पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुशांत की मौत के 11 महीने:शेखर सुमन ने जाहिर की नाराजगी, पोस्ट में लिखा- बदकिस्मती देखिए, कोरोना आ गया और सुशांत की मौत की जांच दब गई

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को 11 महीने हो गए हैं। 25 दिन बाद एक साल पूरा हो जाएगा। लेकिन उनकी मौत का राज अब तक सामने नहीं आ पाया है। जांच कहां तक पहुंची, पता नहीं। आरोपियों के साथ क्या हुआ, ये भी पता नहीं। CBI जांच जरूर शुरू हुई लेकिन उसमें किसी भी तरह की गड़बड़ी से इंकार कर दिया था। इसी को लेकर शेखर सुमन ने एक बार फिर नाराजगी जाहिर की है।

क्या कोई उम्मीद बाकी है ?
शेखर ने अपनी पोस्ट में लिखा- हम लड़े और लड़ते रहे। हम आज भी सुशांत के न्याय के लिए लड़ रहे हैं। एक महीने बाद सुशांत को गुजरे एक साल हो जाएगा। बदकिस्मती देखिए, कोरोना आ गया और जांच इस विपदा के नीचे दब गई। क्या कोई आशा है? एक यूजर के जवाब में उन्होंने यह भी कहा कि -मैंने न्याय की लौ को जिंदा रखा है। हर महीने 14 तारीख को मैं बिना भूले रिमाइंडर भेजता हूं।

फैन्स बोले कोरोना ही मारेगा SSR के हत्यारों को
शेखर सुमन के ट्वीट करते ही फैंस ने इस पर कमेंट करना शुरू कर दिए। एक फैन ने लिखा-“14 जून को जल्द ही एक साल बीत जाएगा। COVID-19, SSR के उन हत्यारों को ढूंढता है और उनके फेफड़ों में घुस जाता है क्योंकि हम नश्वर इंसान उन्हें ट्रैक करने में असमर्थ हैं।

खबरें और भी हैं...