रोल के लिए:गैंगस्टर बने पार्थ समथान एक दिन में 25-30 सिगरेट पीते थे, सीरीज खत्म होने के बाद लत छुड़वाना हो गया था मुश्किल

2 वर्ष पहलेलेखक: किरण जैन
  • कॉपी लिंक

पार्थ समथान जल्द ही एकता कपूर की सीरीज 'मैं हीरो बोल रहा हूं' में गैंगस्टर के किरदार में नजर आएंगे। हाल ही में दैनिक भास्कर से बातचीत के दौरान पार्थ ने बताया कि कैसे वे अपने किरदार के लिए दिन में 25-30 सिगरेट पीते थे, जिसकी उन्हें लत हो गई थी। बातचीत के दौरान, उन्होंने अपने पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ से जुड़ी कुछ और बातें भी शेयर की। आइये जानते है क्या कहा उन्होंने:

चॉकलेट बॉय के इमेज को तोडना चाहता था
बतौर एक्टर, मैं चॉकलेट बॉय की इमेज को तोड़ना चाहता था और इसलिए इस गैंगस्टर (नवाब) के किरदार के लिए मैंने तुरंत हामी भर दी। मैं कुछ नया करना चाहता था। आम तौर पर मुझे एक किरदार को समझने के लिए एक महीना लगता है लेकिन दुर्भाग्यवश मैं 'कसौटी जिंदगी के 2' के साथ-साथ इस सीरीज की शूटिंग कर रहा था। एक दिन में दो अलग-अलग किरदार को निभाना काफी मुश्किल लगता था लेकिन अब स्थिति अलग है। कोविड के बाद, मैंने अपना पूरा वक्त इस सीरीज को दिया जिसे मैंने काफी एन्जॉय किया।

8 महीनों तक अपने बाल नहीं कटवाए थे
मेरे डायरेक्टर को एक पतला-दुबला गैंगस्टर चाहिए था क्योंकि ये किरदार कोई मारपीट वगैरह नहीं करता। ये अपने दिमाग से पूरा खेल खेलता है। यही वजह रही कि मैंने अपने फिजिकल ट्रांसफॉर्मेशन में ज्यादा मेहनत नहीं की। हालांकि, मैंने 8 महीनों तक अपने बाल नहीं कटवाए थे, जोकि बहुत ही हेक्टिक था। जैसे ही शो खत्म हुआ, दो दिन के अंदर मैंने अपने बाल कटवा दिए। यकीन मानिये, पिछले एक साल से जो मेरे नए दोस्त बने हैं वो शुरूआत में मुझे पहचान भी नहीं पाए। क्योंकि उन्होंने हमेशा मुझे लंबे बालों में ही देखा है।

दिन में तक़रीबन 25-30 सिगरेट पी लेता
मैंने जिंदगी में कभी सिगरेट नहीं पी थी लेकिन इस सीरीज के लिए पीनी पड़ी। किरदार के लिए मुझे हार्ड कोर स्मोकर बनना था, मेरे ज्यादातर सीन में मैं सिगरेट पीता नजर आता हूं। मैं एक दिन में तकरीबन 25-30 सिगरेट पी लेता था क्योंकि हर सीन में 5-6 सिगरेट हो ही जाते। सबसे मुश्किल बात थी सीरीज खत्म होने के बाद ये बुरी लत छुड़वाना। अब समझ आ रहा है कि कैसे लोग स्मोकिंग से एडिक्टेड हो जाते हैं। मैं खुशनसीब हूं कि मेरे आसपास मेरे फैमिली मेंबर्स और दोस्त थे जिन्होंने मेरी मदद की इससे बाहर निकलने के लिए।

कहीं भी जाऊं, कंट्रोवर्सी मेरे साथ चलती है
कंट्रोवर्सी से जितना भी दूर रहने की कोशिश करता हूं वो उतना ही मेरे पीछे भागी चली आती है। मुझे ऐसा लगता है की मैं इकलौता एक्टर हूं जिसका कंट्रोवर्सी के साथ रिलेशनशिप है। कहीं भी जाऊं, कंट्रोवर्सी मेरे साथ चलती है। जब मुझे कोविड हुआ था तब भी मुझे लेकर काफी कंट्रोवर्सी हुई थी। मैंने बीएमसी का हर प्रोटोकॉल फॉलो किया था इसके बावजूद मुझ पर आरोप लगाया गया कि मैंने उनके नियम तोड़े। जिसमें बिलकुल सच्चाई नहीं थी। मेरी रिपोर्ट्स नेगेटिव आ चुकी थी, मेरे डॉक्टर्स ने मुझे बाहर जाने की सलाह दी थी और मैंने वही किया। मैं 14 दिन के बजाए 17 दिन के बाद घर से बाहर निकला था और लोगों ने उसका तमाशा बना दिया। हालांकि मुझे कोई भी अफसोस नहीं है।

पहचान के साथ ज़िम्मेदारी भी बढ़ गई
'कसौटी' से एक अलग ही पहचान मिल गई और इसी पहचान के साथ ज़िम्मेदारी भी बढ़ गई। आपके फैंस अब आपसे ज्यादा अच्छे काम की उम्मीद करते हैं। वे आपके पुराने काम से तुलना करते हैं। ये काफी चैलेंजिंग होता हैं लेकिन मैं इसे काफी पॉजिटिव ले रहा हूं। पूरी कोशिश में जुटा हूं लोगों की उम्मीदों पर खरा उतर सकूं।

सिंगल हूं और काफी खुश हूं
मैं सिंगल हूं और काफी खुश हूं। मैं सिर्फ और सिर्फ अपने काम पर ध्यान देना चाहता हूं। शादी की बात करूं तो मेरे परिवार में अब शादी के लिए मेरा ही नंबर है। सोचिए, मेरे परिवार वालों का मुझ पर कितना प्रेशर होगा हालांकि मैंने उन्हें अपनी इंडस्ट्री के बारे में समझाया। खुश हूं कि अब परिवार वाले समझ चुके हैं कि मेरे लिए इस वक्त करियर कितना जरूरी है। जहां मुझे लगा कि अब मुझे साथी की जरूरत है, उस वक्त मैं किसी को डेट करने का सोचूंगा।

एक तरफ़ा प्यार मुझे बिलकुल नहीं गवारा होगा
मेरी हमसफर बहुत सुंदर दिखने के साथ-साथ उसका सुंदर दिल भी होना चाहिए। उसका नेचर अच्छा होना चाहिए और दोनों के बीच कनेक्शन होना बहुत जरूरी है। कई दफा ऐसा होता हैं की कोई आपसे प्यार करता हैं लेकिन आप उससे प्यार नहीं कर पाते। मैं अपने रिश्ते में ऐसा नहीं चाहता हूं। एक तरफा प्यार मुझे बिलकुल नहीं गवारा होगा।

खबरें और भी हैं...