नहीं रहे सीरियल 'महाभारत' के इंद्र:74 साल के अभिनेता सतीश कौल का निधन, कोरोना से संक्रमित होने के बाद लुधियाना के अस्पताल में थे भर्ती

8 महीने पहलेलेखक: किरण जैन
  • कॉपी लिंक
सतीश कौल को पंजाबी सिनेमा के अमिताभ बच्चन के नाम से जाना जाता था। - Dainik Bhaskar
सतीश कौल को पंजाबी सिनेमा के अमिताभ बच्चन के नाम से जाना जाता था।

बीआर चोपड़ा के 'महाभारत' में इंद्र देव के किरदार में नजर आए अभिनेता सतीश कौल का निधन हो गया है। वे 74 साल के थे और कोविड-19 से संक्रमित थे। इस बात की पुष्टि कौल की बहन सुषमा ने की। दैनिक भास्कर से बातचीत में उन्होंने कहा, "वे 5 दिन से लुधियाना में थे। उन्हें बुखार आ रहा था। हालांकि, वे पॉजिटिव आने के डर से कोविड टेस्ट नहीं कराना चाहते थे। 3 दिन पहले उनकी कंडीशन खराब हुई तो केयर टेकर ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया। उनका कोविड टेस्ट पॉजिटिव आया था। लेकिन वे बेहतर हाल में थे।

सुबह कहा ठीक हूं, फिर निधन की खबर आ गई
सुषमा ने आगे कहा, "मैंने सुबह ही उनसे बात की थी और उन्होंने कहा था कि वे ठीक हैं। इसके कुछ घंटे बाद अचानक मुझे कॉल आया कि वे नहीं रहे।" कौल कुछ सालों से आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे। रिपोर्ट्स की मानें तो उनके पास दवा और जरूरी सामान खरीदने के भी पैसे नहीं थे। 300 से ज्यादा पंजाबी और हिंदी फिल्मों के अभिनेता रहे सतीश ने पिछले साल कहा था कि लॉकडाउन ने स्थिति और खराब कर दी थी।हालांकि, उन्होंने वृद्धाश्रम में रहने का दावा करने वाली खबरों का खंडन किया था।

जब करीब ढाई साल अस्पताल के बेड पर रहे
सतीश ने टीवी पर 'महाभारत' के अलावा 'विक्रम और बेताल' के साथ-साथ बड़े पर्दे पर 'प्यार तो होना ही था' और 'आंटी नंबर 1' जैसी फिल्मों में काम किया था। बताया जाता है कि मुंबई से पंजाब जाने के बाद 2011 के आसपास सतीश ने एक्टिंग स्कूल खोला था। लेकिन वे इसमें सफल नहीं हुए। सतीश ने एक बातचीत में बताया था, "मैंने बाद में जो भी काम किया, वह 2015 में मेरे कूल्हे की हड्डी टूटने की वजह से प्रभावित हुआ। करीब ढाई साल तक मैं अस्पताल के बिस्तर पर रहा। इसके बाद वृद्धाश्रम चला गया, जहां दो साल तक रहा।"

किराए के घर में रह रहे थे सतीश
सतीश ने पिछले साल कहा था, "मैं लुधियाना में किराए के छोटे से घर में रह रहा हूं। पहले मैं वृद्धाश्रम में था। लेकिन बाद में मैं अपनी सहयोगी सत्या देवी के साथ यहां आ गया। मेरी सेहत ठीक है और अच्छे से रह रहा हूं। लेकिन लॉकडाउन ने हालात बदतर बना दिए हैं।"

खबरें और भी हैं...