अब यादों में सुशांत:मुंबई में सुसाइड के 8 दिन बाद पटना वाले घर में हुई प्रार्थना सभा, सफेद फूलों के बीच हंसती हुई तस्वीर रखी गई

2 वर्ष पहले
पटना में सुशांत के घर पर एक कमरे में उनकी फोटो रखी गई और उसके चारों और सफेद फूलों की सजावट की गई।

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की प्रार्थना सभा रविवार को उनके होम टाउन पटना वाले घर में हुई। इसकी फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। सुशांत के पिता पटना में राजीव नगर स्थित रोड नंबर 6 में रहते हैं। फोटो में देखा जा सकता है कि एक कमरे में सुशांत की हंसते हुए फोटो रखी हुई है और उसके चारों और सफेद फूलों की सजावट की गई। इस मौके पर सुशांत के फैमिली मेंबर्स, रिश्तेदारों, दोस्तों और करीबियों ने अपने चहेते सितारे को भारी मन से याद करके श्रद्धांजलि दी। 

सुशांत सिंह मूल रूप से बिहार के पूर्णिया जिले के रहने वाले थे। 90 के दशक में पूरा परिवार पटना आ गया। पिता केके सिंह सरकारी अधिकारी रहे हैं। सुशांत की पढ़ाई पटना के सेंट कैरेंस स्कूल से हुई। इसके बाद वे दिल्ली चले गए। खगड़िया में सुशांत का ननिहाल है। पिछले साल यहां उनका मुंडन संस्कार भी किया गया था। 

14 जून को मुंबई में हुआ था सुशांत का निधन

सुशांत का निधन 14 जून को मुंबई स्थित उनके घर में हुआ था। 34 वर्षीय अभिनेता ने सीलिंग फैन से लटककर जान दी थी। 15 जून को मुंबई के बिले पार्ले स्थित पवन हंस श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया था। 

अभिनेता के घर से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। शुरुआती जांच में पता चला है कि सुशांत डिप्रेशन से जूझ रहे थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है और उनके जान-पहचान वालों से पूछताछ कर आत्महत्या के पीछे की गुत्थी को सुलझाने की कोशिश कर रही है। 

2008 में टीवी पर डेब्यू किया था
सुशांत ने 2008 में एकता कपूर के शो 'किस देश में है मेरा दिल' से सेकंड लीड एक्टर के तौर पर टीवी डेब्यू किया था। इसके बाद एकता ने ही उन्हें अपने शो 'पवित्र रिश्ता' में लीड रोल दिया। करीब चार साल तक एकता के साथ काम करने के बाद 2013 में रिलीज हुई फिल्म 'काई पो छे' के लिए उन्होंने टीवी को छोड़ने का फैसला लिया।

7 साल के फिल्मी करियर में सुशांत ने 12 फिल्मों में काम किया था। इनमें 'पीके', 'एम.एस. धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी' और 'छिछोरे' जैसी हिट फिल्में शामिल हैं। सुशांत की आखिरी रिलीज फिल्म 'ड्राइव' थी, जिसकी स्ट्रीमिंग पिछले साल नेटफ्लिक्स पर हुई थी। जबकि एक अन्य फिल्म 'दिल बेचारा' लॉकडाउन के चलते रिलीज नहीं हो पाई। चर्चा है कि इसे भी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर लाया जा सकता है।