खास बातचीत:'रूही' में मुरादाबादी एक्‍सेंट के लिए राजकुमार राव और वरुण शर्मा ने 3 महीने की प्रैक्टिस, होमटाउन जाकर गली-मोहल्‍लों के युवकों के साथ बिताया वक्‍त

मुंबई8 महीने पहलेलेखक: अमित कर्ण

हिंदी फिल्‍मों की कहानियां अब हार्टलैंड इलाकों से आ रही हैं। ऐसे में हीरो-हीरोइन अब फिल्मों में लोकल अवधी हरियाणवी, बुंदेलखंडी जैसे एक्‍सेंट में बोलते नजर आते हैं। 11 मार्च को रिलीज हो रही जाह्रवी कपूर स्टारर फिल्म 'रूही' में भी मुरादाबाद और आसपास के इलाकों के टोन का इस्तेमाल किया गया है। इसके लिए वरुण शर्मा और राजकुमार राव ने तीन महीने तक प्रैक्टिस की। उन्होंने मुरादाबादी एक्‍सेंट सीखने के लिए होमटाउन जाकर गली-मोहल्‍लों के युवकों के साथ वक्‍त भी बिताया था।

राजकुमार ने पूरी फिल्‍म में तुतला कर बोला, जाह्नवी भी हकलाती रहीं
दैनिक भास्कर से खास बातचीत में वरुण शर्मा ने कहा, "फिल्‍म से जुड़े गौतम का घर मेरे घर से पास में ही था। ऐसे में हम एक दूसरे के घर 2 से 3 महीने तक आते जाते रहे। मुरादाबाद के आसपास के एक्‍सेंट को हमने सीखा। राजकुमार राव ने तो इसके अलावा तुतला कर भी पूरी फिल्‍म में बोला है। जाह्रवी कपूर का कैरेक्‍टर भी डर वाली सिचुएशन में हकलाने लग जाता है। इतना ही नहीं हम अपने होमटाउन भी गए। वहां गली मोहल्‍लों के युवकों के साथ काफी वक्‍त बिताया था।"

वरुण शर्मा ने कहा, "फिल्म 'रूही' के शूट के दौरान भी कई रोमांचक घटनाएं हुईं। रुड़की में शूट का पहला दिन था। हम तीनों कलाकार अपने-अपने किरदारों को लेकर थोड़ा नर्वस भी थे। ऊपर से वहां शूट देखने पांच हजार लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई थी। ऐसे में हम और डर गए थे। बाद में जब भीड़ ने हमारी हौसला अफजाई की, तब जाकर हम तीनों में आत्‍मवि‍श्‍वास का संचार हुआ। फिर सिंगल टेक में सीन फिल्‍माए जाने लगे।"

जाह्नवी ने डबल रोल को सेम शेड्यूल में ही प्‍ले किया
वरुण ने फिल्म के लिए जाह्रवी की मेहनत बयां करते हुए कहा, उनके कंधों पर दो किरदार निभाने का भार था, दोनों ही एक दूसरे से अलग। उन्‍होंने रूही और अफजा दोनों का रोल अलग-अलग नहीं, बल्‍क‍ि सेम शेड्यूल में ही प्‍ले किया। यह एक्‍टर के लिए बहुत चैलेंजिंग काम होता है। वह इसलि‍ए कि एक घंटे पहले आप रूही प्‍ले कर रहे थे और उसके अगले ही पल अफजा। दोनों किरदारों की स्‍क‍िन में एक ही मोमेंट पर आना-जाना बहुत मुश्‍क‍िल भरा काम है।"

दोनों किरदारों को सेम टाइम पर प्‍ले करने की मजबूरी भी थी
वरुण ने कहा, "दोनों किरदारों को सेम टाइम पर ही प्‍ले करने की मजबूरी भी थी। वह इसलिए कि जो भी लोकेशन थीं, वहां रूही और अफजा दोनों के ही सीन थे। एक पल में जाह्नवी को नॉर्मल लड़की प्‍ले करना होता था। वहीं दूसरे ही पल उन्हें भूत बनना होता था। रूही को हम दोनों अलग तरीके से देखते और रिएक्‍ट करते थे। वहीं अफजा को अलग तरीके से देखते थे।"

अफजा वाले रोल में था हेवी वीएफएक्‍स
वरुण ने कहा, "खासकर अफजा के सीन में काफी वीएफएक्‍स था। अफजा प्‍ले करने की बारी आती थी, तो सेट पर वीएफएक्‍स वालों का हुजूम जमा हो जाता था। बॉडी पर मार्क्‍स लगते थे। आसपास ग्रीन स्‍क्रीन होती थीं। चेहरे पर मार्किंग होती थी। ऐसे में अफजा के लिए जाह्नवी को काफी इमेजिन करना पड़ता था कि उन्‍हें अपना मूवमेंट बहुत कंट्रोल में रखना है। ताकि बाद में पोस्‍ट प्रोडक्‍शन के बाद जब फायनल प्रोडक्‍ट बनेगा, तो उसमें अफजा की सुपरनैचुरल पावर कन्विंसिंग लगे।"