• Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Tara Sutaria Told 'Tadap' Has More Emotion Than Marjaavaan', The Actress Sang In 'Ek Villain 2' And Did Heavy Action In 'Heropanti 2'

खास बातचीत:तारा सुतारिया ने बताया-'तड़प' में 'मरजावां' से ज्यादा इमोशन, एक्ट्रेस ने 'एक विलेन 2' में गायकी की और 'हीरोपंती 2' में किया है हेवी एक्शन

मुंबई12 दिन पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक

टीवी से फिल्मों में सफल छलांग लगाने वालों में तारा सुतारिया का भी नाम आता है। उनकी टायगर श्रॉफ के साथ 'हीरोपंती 2' शूटिंग के फेज में है। जॉन और अर्जुन के साथ 'एक विलेन रिटर्न्स' का शेड्यूल भी पूरा हो चुका है। जबकि, अहान शेट्टी के साथ तारा की फिल्म 'तड़प' 3 दिसंबर को रिलीज हो रही है। यह फिल्म 'आरएक्स 100' की एडेप्टेशन है। हाल ही में तारा ने दैनिक भास्कर के साथ खास बातचीत में अपने अपकमिंग प्रोजेक्ट्स और करियर से जुड़ी बातें शेयर की हैं। पेश हैं तारा से बातचीत के प्रमुख अंश -

'मरजावां' के तुरंत बाद एक और ट्रैजेडी 'तड़प' कर रही हैं क्या कोई खास वजह है? साथ ही जो लोग 'आरएक्स 100' देख चुके हैं, उनके लिए 'तड़प' में नया क्या मिलेगा?
मुझे व्यक्तिगत तौर पर वैसी कहानियां पसंद हैं, जिसमें ट्रैजेडी, लव और इंटेनसिटी हो। वह सब आप को 'तड़प' में देखने को मिलेंगे। यह 'आएएक्स 100' की एडेप्टेशन है। साजिद नाडियाडवाला और मिलन लूथरिया सर ने इसे बहुत रोचक तरीके से एडेप्ट किया है, जो पैन इंडिया ऑडियंस को सूट करे। मैंने 'आरएक्स 100' भी कई बार देखी है, पर 'तड़प' का फ्लेवर अलग है। हमने मसूरी, ऋषिकेश को जहन में रखते हुए इससे एडेप्ट किया है। इसकी लव स्टोरीज को देखते हुए दर्शकों के रोंगटे खड़े होंगे। वैसी फीलिंग वाली फिल्म बहुत दिनों से आई नहीं है।

आपके अपने निभाए हुए किरदारों के टेकअवे क्या रहे हैं?
मेरी अगली फिल्म 'एक विलेन रिटर्न्स' है। उसमें मैं सारे गाने गा रही हूं। वहां का टेकअवे यह रहा कि आप को अगर नाचना, गाना आता है तो वह आप के लिए बोनस है। वैसे किरदार हों तो उनकी तैयारी अलग होती है। स्टूडियो में बहुत घंटे रिकॉर्ड करना आसान नहीं। 'हीरोपंती 2' का शूटिंग शेड्यूल बहुत बाकी है। कम से कम 40 दिन का शेड्यूल बचा हुआ है। उसमें मैंने असल तारा से ठीक उलट किरदार प्ले किया है। वहां तारा फन और लाइट अवतार में देखने को मिलेगी। असल जीवन में मैं बहुत शाई हूं। 'हीरोपंती 2' में एक लाइट और फन लविंग तारा को लोग देखेंगे।

'तड़प' के लिए अतिरिक्त तैयारियां क्या रहीं?
इसकी शूट पर जाने से पहले मैं और अहान ने अपनी पहली मुलाकात में 'द डर्टी पिक्चर’ का एक सीन रीड किया। उसमें विद्या बालन और इमरान हाशमी ड्रिंक करते हुए बातें कर रहे होते हैं। मिलन लूथरिया सर ने हमारा वह शॉट शूट किया। आगे साजिद नाडियाडवाला सर ने वह शॉट देखा और उसी दिन 'तड़प' ऑफर की गई। कोविड और अन्य वजहों के चलते इसे पूरा होने में दो साल लग गए, तो पूरे पीरियड में हम भी काफी इवॉल्व हुए। यह मसूरी में शूट हुई है, जहां मैंने 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2' भी शूट की थी।

'द डर्टी पिक्चर' एक तरह से बायोपिक थी, आप कौन सी बायोपिक और कब करना चाहेंगी?
मैं अभी एक, दो साल और लेना चाहती हूं। खुद को थोड़ा और मांजने के बाद बायोपिक जॉनर में कदम रखना चाहूंगी। कोशिश रहेगी कि मैं कभी म्यूजिकल बायोपिक कर सकूं। हिस्टॉरिकल फिल्म की बात करूं तो एक दिन हम न्यु ऐज मुगल-ए-आजम बना सकें। अब उसमें आइडियल सलीम कौन होगा, वह तब की तब देखेंगे।

आप की पहली फिल्म ज्यादा नहीं चल सकी थी, उसमें टाइगर भी थे, फिर खुद को कैसे संभाला था?
वैसी सिचुएशन में भी खुद को संभाल कर रखना पड़ता है। वह इसलिए कि ऐसा हर इंडस्ट्री में होता है। रिजेक्शंस मुमकिन है। फिल्में तो और अनसरटेन चीज हैं। कभी पता नहीं चल सकेगा कि कौन सी फिल्म चलेंगी और कौन सी नहीं? आपको खुद पर यकीन और हौसला बना कर रखना होगा।

अब भी किरदारों के लिए ऑडिशंस देने पड़ते हैं?
जी नहीं। सिर्फ 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2' के लिए दिया था। डायरेक्टर पुनीत मल्होत्रा किसी और की लाइनें पढ़ रहे थे। मैं उस पर रिस्पॉन्ड करती थी। अब थैंक गॉड ऑडिशन नहीं देने पड़ते।

यह मुकाम पाने के लिए क्या त्याग किए हैं?
मैं अपनी कोशिशों को त्याग नहीं मानती। मैं छह साल की उम्र से ही म्यूजिक, डांस, होस्टिंग की ट्रेनिंग लेती रही हूं। वो सेशन अक्सर छह से दस घंटे के हुआ करते थे। उसे त्याग मानूंगी तो वह मेरी गलत अप्रोच होगी। तैयारी के प्रॉसेस को आप को एन्ज्वॉय करना सीखना होगा तो ही आप सफल हो सकेंगे।

खबरें और भी हैं...