लाल सिंह चड्ढा कल होगी रिलीज:ये फॉरेस्ट गंप की ऑफिशियल रीमेक, 5300 करोड़ कमाकर भी फ्लॉप थी 6 ऑस्कर विनर हॉलीवुड फिल्म

6 महीने पहले

आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्ढा’ 11 अगस्त को रिलीज हो रही है। ये साल 1994 की हॉलीवुड फिल्म ‘फॉरेस्ट गंप’ की ऑफिशियल हिंदी रीमेक है। ये वही फिल्म है जिसने 678 मिलियन डॉलर, यानी 5,300 करोड़ रुपए कमाई की थी और 6 ऑस्कर जीते थे। हालांकि, इन सब उपलब्धियों के बावजूद ये एक फ्लॉप फिल्म रही। इसकी अटपटी कमाई और खर्च के कारण दुनियाभर के ट्रेड एक्सपर्ट ने इसे सक्सेसफुल फेल्योर का टैग दिया।

यहां सबसे बड़ा सवाल ये खड़ा हुआ कि आखिर 55 मिलियन डॉलर के बजट से 10 गुना ज्यादा कमाने पर भी ये फिल्म घाटे में कैसे रही और फ्लॉप क्यों हुई? आइए इसे समझते हैं और ये भी जानते हैं कि आमिर को इस फ्लॉप फिल्म का रीमेक बनाने के लिए क्या मशक्कत करनी पड़ी?

क्यों 10 गुना ज्यादा कमाई के बावजूद घाटे में रही फिल्म, इन पॉइंट्स से समझिए-

दरअसल, ये फिल्म विंस्टन ग्रूम की नॉवेल फॉरेस्ट गंप पर बनाई गई थी। इस फिल्म के स्क्रीनप्ले राइट्स खरीदने के लिए मेकर्स ने विंस्टन को 3.5 लाख डॉलर दिए थे। इसके अलावा विंस्टन ने फिल्म के लिए 3 प्रतिशत प्रॉफिट शेयर की डिमांड की थी। फिल्म जब रिलीज हुई तो डिस्ट्रीब्यूटर पैरामाउंट और फिल्म के प्रोड्यूसर्स ने विंस्टन को ये कहते हुए प्रॉफिट में हिस्सा नहीं दिया कि फिल्म 62 मिलियन डॉलर, यानी 493 करोड़ रुपए घाटे में है। फिल्म को जब 6 ऑस्कर मिले तब भी मेकर्स ने कहीं विंस्टन को क्रेडिट नहीं दिया। इस बात से नाराज होकर विंस्टन ने मेकर्स के खिलाफ लीगल लड़ाई लड़ी, जिससे मेकर्स को उन्हें 1.97 करोड़ रुपए का मुआवजा देना पड़ा था। विवाद बढ़े तो विंस्टन ने फॉरेस्ट गंप की सीक्वल बनाने के नाम पर समझौता कर लिया, लेकिन ये फिल्म कभी बनी ही नहीं।

किन कारणों से घाटे में गई फिल्म?

  • राइटर क्रेडिट लॉसूट और प्रॉफिट हिस्सेदारी से।
  • फिल्म की टीम का फीस लेने की बजाय प्रॉफिट शेयर करने से।
  • डिस्ट्रीब्यूशन एक्सपेंस बढ़ने से।
  • मार्केटिंग, प्रिंट और एडवर्टाइजमेंट में करोड़ों खर्च होने से।

लीड एक्टर टॉम हैंक्स ने भी प्रॉफिट शेयरिंग पर साइन की थी फिल्म

हॉलीवुड एक्टर टॉम हैंक्स ने फिल्म के लिए फीस में इस शर्त पर कटौती की कि उन्हें फिल्म में प्रॉफिट शेयर मिलेंगे। पहले टॉम को नेट से प्रॉफिट मिलने वाला था, लेकिन बाद में उन्होंने ग्रॉस कलेक्शन से प्रॉफिट शेयर की डिमांड की। इस तरह उन्हें इस फिल्म के लिए 62 मिलियन डॉलर, यानी 493 करोड़ रुपए मिले। वहीं फिल्म के डायरेक्टर जेमेकिस ने भी 40 मिलियन डॉलर, यानी 317 करोड़ रुपए लिए।

इस फिल्म को USA और कनाडा के 1595 थिएटर्स में रिलीज किया गया था, जहां पहले ही हफ्ते में फिल्म ने 193 करोड़ रुपए की कमाई की थी। फिल्म का बजट 55 मिलियन डॉलर था, लेकिन शुरुआती दिनों में ही फिल्म की प्रिंट देखने के बाद मोशन पिक्चर के बिजनेस कंसल्टेंट और राइटर जेफरी हिल्टन ने प्रोड्यूसर वेंडी फिनरमैन को फिल्म का मार्केटिंग बजट दोगुना करने की सलाह दी। सलाह मानते हुए फिल्म का बजट तुरंत बढ़ा दिया गया। शुरुआती हफ्तों में ही पैरामाउंट ने USA से फिल्म हटा दी। अब तक फिल्म 300 मिलियन डॉलर कमाई कर उस साल की दूसरी हाईएस्ट ग्रॉसिंग फिल्म (पहली फिल्म लॉयन किंग थी) बन चुकी थी।

ऑस्कर नॉमिनेशन मिलने के बाद दोगुनी हो गई थी फिल्म की कमाई

एकेडमी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेशन मिलने के बाद फिल्म को दोबारा US के 1100 थिएटर में 17 फरवरी 1995 को रिलीज किया गया। इस बार फिल्म ने US, कनाडा में 29 मिलियन डॉलर, यानी 299 करोड़ रुपए की कमाई की। इस फिल्म के कुल 78.5 मिलियन (7.85 करोड़) टिकट बिकी थीं। फिल्म ने वर्ल्डवाइड 5,300 करोड़ रुपए की कुल कमाई की थी।

क्या है फॉरेस्ट गंप की कहानी?

ये फिल्म फॉरेस्ट गंप नाम के एक ऐसे लड़के की कहानी है जिसका आईक्यू आम बच्चों के मुकाबले कम है। मां ने कभी फॉरेस्ट को ये एहसास नहीं होने दिया कि वो बाकी बच्चों से कमतर है। फॉरेस्ट आम बच्चों के स्कूल जाता है जहां उसकी जेनी नाम की लड़की से गहरी दोस्ती होती है। फिजिकली कमजोर होने के बावजूद फॉरेस्ट आर्मी में लेफ्टिनेंट की जान बचाता है, लेकिन अपने सबसे करीबी दोस्त बूबा को खो देता है। बूबा आर्मी ट्रेनिंग के दौरान फॉरेस्ट से श्रिपिंग का बिजनेस करने की इच्छा जाहिर करता है। बूबा की मौत के बाद फॉरेस्ट उसका सपना पूरा करता है और अमीर बन जाता है। फॉरेस्ट मां के पास लौट जाता है, जिन्हें कैंसर है। इस बीच फॉरेस्ट जेनी से मिलकर प्यार का इजहार भी करता है। तीन साल बाद जेनी खत लिखकर फॉरेस्ट को बुलाती है। उसे पता चलता है कि जेनी ने उसके बेटे को जन्म दिया है। दोनों शादी कर लेते हैं, लेकिन एक साल बाद जेनी का एक वायरस से निधन हो जाता है।

कैसे आमिर के हाथ लगी विवादित फिल्म फॉरेस्ट गंप की हिंदी रीमेक?

जाने तू या जाने ना फिल्म के प्रीमियर से जब आमिर खान अपने घर लौटे तो अतुल ने उनकी पसंदीदा फिल्म के बारे में पूछा। जवाब में कही गई कुछ फिल्मों के बीच फॉरेस्ट गंप का नाम भी शामिल था। इसके ठीक 2 हफ्ते बाद ही अतुल फॉरेस्ट गंप की हिंदी रीमेक का स्क्रीनप्ले लेकर आमिर खान के पास पहुंच गए।

फॉरेस्ट गंप की स्क्रिप्ट पढ़े बिना ही आमिर ने कर दिया था इनकार

कॉफी विद करण में पहुंचे आमिर ने बताया कि उन्होंने पहले ये फिल्म करने से साफ इनकार कर दिया। आमिर ने अतुल को जवाब में कहा कि ये एक आइकॉनिक फिल्म है, जिसने कई अवॉर्ड जीते हैं। अब इसे कौन देखेगा। मैंने स्क्रिप्ट पढ़े बिना ही ये कहकर इनकार कर दिया कि इसे बनाना हिमाकत होगी।

दो साल बाद जब स्क्रिप्ट पढ़ी तो 8 राइट्स खरीदने में लगाए 8 साल

आमिर ने बताया कि उन्होंने दो सालों तक फिल्म की कहानी नहीं पढ़ी, लेकिन जब पढ़ी तो उन्हें ये काफी पसंद आई। इस फिल्म के राइट्स खरीदने में मेकर्स को 8 साल लगे, क्योंकि मेकर्स इस आइकॉनिक फिल्म के रीमेक के खिलाफ थे।

करीना नहीं थीं फॉरेस्ट गंप के लिए पहली पसंद

कास्टिंग पर चर्चा करते हुए आमिर ने बताया कि वो फिल्म के लिए एक कम उम्र की न्यूकमर एक्ट्रेस को कास्ट करने वाले थे, क्योंकि फिल्म में 18 साल से लेकर 50 साल की जर्नी और ट्रांसफॉर्मेशन दिखाया जाएगा। कास्टिंग डायरेक्टर ने आमिर को एक लड़की का ऐड दिखाया, जिसे कास्ट किया जाना था। उस वीडियो में करीना कपूर भी थीं। जब आमिर ने करीना को देखा तो उन्होंने न्यूकमर लड़की की जगह करीना को ही कास्ट कर लिया। कई रिपोर्ट्स का मानना है कि वो न्यूकमर मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर हो सकती हैं, जिसके साथ करीना ने ऐड किया था। हालांकि मानुषी ने लाल सिंह चड्ढा रिलीज होने से पहले सम्राट पृथ्वीराज से बॉलीवुड डेब्यू कर लिया।

कामयाब एक्ट्रेस होने के बावजूद करीना को देना पड़ा था स्क्रीन टेस्ट

आमिर खान ने करीना को फाइनल करने से पहले उनका स्क्रीन टेस्ट लिया। ये पहली बार था जब करीना ने अपने करियर में टेस्ट दिया हो। इस टेस्ट को देने के लिए सैफ ने ही करीना को कहा था। टेस्ट के दौरान जैसे ही करीना ने लाइन्स पढ़नी शुरू की तो आमिर और डायरेक्टर अद्वैत चंदन ने कहा कि यही हमारी फिल्म की रूपा होगी। करीना के घर पहुंचते ही आमिर ने उन्हें कॉल कर स्क्रिप्ट पढ़ने की जिद की। करीना दूसरी फिल्म की शूटिंग में बिजी थीं, लेकिन आमिर के कहने पर उन्होंने उसी दिन स्क्रिप्ट पढ़ी।

फिल्म में यंग दिखने के लिए आमिर खान ने घटाए 20 किलो

मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहे जाने वाले आमिर खान ने यंग दिखने के लिए पूरे 20 किलो कम किए थे। फिल्म में उनके बचपन से लेकर बुढ़ापे तक का सफर दिखाया जाएगा। फिल्म के एक्शन सीन शूट करते हुए आमिर को गहरी चोट आई थी, लेकिन उन्होंने शूटिंग रोकने से इनकार कर दिया।

फिल्म को भारत की 100 अलग-अलग लोकेशन पर शूट किया गया है। आमिर के अलावा विजय सेतुपति भी फिल्म में थे, लेकिन बिजी शेड्यूल होने के कारण उन्होंने फिल्म छोड़ दी थी।

सबसे पहले लाल सिंह चड्ढा फिल्म को 25 दिसम्बर 2020 में रिलीज किया जाना था, लेकिन कोविड महामारी के चलते इसे टाल दिया गया। अगली डेट थिएटर खुलने के बाद 24 दिसम्बर 2021 तय हुई, लेकिन कोरोना के बढ़ने से इसे फिर टाला गया। तीसरी डेट 11 फरवरी निर्धारित की गई, लेकिन प्रोडक्शन में आई रुकावट के चलते इसे 14 अप्रैल के लिए शेड्यूल किया गया। आखिरकार अब इस फिल्म को 11 अगस्त को रिलीज किया जा रहा है।

2 अगस्त 2022 को फिल्म को CBFC की तरफ से 'U/A' सर्टिफिकेट मिल गया है। ये फिल्म 2 घंटे 44 मिनट, 50 सेकेंड की है।