खुलासा:क्या होगा बप्पी लहरी के इतने सारे गोल्ड कलेक्शन का? बप्पा ने बताया- दुनियाभर से इकट्ठा किया था सोना

6 महीने पहले

बॉलीवुड के म्यूजिक डायरेक्टर बप्पी लहरी का 15 फरवरी को 69 साल की उम्र में निधन हो गया था। बप्पी को गोल्ड बहुत पसंद था और इसी वजह से उन्हें गोल्ड मैन भी कहा जाता था। अब हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान जब बप्पी के बेटे बप्पा से पूछा गया कि उनके इतने सारे गोल्ड कलेक्शन का क्या होगा? तो इसके जवाब में बप्पा ने कहा कि पापा के लिए सोने के गहने केवल सजावटी चीज नहीं बल्कि उससे बढ़कर थीं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि उनके पिता सोने से आध्यात्मिक तौर पर जुड़े हुए थे।

बप्पी के लिए सोना था बहुत लकी

बप्पा ने अपने पिता के सोने के बारे में बात करते हुए कहा, "सोना डैड के लिए केवल फैशन की चीज नहीं थी, बल्कि वो उनके लिए बहुत लकी थी। वेटिकन सिटी से लेकर हॉलीवुड तक, उन्होंने पूरी दुनिया से सोने के यह गहने और पीस इकट्ठे किए थे। वो कहीं भी अपने लिए पहनने के लिए कुछ न कुछ ढूंढ ही लेते थे और उसे सोने का बनवा लेते थे।"

बप्पी आध्यात्मिक तौर पर सोने से जुड़े हुए थे

बप्पा ने आगे बताया कि उनके पिता बप्पी आध्यात्मिक तौर पर सोने से जुड़े हुए थे। इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, "वो कभी भी गोल्ड के बगैर सफर नहीं करते थे। यहां तक कि अगर सुबह 5 बजे की फ्लाइट हो तब भी वो अपना पूरा गोल्ड पहनकर ही निकलते थे। सोना उनके लिए मंदिर और शक्ति की तरह था। वो आध्यात्मिक तौर पर इससे जुड़े हुए थे।

इसलिए हम इस सारे सोने को सहेजकर रखना चाहते हैं। वो उनकी सबसे चहेती चीज थी। हम चाहते हैं कि लोग उनकी चीजों को देखें, इसलिए शायद हम इन सारी चीजों को म्यूजियम में रख दें। इसके साथ-साथ उनके पास जूतों, चश्मों, हैट्स और घड़ियों का भी बड़ा कलेक्शन था।"

29 दिनों तक हॉस्पिटल में एडमिट थे बप्पी

बप्पी दा 29 दिनों तक जुहू के क्रिटी केयर अस्पताल में भर्ती रहे थे। इसके बाद उन्हें 15 फरवरी को डिस्चार्ज कर दिया गया था। हालांकि, घर पर उनकी तबीयत फिर से बिगड़ गई और उन्हें गंभीर हालत में जुहू के क्रिटी केयर अस्पताल में वापस लाया गया और लगभग रात के 11:45 बजे उनका निधन हो गया था।

खबरें और भी हैं...