बाइक रैली / जश्न-ए-आज़ादी पर सड़क सुरक्षा जागरूकता पैदा करने के लिए 20 महिला सुपर बाइकर्स ने 200 सुपर बाइक्स का नेतृत्व किया

इस रैली का उद्देश्य सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को शिक्षित करना था

20 women super bikers lead 200 super bikes to create road safety awareness on Jashn-e-Azadi
20 women super bikers lead 200 super bikes to create road safety awareness on Jashn-e-Azadi
X
20 women super bikers lead 200 super bikes to create road safety awareness on Jashn-e-Azadi
20 women super bikers lead 200 super bikes to create road safety awareness on Jashn-e-Azadi

Aug 20, 2019, 03:28 PM IST

 73 वें राष्ट्रीय स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नेहरू बाल संघ NGO ने तीसरी  जश्न-ए-आज़ादी - द ग्रेट फ़्रीडम राइड ’ का शानदार आयोजन किया। इस शानदार असाधारण आयोजन का मकसद न केवल देश के युवाओं में गर्व की भावना को जगाना था ,बल्कि इस दिन को केवल छुट्टी या अवकाश के रूप में न मना कर सामान्य सड़क सुरक्षा उपायों पर लोगों को शिक्षित करना भी था। 

सूरज की पहली किरण से पहले उठकर ईगल राइडर्स और WIMA की  20 महिला सुपर बाइकर्स ने लोटस टैंपल जा दस्तक दी, जो की बीएमडब्ल्यू, हार्ले डेविडसन, डुकाटी जैसी सुपर बाइक्स पर सवार २०० से अधिक सुपर बाइक्स का नेतृत्व किया। जो हमारे देश के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने पेशेवर स्थानों से ऊपर उठ कर सड़क सुरक्षा जागरूकता संदेश देने के साथ इस विशेष उत्सव को मनाने के लिए शामिल हुए।  

द ग्रेट फ्रीडम राइड की शुरुआत सुरम्य लोटस टेंपल से होते हुए ’रिंग रोड, साउथ एक्सटेंशन, मोती बाग, वसंत विहार, एनएच 8, साइबर हब और एमजी रोड को कवर करते हुए छतरपुर के  होटल बेल-ला मोंडे पहुंची ।

एनबीएस के अध्यक्ष श्री अशोक सहोता का कहना है , “मेरा मानना है कि हमारी स्वतंत्रता का जश्न एक दिन का नहीं होना चाहिए, हमें इसे पूरे साल जिम्मेदारी के साथ मनाना चाहिए। भारत में दिन-प्रतिदिन सड़क दुर्घटनाओं की वजह से होने वाली मौतें बढ़ती जा रही हैं, इस संकट के मद्देनजर  रखते हुए, हमने इस साल फ्रीडम राइड के साथ साथ सुरक्षा नियमों को भी लोगो तक पहुंचना भी एक मुख्य उद्देश्य था।  हम जागरूकता फैलाने के लिए सड़क सुरक्षा पर नारे के साथ स्टिकर भी प्रसारित । मुझे हार्ले डेविडसन समूह के स्वयंसेवकों पर गर्व है, जिन्होंने भारतीय युवाओं के बीच अपनी मशरूफियत की परवाह किए बिना इसे प्रचारित करने का संकल्प लिया है और मुझे आशा है कि लोग खुद की और अन्य की सुरक्षा के लिए अधिक जिम्मेदारी महसूस करेंगे। ”

हर साल की तरह इस साल भी जश्न-ए-आज़ादी - 'द ग्रेट फ़्रीडम राइड' में शिरकत करने वाले वाली 200 से अधिक धूम मचती बाइक्स छतरपुर के होटल बेल-ला मोंडे पहुंची । एक बाइकर के लिए यह गर्व की सवारी है क्योंकि विभिन्न शहरों से आये लहराते भारतीय ध्वज की आकृति के रूप में बाइकर्स एक साथ स्वतंत्रता दिवस मनाते हुए तिरंगे को सलामी दी । बाइक सवारों की फ्लैग होस्टिंग सेरेमनी के बाद रंगा रंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे देशभक्ति से भरी धुनों का लोगो ने खूब आनंद उठाया।

ईगल राइडर्स ग्रुप की महिला बाइकर सुपर्णा सरकार ने कहा, “स्वतंत्रता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और हम इसे तब महसूस करते हैं जब हम  बिना किसी डर के मोटरसाइकिल पर अपने घर से बाहर निकलते हैं। हम केवल दिखाने भर के लिए मोटरसाइकिल सवारी नहीं करते हैं बल्कि अपने मन में सच्ची स्वतंत्रता का अनुभव करने के लिए सवारी करते हैं ,कि हम वह करने के लिए स्वतंत्र हैं जो हमारा दिल चाहता है। एक मोटरसाइकिल प्रशिक्षण प्रशिक्षक के रूप में, मेरा लक्ष्य है कि मैं अधिक से अधिक महिलाओं को एक मोटर साइकिल की सवारी  करता देखूं , ताकि किसी दिन लोग हमें अलग दृष्टि से न देखें, बल्कि हम जो करते हैं उसके लिए सम्मान की दृष्टि से देखें । "

 

बाइक रैली की एक झलक देखें इस विडियो में ।   

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना