रिकॉल:ऋषि कपूर के दोस्त राज बंसल बोले- कैंसर के बारे बताते हुए उनका गला रुंध गया था, बात भी पूरी नहीं कर पाए थे

मुंबई2 वर्ष पहले
राज बंसल और ऋषि कपूर की दोस्ती 30 साल पहले फिल्म 'चांदनी' के सेट पर हुई थी।
  • 30 अप्रैल को मुंबई में एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल में हुआ ऋषि कपूर का निधन
  • 2018 में ऋषि को डिटेक्ट हुआ था कैंसर, दोस्त राज बंसल को फोन पर दी थी जानकारी

बीते 30 अप्रैल को ऋषि कपूर दुनिया को अलविदा कह गए। करीब डेढ़ साल से वे ल्यूकेमिया से जूझ रहे हैं। 2018 में उन्हें इस बीमारी के बारे में पता चल गया था। इस बारे में उन्होंने अपने दोस्त और फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर राज बंसल को बताया था। बंसल की मानें तो जब ऋषि फोन कॉल पर अपनी बीमारी के बारे में बात कर रहे थे तो उनका गला रुंध गया था और वे अपनी बात भी पूरी नहीं कर पाए थे। 

'गला रुंधा तो बोले पांच मिनट बाद कॉल करना'
बंसल ने एक इंटरव्यू में बताया, "2018 में उन्हें कैंसर डिटेक्ट हुआ था। उनके परिवार के अलावा इस बारे में कोई नहीं जानता था। सितंबर 2018 में जिस शाम वे ट्रीटमेंट के लिए यूएस रवाना हो रहे थे, उसी रोज उन्होंने मुझे फोन किया था। मुझे ठाकुर कहकर बुलाते थे। मैंने फोन उठाया और दुआ-सलाम की। फिर उन्होंने कहा- 'ठाकुर तेरे से बात करनी है।' इसके बाद उनका गला रुंध गया। मैं समझ गया कि कुछ ठीक नहीं है। फिर वे बोले- ठाकुर पांच मिनट में कॉल करना।"

'फोन पर बोले थे- ठाकुर अच्छी खबर नहीं है'
बंसल ने आगे कहा, "मैंने पूरे पांच मिनट इंतजार किया और उन्हें कॉल कर पूछा- चिंटू सब ठीक तो है? लेकिन फिर उनका गला रुंध गया। उन्होंने रुंधे कंठ से ही कहा- 'ठाकुर अच्छी खबर नहीं है। मुझे कैंसर डिटेक्ट हुआ है। आज शाम इलाज के लिए न्यूयॉर्क रवाना हो रहा हूं।"

बंगले से फ्लैट में शिफ्ट हो गए थे ऋषि
बकौल बंसल, "अस्पताल में भर्ती होने से दो दिन पहले ही मेरी उनसे बात हुई थी। वे फ्लैट के बाहर टहल रहे थे। मुझे याद है कि जब मैंने उनसे अंदर जाने के लिए कहा तो उनका जवाब था- यार राजू अब बंगले में रेनोवेशन का काम चल रहा है। फ्लैट में शिफ्ट करा दिया है। थोड़ी फ्रेश हवा लेने आया था।"

बंसल आगे बताते हैं, "हमने फ्यूचर प्लान, लॉकडाउन और कोरोना को लेकर चर्चा की। आमतौर पर हम फोन पर ज्यादा लम्बी बात नहीं करते। लेकिन उस दिन आधे घंटे से ज्यादा बात हुई। इसलिए मुझे यकीन नहीं हुआ कि वे अब नहीं रहे।" बंसल के अनुसार, मीडिया में यह गलत तथ्य वायरल है कि ऋषि निधन से एक दिन पहले ही अस्पताल में भर्ती हुए थे। जबकि वे इससे करीब 10 दिन पहले एडमिट हो गए थे। 

30 साल पहले हुई थी बंसल की ऋषि से दोस्ती 
बंसल ने पिछले दिनों दैनिक भास्कर से बातचीत में बताया था कि ऋषि से उनकी दोस्ती 30 साल पहले फिल्म 'चांदनी' के सेट पर हुई थी। फिल्म की शूटिंग दिल्ली में चल रही थी। बंसल के मुताबिक, फिल्म के निर्देशक यश चोपड़ा उनके पारिवारिक दोस्त थे। उन्होंने उन्हें सेट पर बुलाया और ऋषि से मुलाकात कराई। चोपड़ा ने ऋषि को बताया कि ये जयपुर से आए हैं और हमारे डिस्ट्रीब्यूटर हैं। 

बंसल ने कहा था, "ऋषि फ्रेंडली नेचर के आदमी थे तो दोस्ती हो गई। जब मैं जयपुर लौटने लगा तो उन्होंने कहा कि रुको कल मैं भी चलूंगा। वहां मेरी फिल्म 'अजूबा' की शूटिंग होनी है।" बंसल के मुताबिक, अगले दिन ऋषि और वे जयपुर पहुंचे। ऋषि ने बंसल के एक महीने के बेटे से मुलाकात की। फिर परिवार समेत उसके पहले जन्मदिन पर भी पहुंचे। 2016 में जब बंसल के उसी बेटे की शादी हुई, तब भी ऋषि और नीतू इसे अटेंड करने जयपुर पहुंचे थे।