इंटरव्यू:सिद्धू की 'द कपिल शर्मा शो' में वापसी से चिंतित नहीं अर्चना, बोलीं-जितना वक्‍त और एपिसोड मेरे लिए ऊपरवाले ने लिखा है, उसे कोई छीन नहीं सकता

मुंबई2 महीने पहलेलेखक: अमित कर्ण
  • कॉपी लिंक

नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को अपने पद से इस्‍तीफा क्‍या दिया, सोशल मीडिया में अर्चना पूरन सिंह पर मीम बनने लगे। कहा जाने लगा कि अर्चना तो चिंता में आ गई होंगी कि 'द कपिल शर्मा शो' से उन्हें रिप्‍लेस कर दिया जाएगा। हालांकि, दैनिक भास्‍कर ने जब अर्चना पूरन सिंह से बात की तो बात कुछ और सामने आई। पेश है उनसे हुई बातचीत के प्रमुख अंश -

Q. आप का कॉमेडी शो जज करने का क्‍या तरीका रहा है ?
A. जजिंग के काम में मैं अपनी सेंसिबिलिटी लाती हूं। जैसे फराह खान जज की कुर्सी पर अपनी एक अलग छाप छोड़ती हैं। रोहित शेट्टी एक सख्‍ती रखते थे। मेरा भी अलग अंदाज है। तभी दस सालों से अलग-अलग शोज में जज रही हूं। वरना लोग तो कहते हैं कि फलां तो जज की कुर्सी पर शायरी भी करते हैं। भई दो लाइनें कोई शायरी कर दे तो वो जज कैसे हो जाएगा? मैं तो एक्‍ट्रेस, एंकर, टीवी होस्‍ट सब रह चुकी हूं, तो मैं शायरी क्‍यूं करूं? हां, शायरी सिद्धू की भी पर्सनालिटी रही है। वह उन्‍हें नैचुरली आती है। उनका रुझान है शायरी, तो वो जब जजिंग पर आते हैं तो वो शायरी लाते हैं। मेरा रुझान मेरी इंग्लिश ऑनर्स है। एनालिसिस करने का आर्ट है तो मैं वो अपनी जजिंग में लाती हूं। मैं बताती हूं कॉमेडी एक्‍ट में क्‍या बि‍गनिंग हो, क्‍या मिडिल पॉइंट और उसका क्‍या रेजॉल्‍यूशन होना चाहिए। वरना पहले कॉमेडी के एक्‍ट अचानक एबरपटली खत्‍म कर दिए जाते थे।

Q. जब आपने नवजोत सिंह सिद्धू को रिप्‍लेस किया था तो आपसे कपिल या मेकर्स ने क्‍या कहा था?
A. एक बार तो यह हुआ था कि सिद्धू पंजाब में बिजी थे। वो नहीं आ सकते थे तो मुझसे जज करने को कहा गया। कपिल शर्मा तो हमारा बच्‍चा सा है। ‘कॉमेडी सर्कस’ के दिन की पहचान और रिश्‍ते को प्‍यार देते हुए उनका ऑफर एक्‍सेप्‍ट किया था। फिर एक साल बाद मुझे फिर बुला लिया गया। उस वक्‍त भी मैंने दो एपिसोड जज किए थे। उस वक्‍त कुछ तो मसला सिद्धु और चैनल का चल रहा था। वह रिजॉल्‍व कर रहे थे। शायद पुलवामा अटैक को लेकर सिद्धु के बयान से विवाद चल रहा था। बहरहाल, मैंने चैनल वालों से साफ कहा कि बॉस कुछ निश्चित तो आपको बताना होगा। फिर फायनली मैंने दो एपिसोड किए, फिर चार हुए और फायनली अब तक हूं।

Q. आप को अब अगर फिर से सिद्धू से रिप्‍लेस किया जाता है तो यह फेयर होगा?
A. क्‍या फेयर या अनफेयर अमित! लोग तो यह भी कहेंगे कि मैंने उनकी कुर्सी ली। मुझे फर्क नहीं पड़ता। जो जितना वक्‍त और एपिसोड मेरे लिए ऊपरवाले ने लिखा है, कुर्सी पर, उसे न आप, न मैं, न कोई पॉलिटिक्‍स या पॉलिटिकल पार्टी नहीं छीन सकती है।

Q. जब 'जॉली एलएलबी 2' अक्षय के साथ बनने को थी तो डायरेक्‍टर सुभाष कपूर के लिए अरशद वारसी को वह बात कहने में बड़ी मुश्‍किल हो रही थी कि अक्षय उन्‍हें रिप्‍लेस करने जा रहे हैं ? यकीनन कपिल के लिए आपसे सिद्धू के संदर्भ में यह बात कहनी मुश्किल होगी ?

A. देखिए, हम चालिस सालों से इस लाइन में हैं। मैं कोंकना सेन शर्मा का पुराना इंटरव्‍यू देख रही थी। वह बता रही थीं कि वो करीना कपूर खान की शुक्रगुजार हूं, जो उन्‍होंने कोई फिल्‍म छोड़ी थी और वह कोंकणा की झोली में आई थी। यानी जो रोल जिसकी किस्‍मत में लिखी है, वह किसी से छीन नहीं सकते। अब दो साल मैंने अगर 'द कपिल शर्मा शो' में निकाल दिए तो मैं इसका मतलब थोड़ी न है कि मैं रिप्‍लेस नहीं हो सकती? यह सरकारी नौकरी तो है नहीं कि साठ सालों तक मुझे कोई निकाल नहीं सकता।

खबरें और भी हैं...