‘शमशेरा’ में रणबीर का डबल रोल:बाप-बेटे की भूमिका में आएंगे नजर; आदिवासी समुदाय से ताल्‍लुक, चॉकलेटी इमेज टूटेगी

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक
  • संजय दत्‍त का नाम शुद्ध‍ सिंह, आदिवासियों को पांव की जूती समझता है, उनसे गुलामी करवाना प्रिय शगल
  • डायलॉग्‍स के साथ किए गए हैं प्रयोग, किरदार सीधे वाक्‍यों के साथ साथ पोएट्री और तुकबंदी में भी बोलेंगे
  • अंग्रेजों के दफ्तरों में काम करने वाले भारतीय सरकारी अधिकारियों के जुल्‍मों सितम का भी प्‍लॉट फिल्‍म में
  • संजय दत्‍त के गिरोह में महेश बलराज भी, रणबीर कपूर के साथ सौरभ शुक्‍ला भी, ‘बर्फी’ में साथ काम किया था

रणबीर कपूर अपने चाहने वालों को ‘शमशेरा’ में दोगुनी सौगात दे रहें हैं। फिल्‍म से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, रणबीर इसमें डबल रोल में नजर आएंगे। वह आपस में बाप बेटे के रोल में नजर आएंगे। दोनों में फर्क के लिए मेकअप का सहारा लिया गया है। बाप का नाम शमशेरा है। उसकी लंबी जुल्‍फें हैं। उसके लिए रणबीर कपूर ने विग का सहारा लिया है। बेटे बल्‍ली के रोल में उनकी छोटी छोटी जुल्‍फें रखी गई हैं। वह आदिवासी समुदाय से ताल्‍लुक रखने वाले लोग हैं। फिल्‍म में अंग्रेजों के मातहत काम करने वाले इंडियन पुलिस अधिकारियों के जुल्‍म और सितम दिखाए गए हैं।

रणबीर की चॉकलेटी इमेज को ब्रेक होगी
सूत्रों ने कहा, रणबीर ने इसमें हार्डकोर एक्‍शन किया है। उनका स्‍क‍िन टोन भी टैन किया गया है। वो स्‍क्रीन पर जरा सांवले नजर आएंगे। उनका लुक जल्‍द रिवील होने वाला है। उनके माथे पर जो मार्क है, वह भील आदिवासी समुदाय से लिया गया है। माथे पर तीन मार्क उस समुदाय के लोगों पर जन्‍म‍ लेते ही लगा दिया जाता है। मूल रूप से रणबीर की चॉकलेटी इमेज को ब्रेक करने की कोशिश की गई है।

मेजर एक्‍शन सीक्‍वेंस फिल्‍मसिटी शूट हुए हैं
फिल्‍म के मेजर एक्‍शन सीक्‍वेंस मुंबई स्‍थित फिल्‍मसिटी में शूट हुए हैं। लद्दाख में दस दिनों तक गाने शूट किए गए हैं। कमालिस्‍तान स्‍टूडियो में फिल्‍म का क्‍लाइमैक्‍स शूट किया गया। वह दस से ग्‍यारह दिनों तक चला। फिल्‍म में मेजर एक्‍शन 18वीं सदी में मौजूद रहने वाले हथियारों से हुआ है। कमालिस्‍तान स्‍टूडियो में वह एक्‍शन 400 से 500 जूनियर आर्टिस्‍टों के साथ शूट किया गया है। फिल्‍म में घुड़सवारी करते हुए आपसी फाइट बहुत हैं। उसे फिल्‍मसिटी के जोकर मैदान में शूट हुए हैं।

कविताओं और तुकबंदी के फॉर्म में होंगे डायलॉग
संजय दत्‍त इसमें हार्डकोर विलेन के रोल में नजर आएंगे। उनके किरदार का नाम शुद्ध‍ सिंह है। उस किरदार के नाम में शुद्धता है, मगर सोच से वह बड़ा सामंती किस्‍म का है। आदिवासियों से उसे बड़ी चिढ़ और नफरत है। मेकर्स ने उन दिनों का समां क्रिएट करने के लिए डायलॉग में प्रयोग किए हैं। बीच बीच में किरदार कविताओं और तुकबंदी के फॉर्म में बातें करने लगते हैं। जैसा वीर रस की कविताओं में होता है।

फ्रांस्‍वा ग्रोएनवॉल्‍ड ने डिजाइन किए हैं एक्शन सीक्वेंस
कैंसर से ठीक होने पर संजय दत्‍त ने क्‍लोज शॉट वाले सीन फिल्‍माए थे। उनके एक्‍शन सीक्‍वेंस कैंसर की गिरफ्त में आने से पहले फिल्‍माए जा चुके थे। एक्‍शन डिजाइन करने के लिए फ्रांस्‍वा ग्रोएनवॉल्‍ड को भी बोर्ड पर लिया गया। उन्‍होंने ‘ठग्‍स ऑफ हिंदोस्‍तान’का एक्शन डिजाइन किया था। उनकी ख्‍याति मॉन्‍स्‍टर हंट और ‘द ममी’ जैसी फिल्‍म को लेकर भी रही है। संजय दत्‍त के गिरोह में महेश बलराज भी हैं। रणबीर कपूर के साथ सौरभ शुक्‍ला हैं। सौरभ ने रणबीर के साथ ‘बर्फी’ भी की थी। महेश बलराज ने ‘पार्च्‍ड’ में राधिका आप्‍टे के पति के रोल में थे। वेब सीरिज ‘घोल’ में वो मेन विलेन थे।

खबरें और भी हैं...