एल्विस प्रेस्ली की डेथ एनिवर्सरी:जिनके डांस स्टेप ने किया था शम्मी कपूर को इंस्पायर, पॉपुलर इतने कि मरने के बाद लाश चोरी करने की कोशिश की गई

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

किंग ऑफ रॉक 'एन' रोल कहे जाने वाले एल्विस प्रेस्ली की आज डेथ एनिवर्सरी है। ये वहीं एल्विस प्रेस्ली हैं जिनके कुछ डांस मूव्स को बॉलीवुड के शम्मी कपूर फाॅलो किया करते थे। डांस मूव्स के अलावा उनके गानों की काॅपी भी बाॅलीवुड के गानों में की जाती थी। प्रेस्ली एक एक्टर और सिंगर दोनों थे और अपने बालों को काला करने के लिए शू पॉलिश का इस्तेमाल किया करते थे। प्रेस्ली की पॉपुलैरिटी इतनी थी कि मरने के बाद उनकी लाश तक चोरी करने की कोशिश की गई। उन्हें 3 ग्रैमी अवाॅर्ड और ग्रैमी लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया था।

आज डेथ एनिवर्सरी पर पढ़िए एल्विस प्रेस्ली की कहानी और इनसे जुड़े अनसुने और दिलचस्प किस्से-

13 साल की उम्र में गिटार बजाना और गाना शुरू कर दिया था

प्रेस्ली ने 13 साल की उम्र में गिटार बजाना और गाना शुरू कर दिया था। वो कभी-कभी अपने दोस्तों के साथ स्कूल में भी गिटार बजाते थे। एक बार प्रेस्ली को एक लोकल स्टेशन में गाने का मौका मिला था, पर उन्होंने उस ऑफर को ठुकरा दिया था क्योंकि वो डर गए थे। जब प्रेस्ली 19 साल के थे तब उन्होंने सॉन्गफेलोज नाम के gospel quartet में शामिल होने के लिए ऑडिशन दिया, लेकिन वो रिजेक्ट हो गए। इसके बाद भी प्रेस्ली ने हार नहीं मानी और वो खुद ही गानों को रिकॉर्ड करने लगे।

पहले गाने के लिए मिले थे 4 डाॅलर

प्रेस्ली को अपने पहले गाने के लिए 4 डाॅलर मिले थे जो उन्होंने अपनी मां को गिफ्ट कर दिए थे। 1956 में प्रेस्ली का पहला हिट सॉन्ग 'हार्टब्रेक होटल' रिलीज हुआ। ये प्रेस्ली का पहला ऐसा गाना था जिससे उन्हें 1 मिलियन डॉलर की कमाई हुई थी। हर गाने की तरह ही इस गाने को भी प्रेस्ली ने नहीं लिखा था। उनका पहला बड़ा स्टेज शो 1956 के जून में ‘द मिल्टन बेर्ले शो’ में हुआ, जिसमें उन्होंने सिग्नेचर हिट ‘हाउंड डॉग’ को गाया गया था। अमेरिका में उनके 18 गाने नंबर 1 पर थे। प्रेस्ली ने अपने करियर में 30 फिल्मों में भी काम किया था और 600 गाने गाए थे।

शू पाॅलिश से बालों को करते थे काला

फ्लोरिडा के एक जज ने प्रेस्ली को सैवेज का निक नेम दिया था। जज प्रेस्ली के स्टेज परफॉर्मेंस के दौरान उनके आइकॉनिक डांस स्टेप और बॉडी मूवमेंट के तरीकों से काफी नाराज था। किस्सा ये भी है कि प्रेस्ली अपने बालों को काला करने के लिए शू पॉलिश का यूज करते थे।

1957 में प्रेस्ली ने 1 लाख डाॅलर में एक घर ग्रेस्कलैंड खरीदा था। किस्सा ये है कि जब उन्होंने अपनी पत्नी से तलाक ले लिया था, तब उनको खूबसूरत लड़कियों की तलाश थी। ये अफवाह इतनी फैल गई थी कि एक दिन रात में उनके घर ग्रेस्कलैंड के बाहर 152 लड़कियां उनका इंतजार कर रही थीं।

मां के निधन के पर फैंस ने भेजे थे 1 लाख सिम्पैथी कार्ड

कोल्ड वॉर के दौरान प्रेस्ली को 1958 में यूनाइटेड स्टेट की सेना में शामिल किया गया था, जहां उन्होंने 1960 तक देश सेवा की थी। उस वक्त प्रेस्ली के पास फैंसी कारें थीं, बैंक खाते में 4लाख डाॅलर से अधिक नकद थे, फिर भी वो सब कुछ छोड़कर देश के लिए अपना कर्तव्य निभा रहे थे। इसी दौरान 1958 में हार्ट अटैक के कारण उनकी मां का निधन हो गया, जिसके लिए उनके फैंस ने उन्हें 1 लाख सिम्पैथी कार्ड भेजे थे।

प्रेस्ली को नारकोटिक्स एजेंट के रूप में राष्ट्रपति ने बैज दिया था

1960 के दशक में प्रेस्ली ने ड्रग्स और नशीली दवाइयों का सेवन करना शुरू कर दिया था। जब 1970 में उनकी मुलाकात राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन से हुई, तो उस समय प्रेस्ली ने इतना नशा किया हुआ था कि उन्हें शर्मिंदगी हुई जिस कारण उन्होंने राष्ट्रपति से एक अपमानजनक डिमांड किया। उन्होंने राष्ट्रपति से पूछा कि क्या वह उन्हें नशीले पदार्थों के एजेंट के रूप में बैज प्रदान कर सकते हैं। हालांकि राष्ट्रपति ने उनकी इस डिमांड को पूरा भी किया।

पॉपुलर इतने कि मरने के बाद लाश चोरी करने की कोशिश की गई थी

16 अगस्त 1977 को महज 42 साल की उम्र में प्रेस्ली की मौत हो गई थी। प्रेस्ली का शव उनके बाथरूम के बाथटब में पड़ा मिला था। पोस्टमॉर्टम में बताया गया था कि अधिक नशा करने की वजह से उनकी मौत हुई है। प्रेस्ली के शव को मेम्फिस के फॉरेस्ट हिल कब्रिस्तान में उनकी दिवंगत मां के बगल में दफनाया गया था। हालांकि उनके शरीर के अवशेषों को बाद में ग्रेसलैंड में एक निजी जगह पर शिफ्ट कर दिया गया था क्योंकि उनकी लाश को फिरौती के लिए चोरी करने की कोशिश की गई थी।

बॉलीवुड में प्रेस्ली के गाने भी कॉपी किए गए हैं

प्रेस्ली के लुक्स के अलावा बॉलीवुड में उनके गाने भी कॉपी किए गए हैं। एल्विस की फिल्म 'मार्गरीटा' 1963 में आई थी। इस फिल्म के गाने की काॅपी 1968 में आई फिल्म 'झुक गया आसमान' के 'कौन है जो सपनों में आया' गाने में की गई थी। शशि कपूर के गाने 'आ गले लग जा' को भी प्रेस्ली के गाने 'दि यलो रोज ऑफ टेक्सस' से काॅपी किया गया था।

एल्विस प्रेस्ली के गाने ना केवल अमेरिका में बल्कि यूरोप और एशिया में भी काफी फेमस हैं। पॉपुलर होने के बाद भी प्रेस्ली ने नॉर्थ अमेरिका के बाहर कभी भी लाइव प्रदर्शन नहीं किया।

खबरें और भी हैं...