विलेन की दास्तान:रंजीत ने महिलाओं के छोटे कपड़ों को बताया अपना करियर खराब होने का कारण, बोले- 'अब कुछ खींचने के लिए ही नहीं बचा'

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक जमाने के सबसे खतरनाक विलेन समझे जाने वाले रंजीत इन दिनों फिल्मों से दूर हैं। 350 से ज्यादा फिल्में करने वाले रंजीत ने कई फिल्मों में रेप सीन दिए हैं जिसके चलते उन्हें हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का रेप स्पेशलिस्ट कहा जाने लग था। हाल ही में दिए एक इंटरव्यू के दौरान एक्टर ने रेप स्पेशलिस्ट के टैग और करियर खराब होने पर अपने विचार सामने रखे हैं।

हाल ही मैं ईटाइम्स से बातचीत में रंजीत ने कहा, मैं इन सीन के लिए अपनी हीरोइनों को कन्फर्टेबल करने के लिए इतनी मेहनत किया करता था कि कुछ समय बाद जब भी फिल्मों में रेप सीन हुआ करते थे तो एक्ट्रेसेस फिल्ममेकर्स से मुझे कॉल करने के लिए कहती थीं। उन्होंने मुझे रेप स्पेशलिस्ट कहना शुरू कर दिया था।

आगे एक्टर ने कहा, उस समय में इसे वल्गर नहीं समझा जाता था, हमारे पास एक सेट फॉर्मेट था- हीरो, हीरोइन, कॉमेडियन, विलेन, बहन, मां। पहले आज की तरह कुछ नहीं होता था, कोई लव मेकिंग सीन नहीं होते थे। ये ब्लू फिल्म ही क्यों नहीं बनाते। मैं हमेशा से मजाक में कहा करता हूं कि बदलते फैशन ने मेरा करियर खराब कर दिया, महिलाएं इतने छोड़े कपड़े पहनने लगी हैं कि कुछ खींचने को ही नहीं बचा।

शोले फिल्म का ठुकरा दिया था ऑफर

पॉपुलर विलेन रह चुके रंजीत को बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन फिल्मों में से एक शोले में गब्बर का रोल निभाने का ऑफर मिला था, हालांकि उन्होंने ये रोल ठुकरा दिया था। इस पर एक्टर ने कहा, जब सबसे पहले फिल्म अनाउंस की गई तो इसमें डैनी को विलेन बताया गया था, लेकिन हम उस समय अफगानिस्तान में धर्मात्मा की शूटिंग कर रहे थे और फिरोज खान (धर्मात्मा के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर) ने उनसे पीछे रहने को कहा था। फिरोज ने उनसे कहा था, तुम तीन हीरो के साथ फिल्म में क्या करोगे, यहां मैं तुम्हें हेमा मालिनी के साथ एक पूरा गाना दे रहा हूं। मैं अफगानिस्तान से शूटिंग खत्म करके बैंगलोर गया और शोले के मेकर्स मेरे पास आ गए और कहा हमारी फिल्म कर लो जिसकी शूटिंग उसी जगह पर हो रही थी। लेकिन मैं अपने दोस्त की इजाजत के बिना उसे फिल्म से कैसे रिप्लेस कर सकता था। कौन जानता था कि गब्बर सिंह इतना बड़ा हिट हो जाएगा। लेकिन हो सकता है अगर मैं फिल्म करता तो फिल्म इतनी बड़ी नहीं होती।

एक्टर ने इंटरव्यू के दौरान बताया कि शुरुआत में उनका परिवार उन्हें फिल्मों में एक्ट्रेसेस के साथ गलत व्यवहार करते देख नाराज रहते थे। घरवाले कहते थे कि डॉक्टर या अफसर का किरदार निभाओ, जिससे उन्हें शर्मिंदगी ना हो। हालांकि समय के साथ घरवाले समझ गए कि ये उनका काम है।

खबरें और भी हैं...