भास्कर इंटव्यू:फिल्म गुलमोहर से OTT डेब्यू कर रही हैं शर्मिला टैगोर, बोलीं-स्क्रिप्ट पसंद आई तो एक बार में हां कर दिया

मुंबई5 दिन पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक

शर्मिला टैगोर अब अपना OTT डेब्यू कर रही हैं। शर्मिला 11 साल पहले दीपिका पादुकोण की ‘ब्रेक के बाद’ में नजर आई थीं। अब वह मनोज बाजपेयी स्टारर ‘गुलमोहर’ में नजर आंएगी। माना जा रहा है कि यह फिल्म अगस्त में डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज होगी। शर्मिला टैगोर इसमें बत्रा परिवार की कुलमाता के रोल में नजर आएंगी। दैनिक भास्कर से खास बातचीत में शर्मिला टैगोर ने फिल्म जगत और अपने चाहने वालों से अपनी उम्मीदें साझा की हैं। पेश हैं प्रमुख अंश:

‘गुलमोहर’ की कौन सी चीज पसंद आई थी कि इसे हां कह दिया?
इसकी स्क्रिप्ट मुझे बेहद पसंद आई थी इसीलिए हां कर दी। अभी अपने किरदार के बारे में ज्यादा नहीं बता सकती, क्योंकि अभी उसकी इजाजत नहीं है। वह इसलिए कि यह शायद ओटीटी पर आ रही है। वो अपने हिसाब से जानकारियां रिवील करेंगे। बेशक यह एक फैमिली के लोगों के आपसी समीकरण, भरोसे और तानेबाने की कहानी है।

इसकी शूटिंग वगैरह कहां हुई है? कोविड के दौरान ही शूटिंग हुई?
इसे हमने दिल्ली में शूट किया, कहानी वहीं सेट है। कोविड का माहौल तो पिछले तीन सालों से बना हुआ है। जाहिर तौर पर शूटिंग कोविड के दौरान ही हुई थी। हमसे इसे इसी साल मार्च से अप्रैल के महीने में दिल्ली में शूट कर लिया था। अभी यह पोस्ट प्रोडक्शन स्टेज में है। इसकी एडिटिंग हो रही है। रिलीज शायद इसी साल अगस्त सितंबर से पहले तो मुमकिन नहीं।

इसके डायरेक्टर वगैरह आप को पहले से जानते थे?
जी नहीं, उनका नाम राहुल चित्तेला है। वो मीरा नायर के असिस्टेंट रहें हैं। मुझे बहुत अच्छा लगा उनके और उनकी टीम के साथ। सेट पर ढेर सारी यंग एनर्जी देखने को मिलती थी। सब 20 से 30 साल की ऐज रेंज में थे। हर चीज बहुत पंक्चुअल और टाइम पर हुआ करती थी। जो उनके शेड्यूल और टारगेट में रहा करता था, वो उसे करके ही दम लेते थे। कभी कहीं किसी तरह की निराशा नहीं दिखी। न चेंज ऑफ शेड्यूल देखने को मिला कभी। भगवान की भी कृपा रही। सेट पर कोई कभी बीमार नहीं पड़ा। सब प्लैन्ड वे में हुआ। ओटीटी प्लेटफॉर्म के लोग भी रहते थे।

ऐसा तो मुमकिन नहीं कि आप को इतने सालों में और भी ऑफर आए न हों?
बेशक आए हैं। हालांकि वो सारे एक ही तरह के रोल थे, जो मैं ऑलरेडी पास्ट में कर चुकी हूं। ‘गुलमोहर’ बहुत अलग है। यह बिग बैनर से है। एक इंटिमेट फिल्म है। फिल्म में ऑनसॉम्बल कास्ट है। मिस्टर मनोज बाजपेयी हैं फिल्म में ऐडेड अट्रैक्शन हैं।

करण जौहर तो काफी करीबी हैं करीना, सैफ के। उन्होंने या आदित्य चोपड़ा ने कभी तो आपसे कहा हो कि उनकी फिल्म करें?
वो हमारे भी दोस्त हैं। हम सब एक दूसरे की रिस्पेक्ट करते हैं। हालांकि कोई मौका नहीं बना, जहां हम साथ किसी प्रोजेक्ट पर आ सकें।

क्रिकेट से तो आप का नाता रहा ही है। आईपीएल कितना इंज्वॉय करती रही हैं आप?
वह फॉर्मेट तो मुझे बेहद पसंद है। मैं हैरान होती हूं कि गर्मी के मौसम में कैसे खेल रहें हैं ये लोग। बेशक प्लेयर्स काफी फिट रहते होंगे। खासकर जो आखिरी के ओवर्स होते हैं, वो तो नेल बाइटिंग रहते हैं। मुझे बड़ा मजा आता है।

आप को अप्रोच करना कितना आसान या मुश्किल है?
‘गुलमोहर’ के डायरेक्टर ने ईमेल पर स्क्रिप्ट भेजी थी। मैं बहुत ईजी और अप्रोचेबल हूं। स्क्रिप्ट पसंद आए तो मैं हां कहती हूं।

हाल की कौन सी फिल्मों ने आप को सरप्राइज किया?
मुझे ‘83’ तो बहुत पसंद आई थी। वह इसलिए कि क्योंकि क्रिकेट के बारे में थी। उसमें वर्ल्ड कप था। मैंने तो वह फिल्म 2 से 3 बार देखी। तीसरी बार देखने पर तो मुझे यह और अच्छी लगी थी। लास्ट इयर एक ‘पगलेट’ करके फिल्म आई थी। फिर ‘बधाई दो’ मुझे बहुत अच्छी लगी थी। मैं तो हर जॉनर की फिल्म बहुत लाइक करती हूं।

खबरें और भी हैं...