67वें नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स:'मणिकर्णिका' और 'पंगा' के लिए कंगना बेस्ट एक्ट्रेस; मनोज वाजपेयी-धनुष को बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड

एक महीने पहले

दिल्ली में सोमवार को 67वें नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स दिए गए। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने विजेताओं को पुरस्कार दिए। कंगना रनोट को उनकी फिल्म 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' और 'पंगा' में उनकी परफॉरमेंस के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड दिया गया। वहीं, मनोज वाजपेयी को 'भोंसले' और धनुष को 'असुरन' के लिए बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड जॉइंट तौर पर दिया गया है।

कंगना ने शेयर की फोटो
कंगना अवॉर्ड मिलने से उत्साहित हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर अवॉर्ड रिसीव करने की तस्वीरें शेयर की हैं। कंगना ने लिखा, 'आज मैं मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झांसी और पंगा के लिए जॉइंट नेशनल अवॉर्ड लेने जा रही हूं। मैंने मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी को-डायरेक्ट भी की थी। इन फिल्मों की टीमों के लिए मैं अपना आभार व्यक्त करती हूं। इससे पहले कंगना ने अपना एक्साइटमेंट शेयर करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा था, आज भारत के सर्वोच्च सम्मान में से एक को पाने के लिए तैयार हूं। नेशनल अवॉर्ड। यह मेरा चौथा नेशनल अवॉर्ड है'।

कंगना अवॉर्ड सेरेमनी के दौरान रेड और गोल्डन सिल्क साड़ी और हैवी गोल्ड ज्वेलरी पहनी दिखाई दीं। कंगना ने अपने लुक को बिंदी और बालों में गजरे के साथ कम्प्लीट किया।

'फैशन' के लिए जीता था पहला नेशनल अवॉर्ड
बता दें कि कंगना ने पहला नेशनल अवॉर्ड फिल्म फैशन के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए 2008 में जीता था। 2014 में उन्हें क्वीन के लिए दूसरा नेशनल अवॉर्ड मिला था जो कि बेस्ट एक्ट्रेस के लिए था। 2015 में तनु वेड्स मनु के लिए भी कंगना को बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड मिला था।

'छिछोरे' बनी बेस्ट फिल्म
नितेश तिवारी के निर्देशन में बनी सुशांत सिंह राजपूत, श्रद्धा कपूर स्टारर 'छिछोरे' को बेस्ट हिंदी फिल्म चुना गया। मनोज बाजपेयी को 'भोंसले' और धनुष को असुरन' बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिया गया है।

विजेताओं की पूरी लिस्ट:-

कैटेगरीविजेताअन्य
बेस्ट फीचर फिल्म (हिंदी)छिछोरेडायरेक्टर- नितेश तिवारी
बेस्ट एक्ट्रेसकंगना रनोटफिल्म- मणिकर्णिका, पंगा
बेस्ट एक्टरमनोज बाजपेयी, धनुष (तेलुगु)फिल्में क्रमशः भोंसले, असुरन (तेलुगु)
बेस्ट सपोर्टिंग एक्टरविजय सेतुपतिफिल्म- सुपर डीलक्स
बेस्ट सिंगरबी प्राकगीत- तेरी मिटटी (केसरी)
बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेसपल्लवी जोशीफिल्म- द ताशकंद फाइल्स
बेस्ट एडिटिंगफिल्म- जर्सी (तेलुगु)
बेस्ट ऑटोबायोग्राफीलेवदुहखासी
बेस्ट स्क्रीनप्ले अडॉप्टेडगुमनामी
बेस्ट सिनेमैटोग्राफीजलीकट्टू
बेस्ट फीमेल सिंगरसावनी रविन्द्रगीत- बार्दो (मराठी)
बेस्ट फिल्म क्रिटिकसोहिनी चट्टोपाध्याय
मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेटसिक्किम
बेस्ट नॉन फीचर फिल्मवाइल्ड कर्नाटक
बेस्ट डायरेक्शनसंजय पूरण सिंह चौहानफिल्म- बहत्तर हूरें
बेस्ट चिल्ड्रेन फिल्मकस्तूरी (हिंदी)
बेस्ट डायलॉग्स राइटरफिल्म- द ताशकंद फाइल्स
बेस्ट ओरिजिनल स्क्रीनप्लेफिल्म- ज्येष्ठोपुत्री (बांग्ला)
बेस्ट कोरियोग्राफीफिल्म- महर्षि (तेलुगु)
बेस्ट स्टंटफिल्म- अवाने श्रीमाननारायण (कन्नड़)
बेस्ट बुक ऑन सिनेमाअ गांधियन अफेयर : इंडियाज क्यूरियस पोर्ट्रेयल ऑफ लव इन सिनेमाऑथर- संजय सूरी
स्पेशल मेंशन अवॉर्ड (फिल्म)बिरयानी (मलयालम), जोनाकी पोरुआ (असमी), लता भगवान कारे (मराठी), पिकासो (मराठी)
बेस्ट फिल्म ऑन एनवायरनमेंट कंसर्वेशनटर बुरिअल
इंदिरा गांधी अवॉर्ड फॉर बेस्ट डेब्यू डायरेक्टरमथुकुत्टी ज़ेवियरहेलन
बेस्ट पॉपुलर फिल्म प्रोवाइडिंग होलसम एंटरटेनमेंमहर्षि (तेलुगु)
बेस्ट फिल्म ऑन नेशनल इंटीग्रेशनताजमहल (मराठी)
बेस्ट फिल्म ऑन सोशल इश्यूजआनंदी गोपाल (मराठी)
बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्टनागा विशाल,फिल्म- केडी (तमिल)

ये अवॉर्ड्स एक साल की देरी से घोषित हुए हैं, क्योंकि पिछले साल कोरोना महामारी के चलते ऐसा नहीं हो सका था। ये अवॉर्ड्स केंद्र सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले फिल्म फेस्टिवल निदेशालय द्वारा दिए जाते हैं।

अलग-अलग भाषाओं में इन फिल्मों को मिले बेस्ट फिल्मों के अवॉर्ड

फिल्मभाषा
पिंगारातूलू
केंजिरापनिया
अनुरूवडमिशिंग
लेवडूखासी
छोरियां छोरों से कम नहींहरियाणवी
भूरन दी मेजछत्तीसगढ़ी
जर्सीतेलुगू
असुरनतमिल
रब दा रेडियोपंजाबी
साला बुराड़ बदला और कलिया अतितुओड़िया फिल्म
इगीकोनामणिपुरी
कलानोत्तममलयालम
बारडोमराठी
काजरोकोंकणी
अक्षीकन्नड़
छिछोरेहिंदी
गुमनामीबंगाली
रोनुआ हू नेवर सरंडर्सअसमी

ये पुरस्कार पारंपरिक रूप से राष्ट्रपति के हाथों वितरित किए जाते हैं। हालांकि 66वें पुरस्कार उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने दिए थे, जबकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विजेताओं के साथ हाई टी की मेजबानी की थी।

रजनीकांत को मिला सम्मान
सुपरस्टार रजनीकांत को दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया। इस दौरान उन्होंने अपने दोस्त और बस ड्राइवर राजबहादुर को धन्यवाद कहा जिनकी वजह से वो फिल्मों में आए थे। रजनीकांत को सम्मान मिलने की खुशी में उनकी बेटी ऐश्वर्या और दामाद धनुष तालियां बजाते दिखे। इसके अलावा रजनीकांत को सबने स्टैंडिंग ओवेशन भी दिया।

खबरें और भी हैं...