पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Multiplexes Will Open With 50% Occupancy In Many States, Hollywood And Regional Films Will Be Set Up, Hindi Films Will Be Released After Maharashtra Opens

देश में आज से खुलेंगे मल्टीप्लेक्स:शुरुआत में हॉलीवुड-रीजनल फिल्में रिलीज होंगी, हिंदी फिल्मों के लिए अभी करना होगा इंतजार

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: हिरेन अंतानी

देश के कई राज्यों में आज से मल्टीप्लेक्स खुल जाएंगे। देश के प्रमुख मल्टीप्लेक्स चेन आईनॉक्स, पीवीआर और सिनेपोलिस ने अपने स्क्रीन री-ओपन करने का ऐलान कर दिया है। ज्यादातर जगहों पर 50% ऑक्यूपेसी के साथ मल्टीप्लेक्स खुलेंगे। फिलहाल बॉलीवुड की कोई बड़ी फिल्म रिलीज नहीं होगी। हॉलीवुड और रीजनल फिल्में ही दिखाई जाएंगी।

जब तक महाराष्ट्र में सिनेमाघर शुरू करने की मंजूरी नहीं मिलती, तब तक हिंदी फिल्मों की रिलीज के बारे में अनिश्चितता का माहौल बना रहेगा। अब अनलॉक के बाद पंजाब, हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात, झारखंड, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में 50% ऑक्यूपेसी के साथ सिनेमा खोलने की छूट मिल चुकी है। तेलंगाना में 100% ऑक्यूपेसी के साथ सिनेमा खोलने की इजाजत दी गई है।

फास्ट एंड फ्यूरियस से उम्मीदें

फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर अक्षय राठी ने बताया कि यह खुशी की बात है कि सारे मेजर मल्टीप्लेक्स चेन 30 जुलाई से शुरू हो रहे हैं। जिन राज्यों में इजाजत है, वहां सिंगल स्क्रीन भी शुरू हो चुके हैं। हॉलीवुड की बहुत सारी मूवीज़ सिर्फ मल्टीप्लेक्स में ही नहीं, सिंगल स्क्रीन में भी अच्छा बिज़नेस करती हैं। जैसे ‘फास्ट एंड फ्यूरियस’ फ्रेन्चाइजी हमेशा हिट रही है। ‘दी कंजुरिंग ’ भी हॉरर मूवी है और इसका भी सिंगल स्क्रीन में एक खास दर्शक वर्ग है।

अक्षय बताते हैं कि इसके अलावा पंजाब में सोनम बाजवा की पवाहा फिल्म रिलीज करने का ऐलान हो चुका है। तेलुगु में 3 फिल्में रिलीज हो रही हैं। गुजरात में भी तीन फिल्मों की रिलीज का अनाउंसमेंट हुआ है। उम्मीद है अगले 5-6 सप्ताह तक यह फिल्में अच्छा-खासा दर्शक वर्ग खींचेंगी।

112 शहरों में बुकिंग शुरू

ऑनलाइन टिकटिंग की प्रमुख कंपनी बुक माय शो ने भास्कर को बताया कि 29 जुलाई तक हम 112 शहरों में 264 सिनेमा हॉल्स के लिए टिकट बुक कर रहे हैं। 30 जुलाई से यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद है। अभी तेलुगु में दो नई फिल्मों की बुकिंग हो रही है। इसके अलावा हॉलीवुड की मोर्टल कॉम्बेट , गॉडजिला वर्सेस कॉन्ग और हिंदी की ‘राधे’ की री-रिलीज की भी बुकिंग हो रही है।

कब से बंद, कितना नुकसान

देश में सिनेमाघर मार्च 2020 में पहली लहर के दौरान बंद हुए थे। इसके बाद अक्टूबर 2020 में फिर से 50% क्षमता के साथ मल्टीप्लेक्स खोले गए। मार्च 2021 तक पुरानी बॉलीवुड फिल्मों, हॉलीवुड और रीजनल फिल्में चलती रहीं। इस दौरान सूरज पे मंगल भारी, रामप्रसाद की तेहरवीं जैसी कुछ फिल्में मल्टीप्लेक्स में रिलीज भी हुईं लेकिन उनका बिजनेस कुछ खास नहीं रहा। मार्च 2020 से अब तक बॉलीवुड को कोई 2000 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हो चुका है। दो दर्जन बड़े बजट की फिल्मों सहित सैंकड़ों मिडिल और लोअर बजट की फिल्में अटकी हैं। इस दौरान कई फिल्में डायरेक्ट ओटीटी पर आई हैं, इनमें गुलाबो सिताबो, सड़क-2, लूडो से लेकर हाल ही में आई तूफान, मिमी और हंगामा-2 भी शामिल है।

आईनॉक्स 10 राज्यों में 30% स्क्रीन शुरू करेगा

आइनॉक्स ने बताया कि वह दस राज्यों के चुने हुए शहरों में अपने स्क्रीन शुरू करने जा रहें है। आइनॉक्स के सूत्रों ने बताया कि अभी करीब 30% स्क्रीन ओपन करेंगे। पीवीआर ने बताया कि देश के जिन राज्यों में अनुमति है, वहां पीवीआर के स्क्रीन 30 जुलाई से शुरू हो जाएंगे। सारे स्टॉफ को वैक्सीन दी जा चुकी है। स्टॉफ और दर्शक दोनों को गाइड लाइन का पालन करना होगा। दर्शकों से ऑनलाइन टिकट और खाना बुक कराने को कहा गया है।

कार्निवल अभी इंतजार करेगा

कार्निवल मल्टीप्लेक्स चेन के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट कुणाल साहनी ने भास्कर को बताया कि हम शुक्रवार से ओपनिंग नहीं करेंगे। हम बड़ी मूवी की रिलीज का इंतजार कर रहे हैं। शायद 5 अगस्त या उसके बाद हम शुरुआत कर सकते हैं। अगर महाराष्ट्र में अनुमति नहीं मिलती है और कोई हिंदी मूवी की रिलीज डेट घोषित नहीं होती है तो भी हम अगस्त के पहले या दूसरे सप्ताह में हॉलीवुड और रीजनल मूवी से शुरुआत कर देंगे।

उत्तर भारत में री-रिलीज का ट्रेंड

दिल्ली और उत्तर भारत के सिने डिस्ट्रीब्यूटर करन भाटिया ने भास्कर को बताया कि कई सिंगल स्क्रीन ऑनर्स ने अभी ‘राधे’ फिल्म भी दिखानी शुरू कर दी है। कई ऑनर्स दूसरी छोटी हिंदी फिल्मों की री-रीलीज और रीजनल फिल्मों की रिलीज से शुरुआत कर रहे हैं।

करन ने बताया कि पंजाब में ज्यादातर सिनेमा 5 अगस्त से शुरू हो रहे हैं। बिहार में 10 अगस्त से सिनेमाघर खुल रहे हैं। उत्तर प्रदेश में आगरा, कानपुर, मुजफ्फरनगर, बरेली, इलाहाबाद, अलीगढ़ और मथुरा में सिनेमा घर ओपन हो चुके हैं। दूसरी और मेरठ, गोरखपुर और वाराणसी जैसे शहरों में आज भी सिनेमाघर बंद ही हैं। वह किसी बड़ी रिलीज का इंतजार कर रहे हैं।

चार बड़े राज्यों में अब भी इंतजार

इलारा कैपिटल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट करन तौरानी ने बताया कि अभी महाराष्ट्र, उड़ीसा, बंगाल, तमिलनाडु जैसे राज्यों में सिनेमाघर शुरू करने की इजाजत नहीं है। इन सब राज्यों को मिलाकर हिंदी फिल्मों का 32% शेयर है। इसमें से अकेले महाराष्ट्र का ही 25% शेयर है। जब तक महाराष्ट्र में सिनेमाघर शुरू नहीं होते, तब तक हिंदी फिल्म रिलीज की उम्मीद कम है।

हिंदी फिल्मों को महाराष्ट्र का इंतजार क्यों?

करन ने बताया कि महाराष्ट्र में अगर 50% ऑक्यूपेसी से भी सिनेमा हॉल खुलते हैं तो भी बड़ी फिल्मों के लिए फायदा होगा। अनुमान है कि अगर ‘बेल बॉटम’ अगस्त के अंत तक रिलीज हो जाती है, तो उसका अनुमानित कलेक्शन 60 से 75 करोड़ रह सकता है। अगर महाराष्ट्र के बिना यह फिल्म रिलीज होगी तो यह कलेक्शन 20% तक गिर सकता है।

अभी मल्टीप्लेक्स को ज्यादा फायदा

करन ने यह भी बताया के देश के उत्तर और पश्चिमी राज्यों के सिंगल स्क्रीन सिनेमा ऑनर्स राज्य सरकारों से कुछ रियायतों की उम्मीद रख रहे हैं। वह मल्टीप्लेक्स जितना जल्दी अपना सिनेमा ओपन नहीं करेंगे इसलिए अभी मल्टीप्लेक्स कलेक्शन के हिसाब से फायदा हो सकता है। इस हिसाब से अभी हॉलीवुड की फिल्मों से शुरुआत कर देने की स्ट्रैटजी सही है।

खबरें और भी हैं...