सऊदी अरब में पॉप स्टार का शो:जस्टिन बीबर से पत्रकार जमाल खशोगी की मंगेतर की अपील, बोलीं- हत्यारों के लिए मत गाओ

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पॉप स्टार जस्टिन बीबर को अगले महीने सऊदी अरब में अपनी परफॉर्मेंस देने जा रहे हैं। लेकिन इस समारोह में परफॉर्म न करने के लिए लोगों की अपील बढ़ती ही जा रही हैं। इनमें से एक आग्रह दिवंगत पत्रकार और सऊदी अरब शासन के आलोचक रहे जमाल खशोगी की मंगेतर ने किया गया है।

दरअसल जमाल को मार दिया गया था, जिसका आरोप सऊदी अरब पर है, इसी के चलते खशोगी की मंगेतर हेटिस केंगिज ने अपील करते हुए एक खुला पत्र भी लिखा है। बता दें, जस्टिन 5 दिसंबर को सऊदी अरब के जेद्दाह शहर में फॉर्मूला वन रेस में परफॉर्मेंस देंगे।

हेटिस केंगिज का खुला पत्र
द वॉशिंगटन पोस्ट ने हेटिस केंगिज का पत्र प्रकाशित किया गया है। जिसमें उन्होंने लिखा है, 'मैं जस्टिन बीबर से आग्रह करती हूं कि वह सऊदी में होने वाली अपनी परफॉर्मेंस को रद्द करके दुनिया के सामने एक शक्तिशाली संदेश दें, कि अपना नाम और प्रतिभा का उपयोग ऐसे शासन की प्रतिष्ठा को बखान करने के लिए नहीं किया जाएगा, जो अपने आलोचकों को मौत के घाट उतारता हो। आगे लिखा कि आप जमाल के हत्यारों के लिए मत परफॉर्म करो। प्लीज मोहम्मद बिन सलमान की निंदा करें, क्योंकि आपकी आवाज करोड़ों लोग सुनते हैं।'

अमेरिका ने जारी की थी रिपोर्ट
आलोचक और पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के बाद 2018 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के निर्देश पर एक खुफिया रिपोर्ट जारी की गई थी। इसमें जमाल की हत्या का आरोप सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के ऊपर भी लगाया गया था। हालांकि, क्राउन प्रिंस इस आरोप को खारिज कर दिया था।

मारिया कैरी ने अपीलों को कर दिया था खारिज
इसके साथ ही दूसरे F1 रेस में म्यूजिकल परफॉर्मेंस के लिए रैपर एएसएपी रॉकी, डीजे डेविड गुएटा, टिएस्टो और गायक जेसन डेरुलो का नाम भी शामिल हैं। यह पहली बार नहीं है जब किसी पॉप स्टार को सऊदी अरब में परफॉर्मेंस न देने के लिए अपीलों का सामना करना पड़ रहा है। बता दें, इससे पहले 2018 अक्टूबर में तुर्की में सऊदी एजेंट्स द्वारा खशोगी की हत्या के बाद सऊदी अरब में परफॉर्म करने वालों में मारिया कैरी सबसे बड़ा नाम था। उन्होंने कार्यक्रम का बहिष्कार करने वाली अपीलों को खारिज कर दिया था।

निकी मिनाज ने नहीं दी थी परफॉर्मेंस
2019 में पाप स्टार निकी मिनाज को जेद्दाह में एक म्यूजिक इवेंट में परफॉर्मेंस को रद्द करने के लिए मजबूर किया गया था। जिसके बाद उन्होंने उस समय कहा था कि वह महिलाओं के अधिकारों, समलैंगिक अधिकारों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए समर्थन दिखाना चाहती थीं। जमाल खशोगी सऊदी अरब मूल के एक अमेरिकी पत्रकार थे। वह सऊदी सरकार की आलोचना भरे आर्टिकल लिखा करते थे। इसीलिए उनकी हत्या का आरोप सऊदी अरब पर लगाया जाता है।

खबरें और भी हैं...