ड्रग केस:नवाब मलिक के आरोपों पर समीर वानखेड़े बोले- मैं केवल अपने कर्तव्य को निभा रहा हूं..सही समय पर उचित जवाब दूंगा

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक के आरोपों के बाद नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) के जोनल डायरेक्‍टर समीर वानखेड़े ने उन्हें जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि मैं एक बहुत छोटा अधिकारी हूं जो केवल अपने कर्तव्य को निभा रहा हूं। साथ ही उन्होंने नवाब मलिक द्वारा लगाए गए आरोपों को खारिज भी किया। वानखेड़े ने इस बारे में बात करते हुए कहा, "मैं इस सब की कड़ी निंदा करता हूं। मुझे नहीं पता कि मंत्री यह सब क्यों कर रहे हैं। केस सब-जस्टिस है। मैं सही समय पर उचित जवाब दूंगा।" साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वो एक गवर्मेंट ऑफिसर हैं, इसलिए वो अपने सीनियर्स की सलाह लेंगे और फिर कानूनी रूप से मलिक के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

वानखेड़े ने बताई मालदीव जाने की वजह

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर मालदीव और दुबई में जाकर बॉलीवुड सेलिब्रिटीज से हफ्ता वसूली का भी गंभीर आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि कोरोनाकाल में जब पूरा बॉलीवुड मालदीव में था तब वानखेड़े भी वहां गए थे। इस पर जवाब देते हुए समीर ने कहा, "मैं कभी दुबई नहीं गया हूं। नवाब मलिक चाहें तो मेरा पासपोर्ट चेक करवा सकते हैं। मैं मालदीप जरूर गया था, लेकिन इसके लिए मैंने बाकायदा सरकार से छुट्टी ली थी और मैं अपने परिवार के साथ वहां गया था। अगर वो उसे जबरन वसूली कहते हैं, तो यह मुझे स्वीकार्य नहीं है।"

वानखेड़े ने कहा अगर मलिक मुझे जेल भिजवाना चाहते हैं तो मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं

नवाब मलिक ने आगे कहा कि एक साल के अंदर समीर वानखेड़े की नौकरी चली जाएगी। उनके खिलाफ मेरे पास कई अहम सबूत हैं, जिन्हें मैं आने वाले समय में पेश करूंगा। उसके बाद समीर वानखेड़े एक दिन भी नौकरी नहीं कर पाएंगे और उन्हें जेल जाना पड़ेगा। इस पर वानखेड़े ने कहते हैं, "मैं एक छोटा सा सरकारी मुलाजिम हूं, अगर ड्रग्स कारोबारियों, उसका सेवन करने वालों और बेचने वालों पर कार्रवाई करने से नवाब मलिक इतने आहत हैं और वो मुझे जेल भिजवाना चाहते हैं तो मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।"

मलिक NCB पर लगातार लगा रहे आरोप

नवाब मलिक लगातार NCB के खिलाफ खास कर वानखेड़े के खिलाफ आरोप लगा रहे हैं। पहले मलिक ने क्रूड ड्रग्स पार्टी मामले में आर्यन खान को फर्जी ढंग से गिरफ्तार किए जाने का आरोप लगाते हुए इस केस के गवाह किरण गोसावी को वांटेड और मनीष भानुशाली के भाजपा कार्यकर्ता होने का खुलासा किया था।

पार्टी के तीन दिन पहले NCB को मिली थी सूचना

मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर NCB द्वारा की गई छापेमारी में हशीश, एमडी, कोकीन की भारी मात्रा पाई गई है। तीन दिन पहले NCB को इस ड्रग्स पार्टी की सूचना मिली थी। यह पता चला था कि इस पार्टी में शामिल होने के लिए 80 हजार रुपए से लेकर लाखों रुपए तक वसूले गए थे। इसी सूचना के आधार पर पार्टी में शामिल होने के बहाने NCB के कुछ अधिकारी क्रूज में गए। अंदर का नजारा देखने के बाद इस टीम ने बाहर बैठे अधिकारियों को सूचना दी। इसके बाद NCB टीम ने छापेमारी को अंजाम दिया।

खबरें और भी हैं...