार पहला गाना जो लिखा वह तो मुझे भी याद नहीं है। लेकिन जो पहला गाना हिट हुआ वो है तेरी गालियां वो मुझे याद है।

देश में रह-रह कर लोगों की देशभक्ति जागती?
अपने वतन से प्यार कीजिए क्योंकि प्यार करने के लिए बहुत सी चीज मिल जाएंगी, लेकिन इससे अच्छी और सच्ची चीज को नहीं मिलेगी। यह वो देश है जिसके बारे में मैने कहा है, वो देश मेरे तेरी शान पे सध के कोई धन है क्या तेरी धूल से बढ़के...।

खबरें और भी हैं...