मुंबई क्रूज ड्रग केस:आर्यन-अरबाज के कथित ड्रग सप्लायर शिवराज के खिलाफ नहीं मिला कोई सबूत, NDPS कोर्ट ने दी जमानत

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान से जुड़े मुंबई क्रूज ड्रग्स केस में सुनवाई करते हुए स्पेशल NDPS कोर्ट ने अब उस व्यक्ति को जमानत दे दी है, जिस पर कथित तौर पर आर्यन और उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट को ड्रग्स सप्लाई करने का आरोप लगाया गया था। इस मामले में कोर्ट ने कहा है कि ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है कि कथित सप्लायर ने आर्यन और अरबाज ​​​​​​​दोनों को क्रूज पर ड्रग्स सप्लाई की थी।

NDPS कोर्ट के जज वीवी पाटिल ने इस मामले पर कहा, "प्रॉसिक्यूशन की दलील नहीं मानी जा सकती कि याचिकाकर्ता एक ड्रग पेडलर है और उसने अरबाज मर्चेंट को ड्रग्स सप्लाई की थी।" नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने 9 अक्टूबर को मुंबई के सांताक्रूज के रहने वाले 33 साल के शिवराज हरिजन को अरबाज मर्चेंट के कथित बयान के बाद गिरफ्तार किया था। NCB ने यह भी दावा किया था कि शिवराज के पास से 62 ग्राम चरस भी बरामद हुई थी।

शिवराज के पास से मिला ड्रग्स मात्रा में बेहद कम था
NDPS कोर्ट ने सुनवाई में यह भी कहा कि जो सबूत पेश किए गए हैं उनसे ऐसा नहीं लगता है कि कोई साजिश रची गई है, जैसा कि NCB आरोप लगा रही है। शिवराज के वकील संदीप शेरखने ने कहा कि NCB का पंचनामा झूठा और गलतबयानी पेश करने वाला है, जिस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि शिवराज के पास से मिला ड्रग्स मात्रा में बेहद कम था।

शिवराज को भी रिहा कर दिया जाना चाहिए
NDPS कोर्ट ने कहा कि NCB को दिए गए आर्यन और अरबाज के बयानों के अलावा ऐसा कोई सबूत सामने नहीं आया है, जिससे यह साबित हो सके कि शिवराज हरिजन एक ड्रग पेडलर है। साथ ही 62 ग्राम ड्रग्स की मात्रा नॉन कमर्शल है, जिसके आधार पर उन पर NDPS एक्ट का कठोर सेक्शन 37 लागू नहीं किया जा सकता। यह सेक्शन तभी लागू किया जा सकता है जब किसी व्यक्ति के पास से भारी मात्रा में ड्रग्स बरामद होता है। कोर्ट ने कहा कि आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा को पहले ही बॉम्बे हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है, इसलिए शिवराज हरिजन को भी रिहा कर दिया जाना चाहिए।

कोर्ट ने 20 नवंबर को सार्वजनिक किया था आर्यन का बेल ऑर्डर
क्रूज ड्रग्स केस में 26 दिन हिरासत में रहे आर्यन खान के खिलाफ नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के पास कोई सबूत ही नहीं था। बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन को बॉम्बे हाईकोर्ट से मिली बेल का डिटेल्ड ऑर्डर 20 नवम्बर को सार्वजनिक कर दिया गया। कोर्ट ने 14 पन्नों के विस्तृत आदेश में NCB की सारी थ्योरी की धज्जियां उड़ा दी हैं।

बॉम्बे हाईकोर्ट ने माना है कि आर्यन खान ने दूसरे अभियुक्तों के साथ मिलकर ड्रग सेवन के लिए कोई साजिश रचाई हो, ऐसा कोई ठोस सबूत नहीं है। आर्यन खान की वाट्सएप चैट को भी कोई खास सबूत नहीं मान सकते।