इलैयाराजा:1400 फिल्मों में संगीत दिया, 20 हजार स्टेज शो, 7 हजार गाने कंपोज करने वाले दुनिया के 9वें सबसे बेहतरीन संगीतकार

2 महीने पहलेलेखक: प्रियंका जोशी
  • कॉपी लिंक

आज मशहूर संगीतकार इलैयाराजा 79 साल के हो चुके हैं। इलैयाराजा साउथ फिल्म इंडस्ट्री का जाना माना नाम हैं। उन्होंने अपने करियर में 7 हजार गाने कंपोज किए हैं और 20 हजार कांसर्ट में परफॉर्म किया है। इंडियन फोक म्यूजिक और वेस्टर्न म्यूजिक को मिलाकर इलैया राजा ने फिल्म इंडस्ट्री को बेहतरीन म्यूजिक दिया है। इलैया राजा को उनके बेहतरीन संगीत के लिए पांच नेशनल अवॉर्ड मिल चुके हैं। साथ ही एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में उनके योगदान के लिए उन्हें भारत सरकार ने पद्म भूषण अवॉर्ड से भी सम्मानित किया है। 2013 में हुए सर्वे के अनुसार वो भारतीय सिनेमा के ऑल टाइम बेहतरीन संगीतकार में से एक माने गए। साथ ही अमेरिकन वर्ल्ड सिनेमा ने इलैया राजा को 25 बेहतरीन म्यूजिशियन में 9वां स्थान दिया है। तो चलिए, आज हम इलैयाराजा के जन्मदिन पर उनके 79 सालों के सफर को जानते हैं।

दलित फैमिली में हुआ जन्म

इलैयाराजा का जन्म 2 जून 1943 को तमिलनाडु में एक दलित फैमिली में हुआ था। उनका नामकरण का किस्सा भी बेहद दिलचस्प है। इलैया राजा का नाम उनके पिता ने रजईया रखा था पर गांव के लोग उन्हें रासयया बुलाते थे। जिसके बाद वो संगीत की शिक्षा लेने के लिए धनराज मास्टर के पास पहुंचे जहां मास्टर ने उनका नाम राजा रख दिया। इसके बाद उन्होंने अपने करियर की पहली फिल्म अन्नकिली मिली। इस फिल्म में उन्हें प्रोड्यूसर पंचू अरुणाचलम के साथ काम करने का मौका मिला और यहीं पंचू ने उनके नाम राजा के आगे इलैया जोड़ दिया। दरअसल तमिल में इलैया का मतलब छोटा होता है और राजा नाम से फिल्म इंडस्ट्री में एक और म्यूजिक डायरेक्टर ए.एम. राजा मौजूद थे। जिसके चलते राजा का नाम इलैया राजा पड़ गया।

14 की उम्र में तमिल फोक म्यूजिक को किया एक्सपोज

इलैया राजा गांव में पले बड़े थे इसलिए उन्हें गांव के वातावरण और म्यूजिक का बखूबी ज्ञान था। बचपन से ही उनकी संगीत में बहुत रुचि रहती थी। लिहाजा उन्होंने बचपन में ही संगीत की शिक्षा ली थी। मात्र 14 साल की उम्र में ही इलैया राजा ने रुरल फोक संगीत को एक्सपोज करना शुरू कर दिया था। उन्होंने पवलर ब्रदर्स ग्रुप ज्वाइन कर लिया था जो एक ट्रेवलिंग म्यूजिकल ग्रुप था।

लंदन के कॉलेज में मिला गोल्ड मेडल

इलैया राजा ने लंदन के ट्रिनिटी कॉलेज से म्यूजिक का कोर्स किया है। जहां पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्हें उनकी बेहतरीन इंस्ट्रूमेंटल परफॉर्मेंस के लिए गोल्ड मेडल से नवाजा गया था। उन्होंने टी.वी.गोपाल से कर्नाटक म्यूजिक की शिक्षा ली है।

गिटारिस्ट के तौर पर शुरू किया करियर

इलैयाराजा ने गिटारिस्ट के तौर पर करियर की शुरुआत की थी। लंदन से लौटने के बाद उन्होंने एक बैंड के साथ सेशन गिटारिस्ट के तौर पर काम करना शुरू कर दिया था। ये बैंड म्यूजिक कंपोजर और डायरेक्टर साहिल चौधरी का था। यहीं पर साहिल चौधरी ने इलैया राजा को कह दिया था कि आने वाले समय में वो बेस्ट म्यूजिक कंपोजर बनने वाले हैं।

200 कन्नड़ फिल्मों में दिया म्यूजिक

इलैया राजा अबतक अच्छे म्यूजिशियन माने जाने लगे थे। उन्होंने इसके बाद कंपोजर जी.के.वैंकटेश के पास असिसटेंट म्यूजिक कंपोजर को तौर पर काम करना शुरू कर दिया। दोनों की जोड़ी ने लगभग 200 कन्नड़ फिल्मों में साथ में काम किया। ऐसे में इलैया को जब भी समय मिलता वो सेशन म्यूजिक के साथ भी म्यूजिक कंपोज करने लगे। जी.के वैंकटेश के साथ इलैया राजा ने म्यूजिक कंपोजिशन के बारे में बहुत कुछ सीखा।

कंपोजर बने इलैया

इलैया राजा को 1975 में फिल्म प्रोड्यूसर पंजू अरुणाचलम ने अपनी फिल्म अन्नाकली के लिए म्यूजिक कंपोज करने के लिए दिया। इस फिल्म में इलैया ने मॉडर्न और तमिल फोक म्यूजिक को मिलाकर बेहतरीन म्यूजिक बनाया। जिसे लोगों का खूब प्यार मिला और इलैया को बेहतरीन म्यूजिक कंपोजर के रुप में पहचान।

कविताओं में धुन

इलैयाराजा ने 1980 के दौर में तमिल कवियों के साथ मिलकर उनकी कविता के लिए म्यूजिक तैयार करना शुरू कर दिया था और फिल्मकारों को उनके कंपोजिशन बेहद पसंद भी आते थे। उन्होंने गुलजार, आर. बाल्की, मणि रत्नम, फाजिल, शंकर नाग के साथ भी कई फिल्मों में काम किया है।

कंप्यूटर से गाना रिकॉर्ड करने वाले पहले भारतीय

इलैया राजा पहले भारतीय हैं जिन्होंने कंप्यूटर से गाने रिकॉर्ड करना शुरू किया था। 1986 में उन्होंने फिल्म विक्रम के लिए म्यूजिक कंपोज किया था। साथ ही इलैया राजा वेस्टर्न क्लॉसिक म्यूजिक हार्मोनी को भारतीय कंपोजिशन में यूज करने वाले पहले भारतीय थे।

अमेरिका ने दुनिया के 25 बेहतरीन कंपोजर में से एक माना

भारतीय सिनेमा के 100 साल पूरे होने पर CNN-IBN द्वारा किए गए सर्वे के अनुसार इलैया राजा को ऑल टाइम ग्रेटेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर के लिए सबसे ज्यादा वोट दिए गए थे। वहीं इलैया को अमेरिकी वर्ल्ड सिनेमा पोर्टल 'टेस्ट ऑफ सिनेमा' ने दुनिया के 25 सबसे बेहतरीन म्यूजिक कंपोजर में 9वें नंबर पर जगह दी है। इस लिस्ट में शामिल होने वाले इलैया राजा पहले भारतीय म्यूजिक कंपोजर हैं।

5 नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित

इलैया राजा को 3 बेस्ट म्यूजिक डायरेक्शन और 2 बेस्ट बैकग्राउंड म्यूजिक के लिए नेशनल अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है। वहीं इंटरटेनमेंट जगत में उनके योगदान के लिए भारत सरकार ने 2010 में पद्म भूषण और 2018 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया है। 2012 में उन्हें संगीत नाटक अकादमी अवॉर्ड से भी नवाजा जा चुका है।