पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राकेश रोशन-पिंकी की शादी को हुए 50 साल:डायरेक्टर जे.ओम प्रकाश बेटी के लिए ढूंढ रहे थे परफेक्ट लाइफ पार्टनर, राकेश रोशन को देखा और करवा दी अरेंज मैरिज

19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राकेश रोशन आज अपनी वेडिंग एनिवर्सरी मना रहे हैं। पिंकी रोशन के साथ उनकी शादी को 50 साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर पिंकी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करते हुए राकेश रोशन को वेडिंग एनिवर्सरी की बधाई दी है। इस वीडियो में दोनों की शादी से लेकर अब तक के बेहतरीन लम्हों को समेटा गया है। पिंकी ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 50 सालों का जश्न। ना मैं परफेक्ट हूं और ना आप। इसके बावजूद हमने अपना खूबसूरत जहां बनाया है। जिंदगी के 50 सालों को खुशनुमा बनाने के लिए धन्यवाद।

राकेश रोशन-पिंकी की हुई थी अरेंज मैरिज

ऋतिक के पापा राकेश और मां पिंकी की पहली मुलाकात इन दोनों के पिता की वजह से हुई थी। पिंकी के पिता, डायरेक्टर जे.ओम प्रकाश थे और वे अपनी बेटी के साथ अक्सर रोशन फैमिली के घर जाया करते थे। राकेश ने 1967 में अपने पिता की मौत के बाद एक सहायक निर्देशक के रूप में काम करना शुरू किया। ये उसी समय की बात है जब पिंकी का परिवार उनके लिए परफेक्ट मैच की तलाश कर रहा था। पिंकी के पिता ने राकेश को उनका दूल्हा बनाने का फैसला किया। इसके बाद राकेश ने 1969-1970 में पिंकी से शादी कर ली। पिंकी ने 1972 में एक बेटी सुनैना रोशन और 1974 में बेटे ऋतिक रोशन को जन्म दिया।

इन फिल्मों में दिखे राकेश रोशन

राकेश ने अपने करियर की शुरुआत बतौर एक्टर 1970 में फिल्म 'घर घर की कहानी' से की थी। उन्होंने 'मन मंदिर' (1971), 'पराया धन' (1971), 'आंखों आंखों में' (1972), 'खेल खेल में' (1975), 'खट्टा मीठा' (1978), 'झूठा कहीं का' (1979), 'खूबसूरत' (1980), 'तीसरी आंख' (1982), 'आखिर क्यों' (1985), 'भगवान दादा' (1986) सहित कई फिल्मों में काम किया।

शुरू की प्रोडक्शन कंपनी

बतौर एक्टर फिल्मों में सफलता नहीं मिलने पर उन्होंने 1980 में प्रोडक्शन कंपनी शुरू की। उन्होंने अपने प्रोडक्शन के बैनर इसी साल 'आप के दीवाने' फिल्म बनाई। हालांकि, यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरफ्लॉप हुई। इसके बाद उन्होंने 1982 में फिल्म 'कामचोर' बनाई जो सफल रही। उन्होंने डायरेक्शन की फील्ड में उतरने की सोची। उन्होंने 1987 में आई फिल्म 'खुदगर्ज' का डायरेक्शन किया। ये फिल्म सुपरहिट साबित हुई। इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों का निर्देशन किया।

राकेश रोशन के डायरेक्शन में 2000 में बनीं फिल्म 'कहो ना प्यार है' ब्लॉकबस्टर साबित हुई। 18 करोड़ रुपए की लागत से बनीं इस फिल्म ने वर्ल्डवाइड 62 करोड़ रुपए की कमाई की थी। इस फिल्म को 9 कैटेगरी में फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। इसी वजह से इस फिल्म का नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया था।

जब राकेश को 2 शूटर ने मारी थी गोली

2000 में राकेश रोशन पर अंडरवर्ल्ड के कहने पर गोलियां चलवाई गई थीं। बात 21 जनवरी की है, राकेश रोशन को तिलक रोड स्थित उनके ऑफिस के बाहर दो शूटर ने गोली मार दी थी। एक गोली उनके कंधे पर और दूसरी उनकी छाती पर लगी थी। हालांकि, उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी जान बचा ली गई।

ये गोलियां राकेश को मारने के लिए नहीं बल्कि उन्हें धमकाने के लिए मारी गई थी। उन्हें धमकी दी गई थी कि वे अपनी ब्लॉकबस्टर फिल्म 'कहो ना प्यार है' के प्रॉफिट में से हिस्सा दें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें