पर्सनल लाइफ:ऋषि कपूर की मौत के साल भर बाद भी अकेली रहती हैं नीतू, बच्चों से कहा- दिल में रहो सिर पर मत चढ़ो

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नीतू कपूर साल भर से अकेले ही रह रही हैं। ऋषि कपूर की मौत के बाद वे न तो बेटी रिद्धिमा के पास रहीं और न ही बेटे रणबीर के साथ। अब उन्होंने इसके पीछे की वजह का खुलासा किया है। नीतू का कहना है कि उन्हें अपनी प्राइवेसी पसंद है। इसलिए ऋषि के जाने के बाद भी वे बच्चों के पास नहीं गईं।

बच्चों से कहा- दिल में रहो सिर पर मत चढ़ो
नीतू ने एक इंटरव्यू में कहा कि वे अपने बच्चों को उनकी लाइफ में ही बिजी रहने देना चाहती हैं। नीतू कहती हैं - मेरा कहना है मेरे दिल में रहो। मेरे सिर पर मत चढ़ो। जब महामारी के दौरान जब रिद्धिमा मेरे साथ एक साल रही तब मैं बहुत तनाव में थी, क्योंकि वह वापस नहीं जा सकी। मैं बैचेन हो जाती थी, मैं उससे कहती थी तुम जाओ, भरत अकेला है। मैं वाकई उसे दूर भेज रही थी, क्योंकि मुझे मेरी प्राइवेसी पसंद है और मैं ऐसा ही जीवन जीने की आदी हूं।

बच्चों ने ही बनाया अकेले रहने के काबिल
नीतू ने बताया कि जब रिद्धिमा लंदन अपनी पढ़ाई के लिए गई थी तो वे कई दिन तक रोती रहीं। जब भी कोई मिलने आता तो मैं रोने लगती थी। लेकिन जब रणबीर गया तो मैं नहीं रोई। उसने कहा- मां तुम मुझे प्यार नहीं करतीं। लेकिन ऐसा नहीं था, तब तक मैं अपनी लाइफ में बच्चे के बिना रहना सीख गई थी। इसलिए जब दोबारा यही हुआ तो मैं तैयार थी। मेरा मानना है कि जब वे विदेश में थे तो मैं अकेले रहना सीख गई थी। ​​​​​​​

नीतू का कहना है कि मेरे बच्चों को अपने जीवन में आगे बढ़ना है। जब वे आते हैं तो मैं खुश हो जाती हूं, लेकिन मैं चाहती हूं कि वे अपने घर वापस जाएं और बस जाएं। मैं सिर्फ एक बात कहती हूं, मुझसे हर दिन न मिलें, लेकिन मुझसे जुड़े रहें। उन्होंने कहा- मैं नहीं चाहती कि वे हर समय मेरे आसपास रहें। मैं इस तरह से बहुत स्वतंत्र हूं। मुझे अपने इसी जीवन से प्यार है।

नीतू ने फिल्मों में की वापसी
नीतू ने ऋषि के जाने के बाद फिल्मों में दोबारा काम करना शुरू किया है। वे जुग जुग जियो में नजर आएंगी। जिसमें उनके साथ अनिल कपूर, किआरा आडवाणी, वरुण धवन भी होंगे।