पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • The Story Of Look Alikes Of Actors No Stars, Yet Popular Lookalike From Amitabh Bachchan To Hrithik Roshan, Some Film And Some Stage Show

एक्टर्स के लुक अलाइक्स की कहानी:स्टार नहीं, फिर भी पॉपुलर हैं अमिताभ बच्चन से ऋतिक रोशन तक के हमशक्ल, कोई फिल्म तो कोई स्टेज शो से जुड़ा

9 दिन पहलेलेखक: उमेश कुमार उपाध्याय
  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड में देव आनंद, अमिताभ बच्चन, शत्रुघ्न सिन्हा, धर्मेंद्र, शाहरुख खान, सलमान खान, अक्षय कुमार, हेमा मालिनी, हेलन, दिव्या भारती आदि स्टार्स के जैसे दिखने वाले लोग हैं। हमने इन कुछ लुकअलाइक से उनके शोज, फीस आदि के बारे में जानने की कोशिश की तो उनके दिलचस्प पहलू सामने आए। पढ़िए लुकअलाइक की कहानी, उन्हीं की जुबानी:

स्टार चलता है, तब उसका लुकअलाइक चलता है: प्रशांत वालदे
(शाहरुख खान के हमशक्ल)
बचपन से मुझे डांस का शौक था, तब से मैंने शाहरुख खान की मिमिक्री और बॉडी लैंग्वेज सीखी। साल 2007 में बीवी से 1200 रुपए लेकर मुंबई आ गया। संघर्ष के बाद जूनियर प्रेम चोपड़ा के लुकअलाइक विश्वजीत सोनी से मुलाकात हुई। एक खाद्य पदार्थ का एड् हिट होते ही मुझे 'ओम शांति ओम' के लिए बुलाया गया। फिल्मिस्तान में पहले फराह खान और फिर शाहरुख खान से मिला। वे कहने लगे वेरी गुड। तू तो मेरे जैसा दिखता है। इस तरह मैंने 'ओम शांति ओम' में दो दिन शूट किया। फिर करियर की गाड़ी चल निकली। साल 2007 से अब तक 400 एडवर्टाइजमेंट और 'ओम शांति ओम', 'डॉन', 'चेन्नई एक्स्प्रेस', 'डियर जिंदगी', 'रईस', 'फैन' सहित कुल 15 से 20 फिल्में कर चुका हूं। ट्यूनिंग अच्छी बन गई तो शाहरुख भाई ने मुझे दुबई, बैंकॉक आदि जगह शोज से लेकर आइफा अवॉर्ड तक में भेजा। उन्होंने मुझे 'फैन' के लिए रिकमंड किया तो फिल्म में 60 दिन काम करके मैंने मुंबई में घर ले लिया। लेकिन स्टार चलता है, तब उसका लुकअलाइक भी चलता है। बीच में शाहरुख भाई की फिल्में कम चलने लगीं, तब मेरा भी काम कम होता चला गया। फिल्म 'फैन' में बर्थडे का एक सीन था, जिसकी शूटिंग मन्नत बंगले पर हो रही थी। शूटिंग के समय वहां हजारों लोग आ गए थे। जब शूटिंग काफी डिस्टर्ब होने लगी तब शाहरुख भाई के कहने पर मैं पब्लिक को संभालने के लिए छत गया। वहां जाकर मैंने उनकी स्टाइल में पब्लिक को हाय-बाय करते हुए एंगेज रखा और दूसरी तरफ शाहरुख ने अपनी शूटिंग निपटाई। एक बार तो हम दोनों बैठे थे, तब डायरेक्टर ने मुझसे कहा कि शाहरुख भाई सीन देना है। सीन के मुताबिक लड़कियां मेरे साथ प्यार-रोमांस करने लगीं, तब दूर बैठे शाहरुख खान जोर-जोर से हंसने लगे। इस तरह हम दोनों में डायरेक्टर भी कई बार कंफ्यूज हो जाते हैं।

हेमा मालिनी के साथ परफॉर्म करने का मौका मिला: सीमा मोटवानी
(हेमा मालिनी की हमशक्ल)
साल 2000 में एक सिंधी फिल्म में गाने की डिमांड पर कई लुकअलाइक आए थे। उन्होंने कहा कि आप हेमा मालिनी जैसी दिखती हो। यहां से मेरा सफर शुरू हुआ, तब एज लुकअलाइक MTV पर 'फुल्ली फालतू', 'हैलो कौन पहचान कौन', 'लाफ्टर शो' आदि करती चली गई। शुरुआत से एंकरिंग करती थी, इसलिए मैं अब तक 3000 से ऊपर शोज कर चुकी हूं, लेकिन देश-विदेश मिलाकर लगभग 2000 शो एज लुकअलाइक हेमा मालिनी कर चुकी हूं। एक शो का 25 हजार से लेकर 50 से भी अधिक मिलता है। पहले कॉस्ट्यूम हायर करती थी, लेकिन अब मैंने 'धर्मात्मा', 'शोले', 'नसीब', 'सीता और गीता', 'जॉनी मेरा नाम' आदि जैसी फिल्मों के कॉस्ट्यूम बनवा लिए हैं। इसमें बसंती का कॉस्ट्यूम सबसे महंगा है। हेमा जी के लुक में आने के लिए मुझे मेकअप करने में एक से सवा घंटा लगता है। हेमा मालिनी से पहली मुलाकात 'जय माता दी' सीरियल के दौरान हुई थी। उसमें हेमा जी ने माता रानी और मैंने महारानी का किरदार निभाया था। मैं रेडी होकर लॉबी में बैठी थी, तभी मेरे सामने अचानक डायरेक्टर साहब आए और मुझे देखकर चौंकगए , कहने लगे 'सॉरी मैम, सॉरी। मुझे आपको यह कॉस्ट्यूम नहीं देना था। आपको थोड़ी तकलीफ होगी, पर इसे चेंज करना होगा।' फिर उन्होंने एडी को बुलाया। एडी ने उन्हें बताया कि ये हेमा मालिनी नहीं हैं, बल्कि उनकी लुकअलाइक हैं। वे दो मिनट के लिए शॉक हो गए और बोले 'हूबहू हेमा मालिनी जैसी दिखती हो।' फिर उन्होंने मुझे हेमा जी से मिलवाया। मैंने उनके पैर छुए और साथ में परफॉर्म किया।

'बागबान' की तरह पुणे में एक वृद्धाश्रम बनाना चाहता हूं: शशिकांत पेडवाल
(अमिताभ बच्चन के हमशक्ल)
मैं पुणे में एक गवर्मेंट टीचर हूं, पर एज लुकअलाइक अमिताभ बच्चन प्रोग्राम करता रहता हूं। एज लुकअलाइक हिंदुस्तान से लेकर USA, इजराइल, कतार, अमेरिका, दुबई, मॉरीशस आदि देशों में 1000 से अधिक शो कर चुका हूं। लॉकडाउन में भी मोटिवेशनल प्रोग्राम करता रहता हूं और मेकअप भी खुद ही करता हूं। बच्चन साहब मुझसे 27 साल बड़े हैं, फिर भी वेट वगैरह का ध्यान रखना पड़ता है। 'सैराट' फेम डायरेक्टर नागराज मंजुले की आगामी फिल्म 'झुंड' में एज लुकअलाइक तीन दिन काम किया। मैं मेकअपमैन दीपक सावंत की गुजराती डब फिल्म में हूं। जब बच्चन साहब से उनके घर पर मुलाकात हुई, तब वे कहने लगे कि हमारी शक्ल इतनी मिलती है कि पता ही नहीं चलता कि अमिताभ बच्चन आप हैं या मैं हूं। मेरे प्रोग्राम स्टैंडर्ड होते हैं। मैंने बिग बी फाउंडेशन नामक संस्था बनाई है। जो भी कमाता हूं उसकी 25 फीसदी रकम उसमें देता हूं। मैं लाइफ में 'बागबान' की तरह एक पुणे में वृद्धाश्रम बनाना चाहता हूं।

बॉलीवुड में एज लुअलाइक की शुरुआत मैंने की थी: किशोर भानुशाली
(देव आनंद के हमशक्ल)
बॉलीवुड में एज लुअलाइक की शुरुआत मैंने की है। इसका बीज आमिर खान और माधुरी दीक्षित स्टारर फिल्म 'दिल' (1990) से पड़ा। इसमें मैंने एज लुकअलाइक देव आनंद का रोल निभाया था। आज लोग मुझे जूनियर देव आनंद के नाम से भी जानते हैं। 'दिल' के बाद मैंने रामगढ़ के 'शोले', 'करण अर्जन', 'आंटी नं. वन' सहित 100 फिल्मों में काम किया है। इसमें से मैंने 20 -25 फिल्मों में एज लुकअलाइक काम किया है। मैं गाना भी गाता हूं और लगभग 35-40 साल से शो ही कर रहा हूं। अब तक देश-विदेश में हजारों शो कर चुका हूं। इस समय 'भाभी जी घर पर हैं' और 'हप्पू की उलटन पलटन' में एज लुकअलाइक कमिश्नर का रोल प्ले कर रहा हूं। 'दिल' के बाद मुझे 'आखिर' में कास्ट किया गया। दरअसल, मैं बांद्रा गया था। वहां डायरेक्टर इंद्र कुमार ने मुझे देखा और फिल्म में आमिर खान का दोस्त बना दिया। इस फिल्म में मैंने कुल 30 से 35 दिन काम किया था। इसके लिए मुझे पेमेंट नहीं मिला। पर ब्रेक मिला, वही बड़ी बात है। इसके तुरंत बाद सलमान खान की फिल्म 'बागी' (1990) मिली। फिर तो एक के बाद एक फिल्मों की लाइन लगती चली गई।

हमारा मकसद, लोग लुकअलाइक के नाम से जानें- आरिफ खान
(अनिल कपूर के हमशक्ल)
मैंने फिल्म 'वो सात दिन' (1983) देखकर अनिल कपूर स्टाइल अपनाया तो लोग मुझे अनिल कपूर कहने लगे। 32 साल पहले अर्गनाइजर ने अकोला में अनिल कपूर नाइट शो रखा। इसमें मैंने अनिल कपूर की परफॉर्मेंस देकर अवॉर्ड जीता। यहां से मेरी गाड़ी चल निकली तो 'राम लखन नाइट' नामक अपना ग्रुप बना लिया। इसमें जैकी श्रॉफ, माधुरी दीक्षित आदि एज लुकअलाइक मिल गए। 50-60 शो करने के बाद साल 1991 में, मैं मुंबई आ गया। यहां सुधीर सिन्हा और दत्ता कोली के सहयोग से दीनानाथ मंगेशकर हॉल में मुझे एज लुकअलाइक परफॉर्म करने का पहला चांस मिला। आज तक मैं देश-विदेश में 3000 शो कर चुका हूं। 50 रुपए से लेकर आज 50 हजार तक लेता हूं। अब तक कई सीरियल और फिल्में भी कर चुका हूं। साल 2018 में मैंने ऑल इंडिया लुक अलाइक एसोसिएशन (आइला) बनाकर बॉलीवुड लुकअलाइक अवॉर्ड शो शुरू किया। इसमें 30 लुकआइलक ने परफॉर्मेंस देकर एक रिकॉर्ड बनाया। अब तक इसमें 400 से अधिक लुकअलाइक मेंबर जुड़ चुके हैं। इसमें न्यू-ओल्ड एक्टर-एक्ट्रेस से लेकर कॉमेडियन, विलेन आदि सभी के लुकअलाइक हैं। मेरी पहली फिल्म 'गंगापुर की गीता', 'आग की शोले', 'पांच परिंदे', 'गरीबों की पुकार' आदि फिल्मों सहित 'हम पांच हैं', 'चमत्कार', 'बूगी बूगी', 'नोंक नोंक कौन है', 'सुपर डांसर-3' आदि जैसे शोज कर चुका हूं। 'द लास्ट एनकाउंटर' और 'फेंकता है साला' फिल्म में, मैं एज राइटर, डायरेक्टर कर रहा हूं। इस फिल्म में बॉलीवुड की सच्चाई होगी। एक प्रोमोशनल सांग सलमान खान की लाइफ पर है। हमारा मकसद है कि मेरे लुकअलाइक भाइयों का नाम हो। लोग हमें डुप्लीकेट के नाम से नहीं, बल्कि लुकअलाइक के नाम से जानें।

लुकअलाइक के संपर्क में आकर ज्यादा शोज किए: दिव्याश्री नंदिता
(दिव्या भारती की हमशक्ल)
मैं एज दिव्या भारती की लुकअलाइक होने के साथ प्रोफेशनल सिंगर और एक्टर भी हूं। जब मैं बहुत छोटी थी तब एक बार कोलकाता में डैडी के सामने चार-पांच लड़के मुझे दिव्या भारती कहकर बुलाने लगे। मेरे डैडी ने उन्हें डांटकर भगा दिया। इसके बाद मुझे उनके बारे में जानने की जिज्ञासा हुई। मैं उनकी फिल्में देखकर उनकी फैन हो गई। जब मैं कमरे में उनका फोटो-पोस्टर लगाती, तब बहुत डांट पड़ती थी। खैर, बतौर सिंगर देश-विदेश में 3000 शो कर चुकी हूं। गोविंदा, चंकी पांडे, आयशा जुल्का आदि स्टार्स के साथ सिंगिंग शो भी कर चुकी हूं। लेकिन इसमें से एज लुकअलाइक लगभग 100 शो किए। दरअसल, जब 2017 में एज लुकअलाइक के संपर्क में आई, तब मैंने बतौर लुकअलाइक शो ज्यादा किए। मुंबई में अगर एज लुकअलाइक शो करती हूं, तो 15 से 20 हजार ही मिलते हैं और मुंबई के बाहर जा कर करती हूं तो 30 हजार के ऊपर लेती हूं। इसके अलावा शो के ऊपर भी निर्भर करता है। अब तक बतौर एक्ट्रेस 'प्यार का रंग', 'आघात', 'एक तू ही नहीं' आदि फिल्मों सहित कुछ एलबम में काम कर चुकी हूं।

एज लुकअलाक गॉड फादर को हर्ट नहीं कर सकता: शांतनु घोष
(सलमान खान के हमशक्ल)
बचपन से मैं सलमान खान का फैन था। उनकी तरह सोशल वर्क करके सोशल मीडिया पर फोटोज पोस्ट करता था। उसे देखकर मेरी लाइफ पर 'बीइंग भाईजान' फिल्म बनी, जो 2014 में रिलीज हुई थी। यहां से मेरे करियर की शुरुआत हुई, अब तक 1000 शो कर चुका हूं। 'इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज' रियलिटी शो से लेकर मैं दुबई जाकर दो साल तक एज लुकअलाइक काम कर चुका हूं। न्यूज चैनल को जब उन्हें सलमान खान की डॉक्यूमेंट्री बनानी होती है, तब वे मुझे ही बुलाते हैं। लोग कभी-कभी चीटिंग करने की कोशिश करते हैं, लेकिन सलमान भाई का फैन होने के नाते ऐसा कुछ करने से सख्त मना कर देता हूं। ऐसा-वैसा कुछ भी करके अपने गॉडफादर को हर्ट नहीं कर सकता। खैर, लॉकडाउन में फोन वीडियो से बर्थडे विश करने से लेकर किसी ब्रांड को प्रोमोट करने तक सब काम करता हूं, तो दो हजार से लेकर 20 हजार तक मिल जाते हैं।

इंडिया के सात CM के लिए इलेक्शन कैंपेन कर चुका हूं: अमन कुमार
(रितिक रोशन के हमशक्ल)
बतौर लुकअलाइक मेरी लाइफ पर डॉक्यूमेंट्री बन चुकी है। इसमें काम किया थी तो लाख-डेढ़ रुपए मिले थे। जयपुर से थोड़ी ट्रेनिंग लेकर 2003 में मुंबई आ गया था। संघर्ष के बाद साल 2004 में रायपुर, छत्तीसगढ़ में एक लुकअलाइक पर शो हुआ, जिसमें अमिताभ, धर्मेंद्र, सनी देओल, सैफ अली खान आदि के साथ मुझे भी एज रितिक रोशन लुकअलाइक मौका मिला। आने-जाने, खाने-ठहरने के अलावा 7 हजार रुपए भी मिले थे। इसके बाद जब से सिलसिला शुरू हुआ, तब से मैं लगभग 500 शो कर चुका हूं। एक शो का लाख रुपए और एड् फिल्म के लिए ढाई लाख रुपए तक भी मिले हैं। 'गुजारिश', 'बद्रीनाथ की दुल्हनिया' सहित काफी इवेंट कर चुका हूं। स्टार की चमक के साथ लुकअलाइक भी चमकता है। साल 2012 के बाद मेरा भी पांच-छह साल बुरा टाइम रहा, इसलिए मैं ट्रैक चेंज करके प्रोडक्शन लाइन में चला गया। अब डायरेक्शन में जाने वाला हूं। अभी दो-चार साल से मैंने कोई इवेंट भी नहीं किया।
खैर, एज लुकअलाइक अब तक इंडिया के सात CM के साथ इलेक्शन कैंपेन कर चुका हूं। इसमें शीला दीक्षित, शिवराज चौहान, रमन सिंह, आरआर पाटिल, अशोक चौहान, कैप्टेन अमेरेंद्र सिंह, भूपेंद्र सिंह आदि हैं। इसमें शो जितना ही पेमेंट मिलता है।

खबरें और भी हैं...