सोनू से सवाल:पद्मश्री पुरुस्कार न मिलने पर सोनू सूद ने दिया रिएक्शन बोले- यह सोचने वाला प्रश्न है

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में पद्म पुरस्कारों की चर्चा है। उससे ज्यादा कंगना के बयान के बाद उनसे वापस लेने की मांग चल रही है। इस बीच सोनू सूद ने इस मुद्दे पर अपना रिएक्शन दिया है। सोनू से जब अभिनेत्री कंगना रनोट को पद्मश्री पुरस्कार मिलने और इस अवॉर्ड के लिए उनके नाम का विचार न किए जाने पर बोले 'यह सोचने वाला प्रश्न है'। उन्होंने कहा कि उनका समाजसेवा का काम हमेशा जारी रहेगा। सोनू ने 22 हजार छात्रों की मदद की है।

आप और कांग्रेस दोनो अच्छी पार्टी हैं
सक्रिय राजनीति में आने पर सोनू सूद ने कहा, 'मैं कोई भी प्लेटफॉर्म ज्वॉइन कर सकता हूं जहां टांग खिचाई ना की जाती हो और आपको काम करने की आजादी मिले। यह प्लेटफॉर्म राजनीति भी हो सकती है और गैरराजनीतिक भी। हमने 22 हजार छात्रों को पढ़ाई के लिए स्पॉन्सर किया है।' लंबे समय से चल रहे किसान आंदोलन पर सोनू ने कहा कि, मैं किसानों के सपोर्ट में हूं, उन्हें उनका हक मिलना चाहिए। हम उनकी बदौलत खाना खाते हैं। सोनू ने किसान आंदोलन की शुरुआत से ही उनके सपोर्ट में हैं। हालांकि उन्होंने सरकार के खिलाफ भी कभी कुछ नहीं कहा इसके अलावा उन्होंने अपनी बहन मालविका को सपोर्ट करने की भी अपील की है। उन्होंने कहा कि उनकी बहन राजनीति में आ सकती हैं सोनू सूद ने कहा कि AAP और कांग्रेस दोनों को अच्छी पार्टी बताई है।

वह परीक्षा का समय था
कुछ समय पहले सोनू सूद के घर इनकम टैक्स (IT) की रेड पड़ी थी। उनपर पैसों के घोटाले का आरोप लगाया गया था। उन्होंने आईटी की जांच में अधिकारियों का पूरा सहयोग किया था और अपने आप को सही बताया था। अब उन्होंने इसपर अपने रिएक्शन में कहा कि, 'वह परीक्षा का समय था जिसका लोगों के लिए मेरे काम पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हम आगे भी मरीजों के लिए फ्री डायलिसिस करते रहेंगे।